Tue 24 05 2022
Home / Breaking News / अवैध रुपयों की मांग किए जाने का मामला आया सामने
अवैध रुपयों की मांग किए जाने का मामला आया सामने

अवैध रुपयों की मांग किए जाने का मामला आया सामने

परेशान कर्मचारियों ने उज्जैन मंडल में की शिकायत

शाजापुर। ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग के वरिष्ठ अधिकारी के द्वारा अपने ही अधीनस्थों से एरियर राशि स्वीकृत करने के नाम पर अवैध रुपयों की मांग किए जाने का मामला सामने आया है। परेशान कर्मचारियों ने विभाग के कार्यपालन यंत्री की उज्जैन ग्रामीण यांत्रिकी मंडल में अधीक्षण यंत्री से शिकायत कर कार्रवाई किए जाने की मांग की है। शाजापुर ग्रामीण यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन यंत्री बाथम लक्ष्मी लालसा की लोलुपता के चलते अपने ही विभाग के कर्मचारियों को परेशान करने पर अडिंग हैं। यही कारण है कि कार्यपालन यंत्री द्वारा अवैध रुपया नही मिलने पर अपने ही विभाग के कर्मचारियों की एरियर राशि का भुगतान नही किया जा रहा है। जबकि विभाग के एक कर्मचारी द्वारा कार्यपालन यंत्री को उनकी इच्छानुरूप चढ़ावा चढ़ाया गया है जिसके चलते उक्त एक मात्र कर्मचारी को एरियर राशि का भुगतान कर दिया गया है, जबकि रिश्वत का रुपया नही देने वाले करीब दो दर्जन से अधिक कर्मचारियों की एरियर की राशि भुगतान संबंधित फाइल पर कार्यपालन यंत्री के द्वारा हस्ताक्षर नही किए गए हैं। विभाग के परेशान कर्मचारियों ने ग्रामीण यांत्रिकी मंडल उज्जैन के अधीक्षण यंत्री को कार्यपालन की लिखित में शिकायत कर कार्रवार्ई की मांग की है। कर्मचारियों ने उज्जैन मंडल में दिए गए शिकायती आवेदन में बताया है कि वेतन वृद्धि के एरियर राशि की प्रथम किश्त माह नवंबर 2021 में की जानी थी, लेकिन कार्यपालन यंत्री बाथम के द्वारा एरियर राशि भुगतान करने के एवज में रिश्वत की मांग की जा रही है। शिकायती आवेदन में बताया कि कार्यपालन यंत्री का कहना है कि वे एरियर राशि का भुगतान नही करेंगे।
एक कर्मचारी पर दिखाई मेहरबानी
उल्लेखनीय है कि ग्रामीण यंत्रिकी सेवा विभाग शाजापुर के कर्मचारियों को वेतन वृद्धि एरियर राशि का भुगतान नवंबर 2021 में किया जाना था जिसको लेकर समस्त कर्मचारियों की फाइल कार्यपालन यंत्री के समक्ष प्रस्तुत कर दी गई थी, लेकिन विभाग के कार्यपालन यंत्री बाथम के द्वारा उक्त फाइल पर रिश्वत नही मिलने से भुगतान को लेकर हस्ताक्षर नही कि जा रहे हैं। जबकि कार्यपालन यंत्री बाथम ने विभाग के एक कर्मचारी पर अपनी मेहरबानी दिखाई है और यही कारण है कि सिर्फ उक्त कर्मचारी की ही फाइल पर हस्ताक्षर किए गए हैं।
इनका कहना है
इस संबंध में जब कार्यपालन यंत्री बाथम से उनके मोबाईल नंबर 9340216440 पर कई बार संपर्क करना चाहा, लेकिन उन्होने फोन रिसीव नही किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*