Tue 28 06 2022
Home / Breaking News / कोई भी नागरिक अपने अधिकारों से वंचित न रहे-जिला न्यायाधीश
कोई भी नागरिक अपने अधिकारों से वंचित न रहे-जिला न्यायाधीश

कोई भी नागरिक अपने अधिकारों से वंचित न रहे-जिला न्यायाधीश

जिला मुख्यालय पर विधिक साक्षरता, जनजागरूकता शिविर एवं रैली का हुआ आयोजन
शाजापुर। कोई भी नागरिक अपने अधिकारों से वंचित नहीं रहे। यह बात शनिवार को जिला न्यायाधीश एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अध्यक्ष सुरेन्द्रकुमार श्रीवास्तव ने जिला मुख्यालय के शासकीय उत्कृष्ट उमावि में आयाजित विधिक साक्षरता एवं जनजागरूकता शिविर को संबोधित करते हुए कही। शिविर में अतिथि के रूप में कलेक्टर दिनेश जैन, पुलिस अधीक्षक पंकज श्रीवास्तव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव एवं अपर जिला न्यायाधीश राजेन्द्र देवड़ा, भाजपा जिलाध्यक्ष अम्बाराम कराड़ा, अभिभाषक संघ उपाध्यक्ष करणसिंह गुर्जर भी मौजूद रहे। कार्यक्रम के बाद शहर में जन जागरूकता रैली निकाली गई। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिला न्यायाधीश श्रीवास्तव ने कहा कि अशिक्षा के कारण कुछ लोगों को कानून की जानकारी नहीं होने से उन्हे कानून का लाभ नहीं मिल पाता है। उन्होने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को न्याय मिले और वह अपने अधिकारों से वंचित नही रहे इसके लिए विधिक सेवा प्राधिकरण का गठन किया गया है। विधिक सेवा प्राधिकरण के माध्यम से जिन्हे कानूनी सहायता की आवश्यकता होती है, उन्हे सहायता उपलब्ध कराई जाती है। विधिक जागरूकता के लिए दूर-दराज के ग्रामों में जागरूकता शिविरों का आयोजन कर लोगों को कानून एवं उनके अधिकारों की जानकारी दी जा रही है। उन्होने कहा कि सभी व्यक्ति अपने कत्र्तव्यों का भी पालन करें, क्योंकि कत्र्तव्यों का पालन करने से अधिकार अपने आप प्राप्त होने लगते हैं। सभी व्यक्ति पर्यावरण को स्वच्छ रखने और उसे बचाने के लिए अपनी जवाबदारी का निर्वहन करें।
इस मौके पर कलेक्टर जैन ने कहा कि भारत में संविधान सर्वोपरी है। बिना किसी भेदभाव के सबकों समान रूप से न्याय प्राप्त हो इसकी व्यवस्था संविधान द्वारा की गई है। कानून सबके लिए समान है। न्यायपालिका के प्रति सम्मान किसी भी देश की सफलता के लिए जरूरी है। नागरिकों को कानून की जानकारी देने के लिए जागरूकता शिविर आयोजित हो रहे हैं, इसका उद्देश्य समाज के अंतिम व्यक्ति को भी विधि की जानकारी हो। उन्होने कहा कि सामाजिक न्याय को समझना भी आवश्यक है। पुलिस अधीक्षक श्रीवास्तव ने कहा कि महात्मा गांधी के सत्य और अहिंसा के सिद्धांत आज भी दुनिया में प्रासंगिक हैं। उन्होने कहा कि आमतौर पर लोग कानून की व्याख्या अपने अनुसार करना चाहते हैं, जबकि कानून क्या कहता है इस बारे में नहीं सोचते। उन्होने कहा कि सभी लोगों को कानून की जानकारी होना चाहिए। कानून का लाभ जरूतमंद को मिलना चाहिए। जिलाध्यक्ष कराड़ा ने कहा कि भारत की सांस्कृतिक धरोहर की दुनिया में अपनी पहचान है। गांधी जयंती पर हमे भौतिक अस्वच्छता को समाप्त करने के साथ ही मानसिक अस्वच्छता को दूर करना चाहिए। हमारे देश को विश्व का सर्वोत्तम संविधान मिला है। हमारे संविधान के अनुसार न्याय प्रक्रिया को सर्वोच्च स्थान प्राप्त है। उन्होने पर्यावरण संरक्षण के बारे में कहा कि पर्यावरण बचाने में सरकार का ही नहीं हम सब भी समान दायित्व है। सभी लोग अपने दायित्वों का ईमानदारी के साथ निर्वहन करें। हमारे देश में प्रकृति की पूजा की जाती है। सभी लोग प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत के संकल्प को पूरा करने में सहभागी बने। इसके पूर्व जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव एवं अपर जिला न्यायाधीश राजेन्द्र देवड़ा ने स्वागत उद्बोधन देते हुए शिविर के उद्देश्यों पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर अतिरिक्त न्यायाधीश जसवीर कौर सासन, अतिरिक्त न्यायाधीश एवं सेशन जज मनोज कुमार शर्मा, प्रवीण शिवहरे, बृजेश गोयल, सुश्री उर्वसी यादव, अनिल कुमार नामदेव, सिविल जज आशीष परसाई, शर्मिला बिलावर, हर्षिता सिंगार, प्रिंसी अग्रवाल, नीरज अग्रवाल, रूपम तोमर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक टीएस बघेल, अनुविभागीय अधिकारी शैली कनाश, एसडीओपी दीपा डोडवे, तहसीलदार राजाराम करजरे, महिला एवं बाल विकास सहायक संचालक नीलम चौहान सहित अधिवक्ता एवं आमजन मौजूद थे।
नशा नहीं करने की दिलाई शपथ
इस मौके पर जिला न्यायाधीश श्रीवास्तव ने सभी अतिथियों एवं प्रतिभागियों को नशा नही करने की शपथ दिलवाई। सभी ने दाहिना हाथ आगे कर जीवन में कभी नशा नहीं करने और इस पुनीत संकल्प को समाज के समस्त क्षेत्रों में प्रसारित करने, सामाजिक बुराई को जड़ से उन्मुलन करने के लिए हर संभव प्रयास करने की शपथ ली।
जन जागरूकता रैली निकाली
लोगों में विधिक साक्षरता के प्रति जागरूकता पैदा करने के उद्देश्य से शिविर के उपरान्त शहर में रैली निकाली गई। रैली को जिला न्यायाधीश श्रीवास्तव, कलेक्टर जैन, पुलिस अधीक्षक श्रीवास्तव एवं जिलाध्यक्ष कराड़ा ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। रैली प्रमुख मार्गों से होते हुए पुन: स्कूल परिसर पहुंचकर संपन्न हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*