Sat 14 05 2022
Home / Breaking News / प्रतिदिन फंस रहे वाहन, किसानों ने दी आंदोलन की चेतावनी
प्रतिदिन फंस रहे वाहन, किसानों ने दी आंदोलन की चेतावनी

प्रतिदिन फंस रहे वाहन, किसानों ने दी आंदोलन की चेतावनी

शाजापुर। लखमनखेड़ी भरड़ पुलिया बायपास किनारे जिम्मेदारों द्वारा सर्विस रोड नही बनाए जाने से वाहन चालकों के साथ ही किसानों को भी भारी असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। कई बार विरोध जताने के बाद भी विभाग के जिम्मेदार अधिकारी इस समस्या को लेकर गंभीरता दिखाते नजर नही आ रहे हैं जिससे अब किसानों में आक्रोश व्याप्त होने लगा है। उल्लेखनीय है कि शहर से निकले बायपास पर कई स्थानों पर जिम्मेदारों द्वारा सर्विस रोड को कच्चा ही छोड़ दिया गया है, जिसकी वजह से बारिश के कारण सर्विस रोड पर दलदल बन गया है और उसमें वाहन धंसने लगे हैं। बायपास पर पिलियाखाल के समीप 71 नंबर पर सर्विस रोड के कच्चा होने से आसपास के किसानों को भारी कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है। किसानों का कहना है कि सर्विस रोड स्वीकृत होने के बाद भी जिम्मेदारों ने उसे पक्का नही किया है, जिसकी वजह से छोटे-बड़े वाहन रोड पर फंस रहे हैं और खेत तक पहुंचने में भी भारी असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। किसानों का कहना है कि उन्होने निर्माण एजेंसी के जिम्मेदारों के साथ ही एनएच 52 के अधिकारियों से भी शिकायत की है, लेकिन उन्होने अब तक समस्या का समाधान करने के लिए कोई ठोंस कार्रवाई नही की है। किसानों का कहना है कि यदि समस्या का शीघ्र ही समाधान नही किया गया तो आने वाले दिनों में आंदोलन किया जाएगा जिसकी जिम्मेदारी हाईवे के जिम्मेदारों की रहेगी।
पल्ला झाड़ रहे जिम्मेदार, किसानों में आक्रोश
बायपास पर कई स्थानों पर सर्विस रोड कच्चा पड़ा हुआ है जिससे किसानों को भारी मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है। वहीं इस पूरे मामल में अनुबंध का हवाला देते हुए हाईवे के जिम्मेदार अपने कर्तव्यों को पल्ला झाड़ते हुए नजर आ रहे हैं। किसानों ने बताया कि उन्होने नेशनल हाईवे के जिम्मेदारों से फोन पर चर्चा की थी, जिस पर अधिकारियों का कहना था कि जितना अनुबंध हुआ है उतना ही निर्माण किया गया है। हर जगह सर्विस रोड पक्का हो यह मुमकिन नही है। इसीके साथ बायपास पर स्ट्रीट लाईटें भी नही लगाई गई है, जिसकी वजह से भरड़ पुलिया के नीचे वाले ऐरिया में दुर्घटना का अंदेशा बना रहता है, क्योंकि पुलिया के नीचे नाला बहता है। किसानों का कहना है कि अब वे हाईवे के जिम्मेदारों का पुतला फूंकेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*