Sat 14 05 2022
Home / Breaking News / पुलिस की सांठगांठ से फलफुल रहा सट्टा कारोबार, खुलेआम गली-मोहल्लों में चलाया जा रहा ठगी का गोरखधंधा
पुलिस की सांठगांठ से फलफुल रहा सट्टा कारोबार, खुलेआम गली-मोहल्लों में चलाया जा रहा ठगी का गोरखधंधा

पुलिस की सांठगांठ से फलफुल रहा सट्टा कारोबार, खुलेआम गली-मोहल्लों में चलाया जा रहा ठगी का गोरखधंधा

शाजापुर। कोतवाली पुलिस की सांठगांठ के चलते शहर में सट्टा कारोबार तेजी से फल-फुल रहा है। मामले में सट्टा माफिया और जिम्मेदारों के बीच दोस्ताने का इसी बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि लगातार समाचार पत्रों में मामला उजागर होने के बावजूद भी सट्टा माफियाओं पर नकेल कसने की जहमत पुलिस द्वारा नही उठाई जा रही है और शहर के गली-मोहल्लों में बेखौफ होकर खुलेआम पेड़ी लगाकर इक्का मिंडी का गोरख धंधा चलाया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि बीते एक सप्ताह से अधिक समय से शहर में सट्टा कारोबार खुलेआम चलाया जा रहा है। पुलिस की कृपा दृष्टि के चलते धानमंडी चौराहा, गल्र्स स्कूल ऐरिया, महूपुरा पटेलवाड़ी सहित अन्य क्षेत्रों में प्रतिदिन सट्टा अंक के जाल में मजदूर वर्ग के लोगों को अमीर बनाने का सपना दिखाकर ठगा जा रहा है। इस मामले में सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी वायरल हुआ। साथ ही समाचार पत्रों में भी सट्टा कारोबार को लेकर समाचार प्रकाशित किए गए, परंतु इसके बाद भी सट्टा के अवैध कारोबार पर किसी तरह की रोक नही लगाई गई। मंगलवार को भी धानमंडी चौराहा पर खुलेआम सट्टे के अंक लिखे गए। वहीं गल्र्स स्कूल, महूपुरा पटेलवाड़ी क्षेत्र में भी एक रुपए के दस रुपए करने नाम पर लोगों की जेब पर डाका डाला गया।
प्रतिदिन लाखों का सट्टा कारोबार
गौरतलब है कि जिम्मेदारों की उदासीनता के चलते शहर में सट्टाखोर प्रतिदिन लाखों रुपए अवैध ढंग से कमा कर गरीब वर्ग के लोगों को ठगने का काम कर रहे हैं। लोगों को जल्द ही अमीर बनने का सपना दिखाने वाले सपनों का सौदागर सट्टा माफिया पुलिस की मेहरबानी के चलते मजदूर वर्ग के लोगों को अपना शिकार बना रहा है। शहर में यदि इन सट्टाखोरों की दुकानदारी समेट दी जाए, तो लोगों को भी इस बुरी लत से आसानी से छुटकारा मिल सकता है।
इनका कहना है
शहर में सट्टा कारोबार संचालित किए जाने की जानकारी मिली है। किसी भी तरह का अवैध काम नही चलने दिया जाएगा। जल्द ही मामले में कार्रवाई की जाएगी।
-तुषारकांत, पुलिस अधीक्षक शाजापुर।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*