Mon 29 11 2021
Home / Breaking News / SBI शाख में गोल्ड लोन के नाम पर करोड़ों रुपए का घोटला, नकली सोना लौटा रहे बैंक
SBI शाख में गोल्ड लोन के नाम पर करोड़ों रुपए का घोटला, नकली सोना लौटा रहे बैंक

SBI शाख में गोल्ड लोन के नाम पर करोड़ों रुपए का घोटला, नकली सोना लौटा रहे बैंक

ग्राहकों को नकली सोना लौटा रहे बैंक, थाने पर हुई धोखाधड़ी की शिकायत
शाजापुर। शहर की भारतीय स्टेट बैंक की तीन शाखाओं में गोल्ड लोन के नाम पर एक बड़ा घोटाला सामने आया है, जिसमें बैंकों में असली के नाम पर नकली सोना रखकर करोड़ों रुपए का खेल खेला गया है। इस पूरे मामले में बैंककर्मचारियों के साथ ही वेल्यूअर की भूमिका भी संदिग्ध नजर आ रही है। मामला सामने आने के बाद से बैंक वेल्यूअर शाखा प्रबंधकों का मोबाइल नहीं उठा रहा है और वह गायब बताया जा रहा है। वहीं तीनों बैंकों में गोल्ड लोन की बैंक स्तर पर जांच की जा रही है। प्रारंभिक जांच में तीनों बैंकों में करीबन दो करोड़ से ज्यादा का नकली सोना गोल्ड लोन के नाम पर असली बनाकर रखने जाने की बात सामने आ रही है। गौरतलब है कि शहर की भारतीय स्टेट बैंक शाखाओं में वेल्यूअर और बैंक स्टॉफ की मिलीभगत से गोल्ड लोन के नाम पर जमकर धोखाधड़ी का खेल खेला गया है और इस पूरे मामले में बैंक वेल्यूअर और बैंक स्टॉफ की कार्यशैली संदेहास्पद नजर आ रही है। बैंक में गोल्ड लोन के नाम पर हुई धोखाधड़ी उजागर होने पर ग्राहक बैंक पहुंचकर अपनी रकम मांग रहे हैं, लेकिन उन्हे बैंक द्वारा कोई ओर ही रकम थमाने का प्रयास किया जा रहा है, जिससे परेशान होकर ग्राहक विजय राठौर ने कोतवाली थाने में शिकायती आवेदन देकर कार्रवाई किए जाने की मांग की है। विजय का कहना है कि उसने 266 ग्राम सोना वर्ष 2018 में भारतीय स्टेट बैंक में गिरवी रखकर लोन लिया था। दीपावली पर्व पर पूजन के लिए आभूषणों की जरूरत होने पर उसने ब्याज सहित गिरवी रखे सोने की रकम 7 लाख 40 हजार रुपए जमा कर दी, किंतु बैंक उसे किसी अन्य के जेवर थमाने का प्रयास कर रही है। साथ ही जेवर नही लेने पर शाखा प्रबंधक द्वारा जालसाजी के प्रकरण में फंसाने की धमकी दी जा रही है। विजय ने बुधवार को थाने पर दिए शिकायती आवेदन में बताया कि बैंक द्वारा अपने वेल्यूर श्री लक्ष्मी ज्वेलर्स कसेरा बाजार से सत्यापन कराने के बाद ही उसका सोना गिरवी रखकर लोन दिया था, लेकिन अब बैंक के अधिकारी रुपया जमा करने के बाद भी गिरवी रखे गए आभूषण देने की बजाय किसी ओर के नकली आभूषण थमा रहे हैं। साथ ही झूठे प्रकरण में फंसाने की धमकी दे रहे हैं। दूसरे ग्राहक नवीनसिंह निवासी बोलाई का कहना है कि उसने भी स्टेट बैंक में करीब दो सौ ग्राम सोना रखकर 15 लाख रुपए का ऋण लिया था। बैंक द्वारा सोने का अपने वेल्यूअर से सत्यापन कराने के बाद ऋण स्वीकृत किया गया था, किंतु अब बैंक द्वारा सोने का नकली बताकर रुपयों की मांग की जा रही है। नवीन का कहना है कि उसनेे जो सोना बैंक में रखा था वह उसे लौटाया जाए, इसके बाद वह रुपया जमा करेगा।
बैंक स्टॉफ की भूमिका संदेहास्पद
ग्राहक नवीनसिंह और विजय राठौर का कहना है कि उनके सोने का बैंक के द्वारा अपने वेल्यूअर से सत्यापन कराया गया था और सोना असली होने के बाद ही ऋण स्वीकृत किया गया था, लेकिन अब बीच में बैंक उक्त सोने का नकली बता रही है। ग्राहकों का आरोप है कि उन्होने जो सोना बैंक में गिरवी रखा था वह बैंक स्टॉफ द्वारा नही लौटाते हुए अन्य सोना लौटाया जा रहा है। इधर सूत्रों की मानें तो बैंक में पांच लाख रुपये से ज्यादा के गोल्ड लोन पर दो वेल्यूअर सोने का मूल्यांकन करते हैं, परंतु यहां बैंक प्रबंधन ने एक वेल्यूअर से ही सोने का वेल्यूएशन करवा लिया। अब बैंक प्रबंधन के पास भी इन बातों का कोई जवाब नहीं है।


तीन शाखाओं में हुआ घोटाला
शाजापुर शहर में भारतीय स्टेट बैंक की तीन शाखाएं हैं जिसमें एबी रोड स्थित मुख्य शाखा, चौक बाजार में चौक बाजार शाखा एवं टंकी चौराहे पर मगरिया शाखा स्थित है। इन तीनों ही बैंकों का एक ही वेल्यूअर था, यही वेल्यूअर बैंक में गोल्ड लोन के समय तस्दीक कर रिपोर्ट देता था कि सोना कितने कैरेट का है और इसी रिपोर्ट के आधार पर बैंक ग्राहकों को लोन देती है। बताया जा रहा है कि फिलहाल वेल्यूअर गायब है और अधिकारियों के पास इसको लेकर कोई जवाब नही है।


इनका कहना है
भारतीय स्टेट बैंक शाखा में गोल्ड लोन के नाम पर धोखाधड़ी करने की शिकायत मिली है, जिसकी जांच की जा रही है। जांच उपरांत नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।
-रविता चौधरी, एसआई थाना कोतवाली शाजापुर।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*