Wed 25 05 2022
Home / Breaking News / स्वास्थ्य विभाग कोरोना से निपटने के लिए तैयारी में किसी प्रकार की कमी नहीं छोड़े
स्वास्थ्य विभाग कोरोना से निपटने के लिए तैयारी में किसी प्रकार की कमी नहीं छोड़े

स्वास्थ्य विभाग कोरोना से निपटने के लिए तैयारी में किसी प्रकार की कमी नहीं छोड़े

जिला संकट प्रबंधन समूह की वर्चुअल बैठक में प्रभारी मंत्री ने दिए निर्देश
शाजापुर। स्वास्थ्य विभाग कोरोना से निपटने के लिए तैयारी में किसी प्रकार की कमी नहीं छोड़े। उक्त निर्देश लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी राज्य मंत्री तथा जिला प्रभारी बृजेन्द्रसिंह यादव ने जिला संकट प्रबंधन समूह की वर्चुअल बैठक में दिए। कोरोना वायरस के नए वेरियेन्ट ओमिक्रान से उत्पन्न तीसरी लहर के खतरे को देखते हुए रखी जाने वाली सतर्कताओं को लेकर जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह की वर्चुअल बैठक आयोजित की गई, जिसमें प्रदेश के लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी राज्य मंत्री तथा जिला प्रभारी यादव, स्कूल शिक्षा स्वतंत्र प्रभार एवं सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री इन्दरसिंह परमार, आदि मौजूद रहे। इस दौरान प्रभारी मंत्री यादव ने कहा कि कोरोना के नए वेरिएंट की घातकता तथा तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग सतर्क रहे। उन्होने सीएमएचओ से कहा कि सबसे ज्यादा जिम्मेदारी स्वास्थ्य विभाग की है। टीकाकरण की गति बढ़ाएं और जिन व्यक्तियों द्वारा कोरोना वैक्सीन का दूसरा डोज नहीं लगाया है उन्हें माह दिसंबर तक दूसरा डोज लगवाना सुनिश्चत करें, टेस्टिंग बढ़ाएं। अस्पताल में ऑक्सीजन लाईन को नियमित रूप से चेक करते रहें। उन्होने कहा कि छोटी सी चूक बड़ी दुर्घटना का कारण बन जाती है अत: किसी भी तरह की कोई कमी नहीं रहने दें। प्रभारी मंत्री ने कलेक्टर दिनेश जैन से कहा कि अस्पतालों का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं को देखें। साथ ही लोगों को कोरोना वायरस के नए वेरिएंट के प्रति जागरूक करने के लिए अभियान चलाएं। उन्होने कहा कि लोगों को स्वयं को बचाने के लिए पुन: मास्क पहनने के लिए प्रेरित करें। वहीं स्कूल शिक्षा राज्यमंत्री परमार ने कहा कि शाजापुर एवं शुजालपुर सहित जिन-जिन स्वास्थ्य केन्द्रों में ऑक्सीजन लाइन लगाई गई वहां टेस्टिंग कर लें। ऑक्सीजन प्लांट से प्रदाय की जा रही ऑक्सीजन के फ्लो की भी टेस्टिंग करें। सभी विद्यालय 50 प्रतिशत विद्यार्थियों की उपस्थिति के साथ विद्यालय संचालित करें। विद्यालय में कोरोना गाईड लाइन का अनिवार्यत: पालन सुनिश्चित कराएं। छात्रावासों में भी छात्र-छात्राओं को मास्क एवं सेनेटाइजर के उपयोग के लिए प्रेरित करें। साथ ही छात्रावासों में भोजन बनाने वाले कर्मचारी भी मास्क एवं सेनेटाइजर का उपयोग करें। बैठक में कलेक्टर ने जिले में कोरोना से बचाव के लिए किए जा रहे उपायों से अवगत कराया। कलेक्टर ने कहा कि वर्तमान में टेस्टिंग के लिए व्यवसायियों, व्यापारियों, सब्जी वालों आदि छोटे-छोटे व्यापार करने वाले समूहों पर फोकस कर टेस्टिंग एवं टीकाकरण कराया जा रहा है। मरीजों के परिजनों को रोकने के लिए रेन बसेरा, रेडक्रास सोसायटी की धर्मशाला को भी तैयार किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*