Sat 08 08 2020
Home / Breaking News / दुपाड़ा के पूर्व सरपंच सचिन पाटीदार के विरूद्ध धारा-40 एवं 92 के तहत कार्रवाई आदेश

दुपाड़ा के पूर्व सरपंच सचिन पाटीदार के विरूद्ध धारा-40 एवं 92 के तहत कार्रवाई आदेश

     शाजापुर, 12 दिसम्बर 2019/ न्यायालय कलेक्टर में चले अपील के एक प्रकरण में कलेक्टर डाॅ. वीरेन्द्र सिंह रावत ने निर्णय देते हुए आदेश पारित किया है कि अपीलाॅन्ट अनावेदक शाजापुर जिले की जनपद पंचायत मो. बड़ोदिया के तत्कालीन सरपंच सचिन पाटीदार के विरूद्ध शासकीय संपत्ति खुर्द-बुर्द करने एवं हेराफेरी करने के कारण मध्यप्रदेश पंचायत अधिनियम एवं ग्राम स्वराज अधिनियम 1993 की धारा-40 एवं सहपठित धारा-92 के तहत विधि अनुसार कार्रवाई करने के आदेश जनपद पंचायत सीईओ मो. बड़ोदिया को दिये हैं। इसी तरह तात्कालीन सचिव विजयसिंह ठाकुर के विरूद्ध भी कार्रवाई करने के आदेश दिये गये हैं।
कलेक्टर न्यायालय में चले अपील के प्रकरण में ग्राम दुपाड़ा तहसील मो. बड़ोदिया स्थित शासकीय भूमि सर्वे क्रमांक 363 रकबा 0.72 हेक्टेयर, सर्वे क्रमांक 364 रकबा 0.48 हेक्टेयर एवं सर्वे क्रमांक 365 रकबा 0.06 हेक्टेयर नोईयत आबादी तथा सर्वे क्रमांक 655 रकबा 0.25 हेक्टेयर नोईयत चमड़ा निकालने का स्थान के मद में राजस्व अभिलेख में अंकित शासकीय भूमियों पर तत्कालीन सरपंच सचिन कुमार पाटीदार व सचिव विजय सिंह द्वारा अनाधिकृत रूप से अतिक्रमण कर 66 दुकानों का निर्माण कर मध्यप्रदेश पंचायत (स्थावर संपत्ति का अंतरण) नियम-1994 के तहत बने नियमों के विरूद्ध रोस्टर (आरक्षण) प्रक्रिया का पालन न करते हुए बिना सक्षम स्वीकृति के दुकान विक्रय किया जाकर एक करोड़ से अधिक राशि का गबन किया गया। इस प्रकार अपीलान्ट ने मध्यप्रदेश भू-राजस्व संहिता की धारा-244 के अधीन बने नियम भाग-1 एवं भाग-2 तथा मध्यप्रदेश पंचायत (स्थावर संपत्ति का अंतरण) नियम-1994 के तहत बने नियमों के विपरित अधिकार क्षेत्र से बाहर जाकर उक्त कृत्य किया गया। अपीलान्ट का यह कृत्य शासकीय संपत्ति को खुर्द-बुर्द करना और हेराफेरी की श्रेणी में होकर आपराधिक प्रवृत्ति का होना प्रमाणित हुआ। इसे देखते हुए कलेक्टर न्यायालय द्वारा अनुविभागीय अधिकारी राजस्व द्वारा उनके न्यायालयीन प्रकरण में पारित आदेश दिनांक 20.10.2016 को यथावत स्थित रखा गया है और मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत मो. बड़ोदिया को निर्देशित किया गया है कि दिये गये आदेशानुसार अविलम्ब कार्यवाही करना सुनिश्चित करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*