Fri 20 05 2022
Home / Breaking News / रोजवास टोल पर फिर हंगामा
रोजवास टोल पर फिर हंगामा

रोजवास टोल पर फिर हंगामा

शाजापुर। स्थानीय वाहन चालकों से हमेशा मनमाना टोल वसूली करने के मामले में चर्चित रहने वाले रोजवास टोल प्रबंधन की अनदेखी के कारण हाईवे पर कई जगह अंधेरा पसरा हुआ है और इस कारण बारबार गोवंश हादसे का शिकार हो रही हैं। हाईवे पर अंधेरा होने की वजह से एक बार फिर तेजगति से आ रहे कंटेनर ने 4 गोवंशों को रोंदते हुए मौत के घाट उतार दिया। वहीं घटना में 4 गोवंश घायल हो गईं। इस घटना की जानकारी लगने पर गोरक्षा सेना प्रमुख धर्मेंद्र शर्मा गोरक्षकों के साथ मौके पर पहुंचे और घायल गोवंशों का उपचार कराया। साथ ही टोल प्रबंधन के खिलाफ जमकर प्रदर्शन करते हुए नारेबाजी कर कार्रवाई किए जाने की मांग की। फिलहाल मामले में लालघाटी पुलिस ने कंटेनर चालक के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार गुरुवार रात करीब 9 बजे एचआर 2647 कंटेनर मक्सी से सारंगपुर साइड जा रहा था, तभी भैरव डूंगरी घाट के उतार पर 10-15 गाय मक्सी साइड जा रही थीं, जिन्हे कंटेनर ने टक्कर मार दी। इस घटना में 4 गोवंशों की मौके पर ही मौत हो गई और 4 गोवंश घायल हो गईं। इधर जानकारी मिलने पर घटना स्थल पहुंचे गौरक्षा सेना के सदस्यों ने टोल प्रबंधन की व्यवस्था को लेकर टोल रोड पर हंगामा कर दिया। गौरक्षा सेना का कहना है कि शाजापुर से निकलने वाले टोल रोड पर टोल प्रबंधन की लापरवाही से कई गायों की जान जा चुकी है। भैरव डूंगरी घाट पर स्ट्रीट लाइट नही होने से कई बार घाट पर हादसे हो चुके हैं और टोल प्रबंधन के पास हादसे में मरने वाले पशुओं को दफन करने के लिए कोई उचित संसाधन भी नही है। वर्तमान में टोल प्रबंधन के पास एक मात्र 1033 वाहन है जो देवास से शाजापुर तक पेट्रोलिंग करता है। ऐसे में कोई हादसा होता है तो पीडि़त को सुविधा के लिए घण्टों इंतजार करना पड़ता है।
स्थानीय वाहन चालकों से वसूली जा रही मनमानी राशि
उल्लेखनीय है कि रोजवास टोल नाका शुरूआती दौर से स्थानीय वाहन चालकों से मनमाना टोल वसूली करने के मामले में चर्चित है और इसको लेकर कई बार प्रदर्शन भी हो चुके हैं, लेकिन टोल प्रबंधन द्वारा टैक्स में किसी तरह की रियायत नही दी गई है। यही कारण है कि शाजापुर और मक्सी के वाहन चालकों से भी टोल पर फास्ट टैग पर 120 रुपए तथा बिना फास्ट टैग के 240 रुपए वसूल किए जा रहे हैं। टोल प्रबंधन की इस लापरवाही के खिलाफ भी गोरक्षा सेना ने आंदोलन की चेतावनी दी है। गौरतलब है कि रोजवास टोल नाके से शाजापुर की दूरी मात्र 18 किलोमीटर होने के बाद भी नगर के व्यापारियों और आमजन से टोल के नाम पर प्रबंधन द्वारा मोटी रकम वसूली जा रही है, जिसके चलते पूर्व में भी गौरक्षा सेना द्वारा टोल टैक्स पर कई बार व्यवस्था को लेकर टोल प्रबंधन को सचेत किया गया, किंतु अब तक टोल प्रबंधन द्वारा समस्या हल नही की गई। इसीके साथ ही हाईवे पर जगह-जगह अंधेरा होने की वजह से गोवंश हादसों का शिकार हो रही हैं, परंतु टोल प्रबंधन के कानों पर जूं नही रेंगी है। गौरक्षा सेना के प्रमुख धर्मोंद्र शर्मा ने कहा है कि यदि टोल प्रबंधन अपनी घटिया व्यवस्था में सुधार नही लाता है और नगरवासियों को टोल टैक्स में छूट नही देता है तो जल्द ही टोल टैक्स का घेराव किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*