Wed 25 05 2022
Home / Breaking News / भारतीय मजदूर संघ के बैनरतले विभिन्न विभागों के कर्मचारियों ने सौंपा ज्ञापन
भारतीय मजदूर संघ के बैनरतले विभिन्न विभागों के कर्मचारियों ने सौंपा ज्ञापन

भारतीय मजदूर संघ के बैनरतले विभिन्न विभागों के कर्मचारियों ने सौंपा ज्ञापन

शाजापुर। भारतीय मजदूर संघ के बैनरतले विभिन्न विभागों के कर्मचारियों ने कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। मंगलवार को कर्मचारी बिजली कंपनी कार्यालय गेट के समीप जमा हुए और यहां से रैली के रूप में कलेक्टर कार्यालय पहुंचे और ज्ञापन सौंपा। सौंपे गए ज्ञापन में मांग की गई कि मध्यप्रदेश सरकार के अधीन कार्यरत समस्त विभागों, निगम, मण्डल एवं कंपनी के संविदा कर्मचारियों को नियमित किया जाए, समस्त विभागों में 5 जून 2018 की शासन की नीति के अनुसार संविदाकर्मियों को नियमित पद के समकक्ष 90 प्रतिशत वेतन का लाभ प्रदान किया जाए, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिकाओं को शासकीय कर्मचारी घोषित किया जाए, महिला बाल विकास विभाग द्वारा चलाए जा रहे पोषण ट्रेकर एप की विसंगतियों को दूर कर प्रशिक्षण दिया जाए, प्रदेश में कार्यरत सभी आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिकाओं को अतिरिक्त मानदेय के रुपये 1500 रुपए का भुगतान किया जाए और अक्टूबर 2018 से बंद की गई रुपये 1500 प्रतिमाह बकाया राशि एरियर का भुगतान किया जाए, प्रदेश में कार्यरत समस्त आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिकाओं के लिए अप्रैल 2018 में मुख्यमंत्री द्वारा की गई घोषणा अनुसार एक्सग्रेशिया राशि का भुगतान, सभी सेवानिवृत्त बहनों को किया जाए, आशा कार्यकर्ताओं को प्रतिमाह न्यूनतम रुपए 10000 का भुगतान किया जाए और कोरोनाकाल का विशेष भत्ता दिया जाए, मध्यान्ह भोजन में संलग्न रसोइयों को न्यूनतम 10000 रुपए पारिश्रमिक का प्रतिमाह एक निश्चित समय पर भुगतान किया जाए, सभी विभागों में कार्यरत अधिकारी, कर्मचारियों की पदोन्नति की जाए, प्रदेश में कार्यरत समस्त श्रेणी के कर्मचारियों के वेतन से की जा रही वृत्तिकर की कटौती बंद की जाए, सभी विभागों में अनुकंपा नियुक्ति में सरलीकरण कर नियुक्ति पदों पर नियुक्तियां प्रदान की जाए तथा जिन्हें संविदा आधार पर नियुक्तियां प्रदान की गई है उन्हें भी नियमित किया जाए, सभी विभागों में नई पेंशन योजना 2004 के स्थान पर पुरानी पेंशन योजना लागू की जाए, प्रदेश में कार्यरत समस्त विभागों में केंद्र के समान महंगाई भत्ता एवं गृह भाड़ा भत्ता प्रदान किया जाए। ज्ञापन देते समय बड़ी संख्या में कर्मचारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*