Mon 21 09 2020
Home / Shajapur News / सोसायटी संचालिका पर राशन कम दिए जाने का आरोप
सोसायटी संचालिका पर राशन कम दिए जाने का आरोप

सोसायटी संचालिका पर राशन कम दिए जाने का आरोप

शाजापुर। प्रदेश सरकार ने कोरोना संक्रमण के चलते हितग्राहियों को तीन-तीन माह का राशन वितरण करने के निर्देश दिए थे, लेकिन ग्रामीण अंचलों में संचालित सोसायटी के जिम्मेदारों ने जरूरतमंदों के हक पर डाका डालते हुए राशन का वितरण नही किया। इतना ही नही प्रतिमाह गरीबों के हिस्से का राशन भी सोसायटी के संचालक डकार रहे हैं। संचालकों की इसी मनमानी से परेशान ग्राम आक्या चौहानी के ग्रामीणों ने कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर न्याय की गुहार लगाई है। जिला मुख्यालय से करीब 12 किमी दूर बसे गांव आक्या चौहानी के ग्रामीण मंगलवार को शाजापुर कलेक्टर कार्यालय पहुंचे और सोसायटी संचालक के खिलाफ शिकायती आवेदन सौंपा। दिए गए आवेदन में ग्रामीणों ने बताया कि आक्या चौहानी सोसायटी से समय पर राशन का वितरण नही किया जा रहा है। ना तो समय पर सोसायटी खुलती और ना ही हितग्राही को संपूर्ण राशन दिया जा रहा है। ग्रामीणों का आरोप है कि उन्हे 35 किलो की जगह केवल 4 किलो राशन दिया जा रहा है और जब इस बात का विरोध करते हैं तो सोसायटी की संचालिका पवित्राबाई पति रमेशदास  अभद्रता करती हैं। ग्रामीणों ने मामले की जांच कर संचालिका के विरूद्ध कार्रवाई किए जाने और समय पर राशन दिलाए जाने की मांग की है।
राशन वितरण में जमकर घोटाला
उल्लेखनीय है कि कोरोना काल में कुछ उचित मूल्य की दुकान और सोसायटी संचालकों ने जमकर चांदी कूटने का काम किया है, और यही कारण है कि सोसायटी पर आए गरीबों के राशन में जमकर घोटाला किया गया है। घोटाले का ऐसा ही एक मामला ग्राम आक्या चौहानी की सोसायटी पर किया जाना प्रकाश में आया है, जहां संचालिका द्वारा गरीबों के हिस्से का राशन उन्हे वितरित नही किया गया है। संचालिका की मनमानी से परेशान ग्रामीणों ने जिला प्रशासन से शिकायत की है। ग्रामीणों का आरोप है कि संचालिका द्वारा उन्हे तीन माह की जगह 2 माह का अधूरा राशन दिया गया है। ग्रामीणों का कहना है कि 35 किलो राशन सोसायटी से दिया जाना था, लेकिन संचालिका ने महज 4 किलो के हिसाब से राशन वितरित किया। संचालिका कम राशन देने के साथ ही प्रत्येक माह के राशन वितरण में भी देरी करती है जिसकी वजह से गांव के लोगों को सोसायटी के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं। फिलहाल मामले में व्यवस्था के सुधार हेतु कार्रवाई किए जाने की मांग की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*