Wed 29 06 2022
Home / Breaking News / मरीज के परिजनों पर अस्पताल के गार्डों ने भांजी लाठियां, अस्पताल ने बनाई जांच कमेटी
मरीज के परिजनों पर अस्पताल के गार्डों ने भांजी लाठियां, अस्पताल ने बनाई जांच कमेटी

मरीज के परिजनों पर अस्पताल के गार्डों ने भांजी लाठियां, अस्पताल ने बनाई जांच कमेटी

शाजापुर। लापरवाही और मरीजों के साथ बदसलूकी के मामले में चर्चित रहने वाले जिला अस्पताल के सुरक्षा गार्ड भी अब गुंडागर्दी करने पर उतारू हो गए हैं। सुरक्षा व्यवस्था के लिए तैनात किए गए गार्डों के द्वारा प्रवेश पास के नाम पर आए दिन मरीजों के परिजनों के साथ अभद्रता की जा रही है। वहीं महिला और पुरूष गार्ड ने सारी मर्यादाओं को दरकिनार करते हुए मरीज के परिजनों पर प्रवेश लाठी से हमला कर दिया। मामले में अस्पताल प्रबंधन जांच कर कार्रवाई करने की बात कह रहा है। मक्सी निवासी देवनारायण पाटीदार अपने परिवार की महिला को प्रसव हेतु गुरुवार को जिला अस्पताल लेकर आए थे। इस दौरान महिला गार्ड ने पास नही होने की बात कहते हुए देवनारायण को रोक दिया और अभद्रता करने लगी। जब इस बात का देवनारायण ने विरोध किया तो महिला गार्ड और एक अन्य पुरूष गार्ड गाली-गलौच करते हुए मारपीट पर उतारू हो गए। विवाद इतना बड़ा की गार्ड ने मरीज के परिजनों पर लाठियां बरसाना शुरू कर दी और यह घटनाक्रम अस्पताल में लगे सीसीटीवी कैमरे में केद हो गया। पीडि़त परिवार के देवनारायण पाटीदार का कहना है कि उनके पास प्रवेश पत्र था, लेकिन बावजूद इसके गार्ड के द्वारा अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया गया जिसका विरोध करने पर उन्होने मारपीट की।
बढ़ती जा रही गार्डों की गुंडागर्दी
प्रबंधन के निष्क्रिय रवैये के कारण जिला अस्पताल में सुरक्षा गार्डों की गुंडागर्दी दिनों-दिन बढ़ती ही जा रही है। गतदिनों भी दुर्घटना में घायल के इलाज के दौरान गार्ड द्वारा अस्पताल में मौजूद एक युवक के साथ धक्का-मुक्की की गई थी। वहीं अस्पताल पहुंचने वाले मरीजों के परिजनों पर हर दिन गार्ड रोब झाड़ते दिखाई दे रहे हैं। अस्पताल प्रबंधन द्वारा उक्त गार्डों पर कठोर कार्रवाई नही किए जाने से इनके हौंसले बुलंद हो चले हैं और वे अब मरीजों के परिजनों पर लाठियां भांजने से भी बाज नही आ रहे हैं। यदि सुरक्षा गार्डों को अनुशासन का प्रबंधन द्वारा समय रहते पाठ नही पढ़ाया गया तो अस्पताल में किसी दिन बड़ा विवाद खड़ा हो जाएगा।
इनका कहना है
महिला गार्ड द्वारा मरीजों के परिजनों के साथ मारपीट करने की बात सामने आई है, जिसको लेकर जांच कमेटी बनाई गई है। सिविल सर्जन को भी घटनाक्रम से अवगत कराया जा चुका है। जांच उपरांत संबंधित गार्ड के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।
-डॉ.सचिन नायक, आरएमओ जिला अस्पताल शाजापुर।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*