Tue 17 05 2022
Home / Breaking News / प्रधानमंत्री ग्रामीण सडक़ योजना के नाम पर की जा रही लीपापोती, डामरीकरण में हो रही नियमों की अनदेखी
प्रधानमंत्री ग्रामीण सडक़ योजना के नाम पर की जा रही लीपापोती, डामरीकरण में हो रही नियमों की अनदेखी

प्रधानमंत्री ग्रामीण सडक़ योजना के नाम पर की जा रही लीपापोती, डामरीकरण में हो रही नियमों की अनदेखी

शाजापुर। ग्रामीण क्षेत्रों को शहर से जोडऩे के लिए चलाई जा रही प्रधानमंत्री ग्रामीण सडक़ योजना के नाम पर ठेकेदार द्वारा जिम्मेदारों के साथ मिलभगत कर लीपापोती की जा रही है। यही कारण है कि बनाए जा रहे रोड में कहीं ज्यादा तो कहीं कम मटेरियल डालकर निर्माण कार्य किया जा रहा है। वहीं खास बात यह है कि जिला मुख्यालय से गांव तक बनने वाली उक्त सडक़ के निर्माण की विभाग के वरिष्ठ अधिकारी को जानकारी ही नही है। ऐसे में रोड निर्माण में किस तरह से नियमों का पालन किया जा रहा होगा यह समझना आसान है। गौरतलब है कि इन दिनों शाजापुर के डांसीपुरा कब्रिस्तान से प्रधानमंत्री ग्रामीण सडक़ योजना के तहत डामर की सडक़ का निर्माण किया जा रहा है। यह रोड ग्राम हिरपुर तक बनाया जाना है, लेकिन सडक़ निर्माण में ठेकेदार द्वारा नियमों की अनदेखी करते हुए कहीं चार ईंच तो कहीं डेढ़ ईंच ही डामरीकरण किया जा रहा है, जिसके कारण सडक़ की गुणवत्ता पर सवाल खड़े हो रहे हैं और सडक़ आने वाले कुछ महीनों में ही गड्ढों में तब्दील हो सकती हैै।
जीएम को नही निर्माण कार्य की जानकारी
उल्लेखनीय है कि किसी भी विभाग के द्वारा किए जाने वाले कार्य की जानकारी वरिष्ठ अधिकारी होती है, लेकिन शाजापुर शहर से ग्राम हिरपुर तक चल रहे डामरीकरण के कार्य से विभाग के अधिकारी ही अनभिज्ञ हैं। ऐसे में सडक़ निर्माण में ठेकेदार के द्वारा किस तरह लीपापोती की जा रही होगी यह स्पष्ट तौर पर नजर आता है। शहर के डांसीपुरा से हिरपुर टेका करीब छह किमी तक हो रहे डामरीकरण में ठेकेदार द्वारा जमकर नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं और यही कारण है कि कहीं ज्यादा तो कहीं कम मटेरियल लगाकर सडक़ा का निर्माण किया जा रहा है। आश्चर्य की बात यह है कि लाखों रुपए की लागत से बन रही डामर की सडक़ के बारे में प्रधानमंत्री ग्रामीण सडक़ विभाग के जीएम को जानकारी ही नही है। जीएम पूरे मामले के बारे में एएम से चर्चा करने की बात कह रहे हैं। इधर एएम भी ठेकेदार के समर्थन में रोड के गुणवत्तापूर्ण होने के दावे कर रहे हैं। अब सवाल यह उठता है कि यदि सडक़ निर्माण नियमानुसार किया जा रहा है तो ठेकेदार द्वारा कहीं चार से छह ईंच और कहीं महज एक से डेढ़ ईंच मटेरियल क्यों डाला जा रहा है? फिलहाल सडक़ निर्माण में विभाग के अधिकारी और ठेकेदार दोनों ही की भूमिका संदेहास्पद नजर आ रही है।
मुझे जानकारी नही है
हमारे विभाग द्वारा डांसीपुरा से कौनसे रोड का निर्माण किया जा रहा है मुझे इसकी जानकारी नही है। इस मामले में आप पटेल साहब से चर्चा कर लो।
-हेमंत शिवहरे, जीएम, प्रधानमंत्री ग्रामीण सडक़ विभाग शाजापुर।
नियमानुसार ही बन रही है सडक़
शाजापुर के डांसीपुरा कब्रिस्तान से हिरपुर तक डामरीकरण का कार्य किया जा रहा है। उक्त कार्य की मैं स्वयं मॉनीटरिंग कर रहा हूं। सडक़ निर्माण में पूरी तरह से नियमों का पालन किया जा रहा है और सडक़ नियमानुसार ही बन रही है।
-एपी पटेल, एएम प्रधानमंत्री ग्रामीण सडक़ विभाग शाजापुर।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*