Fri 03 12 2021
Home / Breaking News / बिना ऋण लिए सुनेरा सोसायटी ने बना दिया कर्जदार, किसान ने की शिकायत
बिना ऋण लिए सुनेरा सोसायटी ने बना दिया कर्जदार, किसान ने की शिकायत

बिना ऋण लिए सुनेरा सोसायटी ने बना दिया कर्जदार, किसान ने की शिकायत

शाजापुर। किसानों के साथ छलावा करने के मामले में हमेशा चर्चित रहने वाली ग्राम सुनेरा की प्राथमिक सोसायटी ने एक बार फिर से किसानों को बिना ऋण लिए ही कर्जदार बना दिया है और अब खाद देने के लिए फर्जी राशि भुगतान के लिए किसानों पर दबाव बनाया जा रहा है। सोसायटी की इस मनमानी की जांच को लेकर किसान ने उप पंजीयक सहकारी संस्थाएं शाजापुर को शिकायती आवेदन सौंपकर दोषियों पर कड़ी कार्र्रवाई किए जाने की मांग की है। शुक्रवार को ग्राम सुनेरा के कृषक भेरूसिंह पिता धुलजी धाकड़ ने उप पंजीयक सहकारी संस्था शाजापुर में शिकायती आवेदन सौंपकर बताया कि उसका प्राथमिक कृषि सहकारी संस्था सुनेरा सोसायटी में खाता है, जहां के जिम्मेदारों ने बिना ऋण लिए ही उसके खाते में खाद की फर्जी राशि 7455 रुपए चढ़ाकर कर्जदार बना दिया है। किसान ने बताया कि खरीफ फसल की बोवनी का वक्त नजदीक आ गया है ऐसे में खाद की जरूरत है। सोसायटी का कहना है कि जब तक कर्ज की राशि जमा नही की जाएगी तब तक खाद नही दिया जाएगा। किसान ने आवेदन में बताया कि उसने खाद की आवश्यकता को देखते हुए सोसायटी को फर्जी राशि 7455 रुपए जमा कर दिए हैं, जिसकी जांच करार्ई जाए और राशि दोबारा दिलाकर दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जाए।
गतवर्ष भी फर्जीवाड़े को लेकर हुआ था हंगामा
गौरतलब है कि प्राथमिक कृषि सहकारी संस्था सुनेरा पर वर्ष 2020 में भी फर्जी ढंग से किसानों को कर्जदार किए जाने के आरोप लगे थे, जिसको लेकर सोसायटी के जिम्मेदारों पर कड़ी कार्रवाई की मांग को लेकर 20 नवंबर को किसानों ने सोसायटी परिसर में धरना प्रदर्र्शन किया था। वहीं अब नये वर्ष में फिर सोसायटी के जिम्मेदारों ने किसानों को डिफाल्टर बनाने के लिए फर्जी राशि चढ़ा दी है। सुनेरा के किसान भेरूसिंह ने बताया कि 03 जून 2020 को उसने सोसायटी से 9616 रुपए का खाद लिया था और 50,000 रुपए 06 जुलाई 2020 को बैंक से लिए थे, इसके बाद उसने बैंक से कोई लेनदेन नही किया। बावजूद इसके उसके खाते में खाद की इस वर्ष 7 हजार 455 रुपए की फर्जी राशि चढ़ा दी गई है। फर्जीवाड़ा करने वालों पर कार्रवाई किए जाने की मांग किसान ने की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*