Wed 25 05 2022
Home / Breaking News / राष्ट्रीय युवा दिवस पर बीकेएसएन महाविद्यालय में दो दिवसीय पुस्तक प्रदर्शनी आयोजित
राष्ट्रीय युवा दिवस पर बीकेएसएन महाविद्यालय में दो दिवसीय पुस्तक प्रदर्शनी आयोजित

राष्ट्रीय युवा दिवस पर बीकेएसएन महाविद्यालय में दो दिवसीय पुस्तक प्रदर्शनी आयोजित

शाजापुर। शासकीय स्नातकोत्तर बीकेएसएन महाविद्यालय में राष्ट्रीय युवा दिवस के उपलक्ष्य में दो दिवसीय पुस्तक प्रदर्शनी की शुरूआत की गई। पुस्तक प्रदर्शनी का उद्घाटन महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. आरकेएस राठौर ने किया। कार्यक्रम की शुरूआत मां सरस्वती के चित्र एवं स्वामी विवेकानंद के चित्र पर माल्यार्पण तथ दीप प्रज्जवलित कर की गई। इस दौरान पुस्तकालय विज्ञान के जनक पद्मश्री डॉ. एसआर रंगनाथम की तस्वीर का अनावरण भी किया गया। प्रदर्शनी धार्मिक, खेल, संदर्भ, स्वतंत्रता संग्राम, भारतीय संविधान, आत्मकथाएं एवं जीवनी विषयों पर प्रदर्शित की गई। इस मौके पर प्राचार्य डॉ. राठौर ने कहा कि प्रदर्शनी का महाविद्यालय के छात्र लाभ उठा सकेंगे, पुस्तकें हमारा मार्गदर्शक होती हंै। वहीं ग्रंथपाल नवह आलम अंसारी ने कहा कि पुस्तक प्रदर्शनी का उद्देश्य छात्रों में रिडिंग हेबिट्स को डेवलप करना है। पुस्तकालय समिति संयोजक प्रो. मीनू गिडवानी ने कहा पुस्तकें विद्यार्थियों की मित्र एवं मार्गदर्शक होती हैं, जिससे विद्यार्थी इन्हें पढक़र अपने जीवन में सर्वांगीण विकास कर लाभान्वित होते हंै। इस अवसर पर डॉ. एसके तिवारी, एनएसएस प्रभारी डॉ. दुष्यंत यादव, रूसा प्रभारी डॉ. निलेश महाजन, विभागाध्यक्ष, समस्त कर्मचारी एवं छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।
हर्षोल्लास के साथ मनाया युवा दिवस
राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई ने बुधवार को बीकेएसएन कालेज में युवा दिवस हर्षोल्लास के साथ मनाया। इस दौरान अतिथि के रूप में राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम अधिकारी प्रो. दुष्यंत कुमार यादव, इकाई दलनायक महेन्द्र वर्मा मौजूद रहे। अध्यक्षता महाविद्यालय प्राचार्य डॉ. आरकेएस राठौर ने की। राष्ट्रीय सेवा योजना का लक्ष्यगीत निकिता, दिव्या एवं पायल के द्वारा प्रस्तुत किया गया। राष्ट्रीय युवा दिवस के उपलक्ष्य में सबसे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के भाषण का लाईव प्रसारण ऑनलाईन माध्यम से सुना गया। इसके बाद महाविद्यालय में ‘स्वामी विवेकानंद के विचार एवं राष्ट्र निर्माण में उनका योगदान’ विषय पर व्याख्यान का आयोजन किया गया, जिसमें मुख्य वक्ता के रूप में राजनीति विज्ञान के प्रो. नारायण चौधरी ने स्वामी विवेकानंद की जीवन शैली और राष्ट्र के प्रति उनके समर्पण के बारे में छात्रों को मार्गदर्शन दिया। वहीं दूसरे वक्ता प्रो. रजत राठौर ने स्वामी विवेकानंद के विचारों का महत्व बताया। अध्यक्षता कर रहे महाविद्यालय प्राचार्य राठौर ने स्वामी विवेकानंद के जीवन पर प्रकाश डालते हुए स्वयं सेवकों को उनसे प्रेरणा लेने के लिए प्रेरित किया। संचालन स्वयंसेवक अनिल पंवार ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*