Wed 25 05 2022
Home / Breaking News / कोरोना के चलते नही होंगे पांच दिवसीय सामूहिक आयोजन
कोरोना के चलते नही होंगे पांच दिवसीय सामूहिक आयोजन

कोरोना के चलते नही होंगे पांच दिवसीय सामूहिक आयोजन

शाजापुर। रंगों का त्यौहार होली आज 29 मार्च से शुरू हो जाएगा और शहर में रंगों की बारिश होगी। हालांकि इस वर्ष कोरोना संक्रमण के चलते लोगों को कोविड गाइड लाइन का पालन करते हुए घरों पर ही होली खेलने की हिदायत दी गई है, जिसके चलते प्रतिवर्ष होने वाले पांच दिवसीय सामूहिक आयोजन भी होली उत्सव समिति द्वारा निरस्त कर दिए गए हैं। उल्लेखनीय है कि प्रतिवर्ष शहर में होली पर्व पर रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं, लेकिन इस वर्ष भी कोरोना महामारी के प्रकोप कारण समिति द्वारा प्रतिदिन आजाद चौक में होने वाले कार्यक्रमों को निरस्त किया गया है। गौरतलब है कि रंगों का त्यौहार होली रविवार शाम से होलिका पूजन के साथ ही शुरू हो गया और आज सोमवार को धुलेंडी से लोग एक-दूसरे को रंग लगाकर खुशियां बाटेंगे। रंगों के पर्व को लेकर खासकर बच्चों में अधिक उत्साह है, यही कारण है कि होली पर्व के एक दिन पूर्व बच्चों ने बाजार पहुंचकर अपनी पसंद की पिचकारियां खरीदी। साथ ही गुलाल की भी जमकर खरीदी की गई। शाम के समय महिलाओं ने होली के डांडे की परिक्रमा कर पूजा-अर्चना की और इसके बाद सुबह के समय उसका विधि-विधान के साथ दहन किया गया।
खुब बिकीं पिचकारियां
बच्चों को सबसे प्रिय लगने वाले होली के त्यौहार के लिए बाजार में पिचकारी और विभिन्न तरीके के गुब्बारों की जमकर खरीदी की गई। इस साल भी बाजार में 5 रुपए से लेकर 950 रुपए तक की पिचकारी मौजूद रही। साथ ही बच्चों के लिए मोदी, योगी, गिटार, मिसाईल लांचर, टेंडा, टेडी, टैंक, प्रेशर पंप सहित अन्य प्रकार की पिचकारी भी बाजार में उपलब्ध थीं। पिचकारी व्यापारी गप्पू दा ने बताया कि इस बार प्रेशर पंप, टैंक और योगी, मोदी पिचकारी की खासी मांग रही।
सर्व हिंदू उत्सव समिति ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों को किया स्थगित
सर्व हिंदू उत्सव समिति ने रविवार को दोपहर 12 बजे स्थानीय श्रीकृष्ण व्यायामशाला स्थित परिसर में प्रशासन की पहल पर नए गाइडलाइंस और कोरोना दिशा निर्देशों के सामने आने के बाद एक बैठक आयोजित कर आगामी होली के बड़े भीड़ वाले सांस्कृतिक कार्यक्रमों को स्थगित कर दिया। हिंदू उत्सव समिति के प्रवक्ता उमेश टेलर ने बताया कि सर्व हिंदू उत्सव समिति के अध्यक्ष दिलीप भंवर की अध्यक्षता में श्रीकृष्ण व्यायामशाला परिसर में आयोजित बैठक में समिति के सचिव तुलसीराम भावसार, उपाध्यक्ष रामचंद्र भावसार, संवरक्षक प्रदीप चंद्रवंशी सहित एसडीएम साहेबलाल सोलंकी, एसडीओपी दीपा डोडवे, होली उत्सव समिति के अध्यक्ष गोविंद कसेरा शामिल हुए। बैठक निर्णय लिया गया कि इस वर्ष कोरोना के चलते सुंदरकांड, स्थानीय कलाकारों द्वारा आयोजित एक शाम शहीदों के नाम, खाटू श्याम की भजन संध्या, अखिल भारतीय हास्य कवि सम्मेलन आयोजित नही किए जाएंगे।
प्रतीक स्वरूप में करें परंपरा का निर्वहन
हिंदू उत्सव समिति के अध्यक्ष दिलीप भंवर एवं सचिव तुलसीराम भावसार ने समस्त नगरवासियों से अपील की है कि वह प्रशासन के निर्देशानुसार मेरी होली मेरे घर अभियान में सहभागिता करते हुए प्रतीकात्मक स्वरूप में ही होली की परंपरा का निर्वहन करें। कोरोना गाइडलाइंस का पालन करते हुए मास्क लगाकर ही घर से निकलें और सूखे रंगों से ही तिलक होली खेलकर इस वर्ष परंपरा निभाएं। उन्होने बताया कि नगर में जिस प्रकार से कोरोना वायरस अपने पैर पसार रहा है और नित नए केस आते जा रहे हैं वह हम सबके लिए चिंता का विषय है जिसे ध्यान में रहते हुए हम अपने लोगों को खतरे में नहीं डाल सकते। आपकी हमारी सब की सुरक्षा के लिए यह जरूरी है कि शासन के निर्देशानुसार अधिक भीड़भाड़ वाले स्थानों पर जाने से खुद को बचाएं। भंवर एवं भावसार ने शहरवासियों को होली की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि होलिका पूजन दहन व अन्य सभी पारंपरिक कार्यक्रम, सांस्कृतिक कार्यक्रम को छोडक़र यथा समय तय स्थान पर कोरोना गाइडलाइंस का पालन करते हुए पूरे उत्साह उमंग ओर खुशी के साथ मनाए जाएंगे। इस अवसर पर गोपाल राजपूत, स्वामी सोनी, आशीष नागर, सत्या वात्रे, रूपकिशोर राठौर, विनोद उड़ी जैन, धर्मेंद्र प्रजापत, प्रेम यादव, कल्ली चंदेल, चिनेश जैन, संजय सोनी सहित कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*