Fri 20 05 2022
Home / Breaking News / बस स्टैंड निर्माण में विलंब से व्यापारियों में रोष, 4 माह बाद भी नहीं हो सका निर्माण प्रारंभ
बस स्टैंड निर्माण में विलंब से व्यापारियों में रोष, 4 माह बाद भी नहीं हो सका निर्माण प्रारंभ

बस स्टैंड निर्माण में विलंब से व्यापारियों में रोष, 4 माह बाद भी नहीं हो सका निर्माण प्रारंभ

शाजापुर। स्थानीय बस स्टैंड बिल्डिंग की दुकानें व्यापारियों द्वारा खाली करने और बिल्डिंग तोड़े जाने के 4 माह बीत जाने पर भी नवीन स्टैंड का निर्माण कार्य प्रारंभ नहीं हो सका है, जिसको लेकर स्थानीय व्यापारियों में रोष व्याप्त है। जिम्मेदारों की उदासीनता के चलते अधर में पड़े कार्य को लेकर व्यापारियों ने आंदोलन की तैयारियां शुरू कर दी है। उल्लेखनीय है कि नगरपालिका प्रशासन द्वारा ताबड़तोड़ नोटिस जारी कर युद्ध स्तर पर बस स्टैंड परिसर जर्जर भवन घोषित करते हुए जनहानि के अंदेशे को लेकर व्यापारियों से खाली कराया गया था। साथ ही व्यापारियों के साथ नगर पालिका प्रशासन द्वारा 18 माह में दुकान बनाकर देने का वायदा एक हजार के स्टांप पर अनुबंध नोटरी संपादित कर किया गया था। जिस कालावधि में से 4 माह बीत चुके हैं, लेकिन आज दिनांक तक बस स्टैंड मैदान के रूप में जस का तस पड़ा हुआ है और निर्माण प्रारंभ नहीं हो सका है जिसे लेकर व्यापारियों में रोष देखा जा रहा है। व्यापारियों का कहना है कि यदि जल्द ही निर्माण कार्य शुरू नही हुआ तो आंदोलन किया जाएगा।
व्यापारियों को हो रही परेशानी
गौरतलब है कि जिन व्यापारियों ने दुकान के एवज में नपा से दुकान मांगी थी उन्हें नगर पालिका प्रशासन ने उपलब्ध दुकानों के आधार पर वैकल्पिक रूप से दुकानें प्रदान की थी, किंतु कई दुकानदारों को दूसरी मंजिल पर दुकानें आवंटित होने से उनका स्थापित व्यापार व्यवसाय वहां नहीं चल पा रहा है, जिससे व्यापारियों के समक्ष आर्थिक तंगी के हालात पैदा हो गए हैं। बस स्टैंड कांप्लेक्स में करीब 38 दुकानदारों सहित अन्य छोटा-मोटा व्यवसाय करने वाले 10-12 फुटकर व्यापारियों, कामगारों सहित कुल 50 दुकानदारों और इनसे जुड़े लगभग 150 परिवारों का गुजर बसर होता था, जिनमें से कुछ ने नए स्थान पर अपना व्यवसाय प्रारंभ कर दिया है तो कई अब भी बेरोजगारी का संकट झेल रहे हैं या आर्थिक तंगी का शिकार हैं। व्यापारी अशोक कलथिया नाना ने बताया कि पहले वह आराम से हजार पांच सौ रुपए रोज कमा लेता था, परंतु अब नए स्थान पर कभी-कभी तो बोनी भी नहीं होती है, कड़ी धूप में जीवन दूभर हो गया है। साथ ही वैकल्पिक दुकान  बिल्डिंग में ऊपर मिली है वहां व्यापार चलता नहीं तो सडक़ पर गुमटी लगा कर गुजर-बसर कर रहे हैं। जल्द से जल्द निर्माण कार्य प्रारंभ हो जिससे हमें दुकान मिल सके। वहीं एक अन्य व्यवसायी जितेंद्र भावसार ने बताया कि उसकी नाश्ता प्वाइंट होटल का व्यवसाय था, लेकिन दुकान ऊपर मिलने से होटल व्यवसाय पूरी तरह बंद हो गया है। ऊपर की दुकान नहीं चली तो नगरपालिका को किराया नहीं भर पाने के कारण लौटा दी और अब रिश्तेदार की दुकान के बाहर खड़े होकर टी स्टाल चलाकर अपना और परिवार का भरण पोषण कर रहा हूं। आर्थिक रूप से परेशानी हो रही है और बच्चों की पढ़ाई की फीस भरने में भी समस्या उत्पन्न हो रही है। जल्दी से जल्दी निर्माण कार्य प्रारंभ कर दुकानें पुन: लौटाई जाएं ताकि हम अपना व्यापार व्यवसाय स्थापित कर सकें।
इनका कहना है
जल्द से जल्द निर्माण कार्य प्रारंभ हो इस हेतु ठेकेदार सहित अन्य अधिकारियों से चर्चा की जाएगी और शीघ्र ही निर्माण कार्य प्रारंभ करवाया जाएगा।
-अरुण भीमावद, पूर्व विधायक एवं अध्यक्ष व्यवसायी संघ।
कार्य प्रारंभ क्यों नही किया, जानकारी लेता हंू
अभी तक कार्य प्रारंभ क्यों नहीं किया गया है इस बारे में मुख्य नगरपालिका अधिकारी से जानकारी लेता हूं। ठेकेदार को नोटिस दिया जाएगा और शीघ्र कार्य प्रारंभ करने हेतु निर्देशित किया जाएगा।
-दिनेश जैन, कलेक्टर एवं प्रशासक नगर पालिका प्रशासन।
फाईल दिखवाता हूं
मैं फाईल दिखवाता हूं और मेरी एक बार ही ठेकेदार से चर्चा हुई है। हमने कार्य आदेश प्रदान कर दिया है। ठेकेदार को कार्य प्रारंभ कर देना चाहिए।
-राकेशसिंह चौहान, मुख्य नगरपालिका अधिकारी, शाजापुर।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*