Wed 29 06 2022
Home / Breaking News / ग्राम बोलाई में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित कर बताए बाल विवाह के दुष्परिणाम
ग्राम बोलाई में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित कर बताए बाल विवाह के दुष्परिणाम

ग्राम बोलाई में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित कर बताए बाल विवाह के दुष्परिणाम

शाजापुर। चाईल्ड लाइन टीम द्वारा दोस्ती सप्ताह के तीसरे दिन मंगलवार को महिला बाल विकास एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सहयोग से ग्राम बोलाई में जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में गांव के बच्चों और ग्रामीणों को चाईल्ड लाइन से दोस्ती का महत्व बताया गया। साथ ही कहा गया कि बच्चे जिस प्रकार अपने दोस्तों से अपनी परेशानियां साझा करते हैं, उसी प्रकार वे चाईल्ड लाइन को भी अपने दोस्त की तरह समझते हुए अपनी परेशानियां नि:शुल्क नंबर 1098 पर बता सकते हैं। साथ ही चाईल्ड लाइन टीम द्वारा ग्रामीणों को बच्चों को पढ़ाने के लिए प्रेरित करते हुए बाल विवाह रोकथाम में सहयोग बनने के लिए कहा गया। टीम सदस्यों ने कहा कि यदि आसपास कहीं पर भी बाल विवाह होता है तो तत्काल इसकी जानकारी हेल्पलाईन नंबर 1098 पर दें, जिससे बच्चे का भविष्य खराब होने से बचाया जा सके। साथ ही टीम द्वारा बताया गया कि बाल विवाह, भिक्षावृत्ति, बालश्रम की जानकारी देने वाले नागरिकों की पहचान गुप्त रखी जाती है। इसलिए नि:संकोच होकर फोन करें। सेन्टर को आर्डिनेटर देवेन्द्र गोठी ने बताया कि ग्राम बोलाई के प्रसिद्ध हनुमान मंदिर पर भिक्षावृत्ति रोकने के लिए टीम द्वारा शिक्षक विनोद परमार की सहायता से लगातार प्रयास किया जा रहा है। इस दौरान टीम द्वारा कई बार परिसर की विजिट की गई और भिक्षावृत्ति करते हुए पाए जाने वाले बच्चों व उनके परिजनों की काउंसलिंग की गई, जिसके परिणाम स्वरूप अब बच्चे मंदिर परिसर में भिक्षावृत्ति करने नहीं आते हैं।  अभियान में चाईल्ड लाइन टीम की सहायता करने पर शिक्षक परमार एवं यादव को सम्मानित भी किया गया। इस अवसर पर सीमा शर्मा सहित ग्रामीण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*