Fri 10 07 2020
Home / Breaking News / शांति समिति की बैठक संपन्न
शांति समिति की बैठक संपन्न

शांति समिति की बैठक संपन्न

     शाजापुर,  अयोध्या प्रकरण में सुप्रीम कोर्ट के संभावित फैसले को दृष्टिगत रखते हुए आज जिला प्रशासन द्वारा शांति समिति की बैठक आयोजित की गई थी, जिसमें सभी समुदाय के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। कलेक्टर डॉ. वीरेन्द्र िंसह रावत ने सभी से अपील की कि संभावित फैसले से जिले के नागरिकों पर किसी भी प्रकार का प्रभाव नहीं पड़ेगा। सभी नागरिक शांति एवं सद्भाव के साथ फैसले को स्वीकार करेंगे। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक श्री पंकज श्रीवास्तव, शुजालपुर अनुविभागीय अधिकारी श्री विवेक कुमार, अपर कलेक्टर श्रीमती मंजूषा विक्रांत राय, डिप्टी कलेक्टर श्री वीपी सिंह एवं श्रीमती जूही गुप्ता, एसडीओपी श्री ए.के. उपाध्याय सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी और शांति समिति के सदस्यगण उपस्थित थे।
कलेक्टर डॉ. रावत ने सभी सदस्यों से कहा कि वे नागरिको के बीच में शांति एवं सद्भाव कायम रखने में सहयोगी बने। आने वाले निर्णय से जिले के नागरिको पर कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं पड़ेगा। उन्होंने कहा कि समिति सदस्यों द्वारा दिये गये सुझाव एवं संदेशो पर विचार किया जायेगा। उन्होंने कहा कि सभी नागरिक प्रशासन द्वारा भारतीय दण्ड विधान की धारा 144 के तहत लगाए गए प्रतिबंधों का पालन करेंगे। उन्होंने बताया कि सोशल मीडिया पर निगरानी रखी जा रही है। कोई भी व्यक्ति आपत्तिजनक संदेशों या फोटो-वीडियो को फारवर्ड या प्रसारित न करें। अनजान व्यक्तियों को किराये से मकान नहीं दें। होटल धर्मशाला या लॉज के संचालक बिना पहचान के किसी भी व्यक्ति को ठहरने की अनुमति न दें। उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार के जुलूस या रैली अनुमति लेने के बाद ही निकाले। जुलूसों में सभी प्रकार के हथियारों के प्रदर्शन पर प्रतिबंध लगाया गया है। कोई भी व्यक्ति प्रतिबंधों का उल्लंघन नहीं करे। साथ ही उन्होंने बताया कि नगरीय क्षेत्रों में हाल ही में राज्य शासन द्वारा शासकीय संपत्तियों पर पोस्टर्स के प्रदर्शन पर प्रतिबंध लगाया गया है। बिना अनुमति किसी भी प्रकार के पोस्टर नहीं लगाए जा सकते हैं। साथ ही मध्यप्रदेश संपत्ति विरूपण अधिनियम का भी पालन नागरिकगण करें।
इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक श्री श्रीवास्तव ने कहा कि सोशल मीडिया सहित अन्य संचार के माध्यमों का उपयोग लोगां के बीच शांति एवं सद्भाव के प्रसार के लिए किया जाना चाहिये। उन्होंने कहा कि अशांति फैलाने या गैर कानूनी कार्य करने वाले असामाजिक तत्वों के विरूद्ध सख्ती के साथ कार्यवाही होगी। जिला प्रशासन हर परिस्थितियों से निपटने के लिए तैयार है। प्रतिबंधात्मक आदेशों का पालन सभी नागरिक करें। धरना, प्रदर्शन, जुलूस या रैली बिना अनुमति के नहीं निकालें। जो भी व्यक्ति जुलूस या रैली का आयोजन करेगा उसे अनुमति प्राप्त करने के साथ ही शपथ-पत्र भी देना होगा। बिना अनुमति के जुलूस, धरना या रैली निकालने पर सख्त कार्यवाही होगी। माहोल बिगाड़ने की कोशिश करने वालो एवं उन्हे मदद करने वालों को भी चिन्हित किया जायेगा। बाण्डओवर किये गये व्यक्ति किसी भी प्रकार की अपराधिक गतिविधियों से दूर रहें अन्यथा उन्हे जेल भेजने की कार्यवाही की जायेगी।
इस अवसर पर श्री मनीष सोनी एवं अन्य ने कंस वधोत्सव, गुरूनानक जयंती, देवउठनी ग्यारस आदि त्यौहारो की जानकारी दी। वही काजी श्री एहसानउल्लाह, पूर्व पार्षद श्री रफीक आदि ने मिलाद-उन-नबी के जुलूस एवं अगले दिन होने वाले मुशायरे की जानकारी दी। काजी श्री एहसानउल्लाह ने कहा कि अयोध्या प्रकरण में आने वाला फैसला राष्ट्र से जुड़ा मसला है। हम सब राष्ट्र प्रेमी है। जो भी निर्णय आयेगा, हम सबके लिए मान्य होगा। पूर्व विधायक श्री पुरूषोत्तम चन्द्रवंशी ने अफवाहों से सावधान रहने और अफवाह फैलने से रोकने का अनुरोध किया। इस अवसर पर अन्य सदस्यों द्वारा भी संबोधित किया गया।
शांति समिति में सदस्य के रूप में मुख्य रूप से नगर पालिका उपाध्यक्ष श्री मनोहर विश्वकर्मा, पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष श्री प्रदीप चन्द्रवंशी, पार्षद श्री मूसा खान व श्री राजेश पारछे श्री आशुतोष शर्मा, श्री सचिन पाटीदार, श्री रामू सर्राफ, श्री संतोष जोशी, श्री साजिद अली वारसी, अधीक्षण यंत्री श्री आबिद शेख, सीएमओ श्री भूपेन्द्र दीक्षित सहित शांति समिति के अन्य सदस्यगण मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*