Thu 19 05 2022
Home / Breaking News / पट्टे की भूमि पर किया बलपूर्वक कब्जा, पीडि़त परिवार ने की कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर शिकायत
पट्टे की भूमि पर किया बलपूर्वक कब्जा, पीडि़त परिवार ने की कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर शिकायत

पट्टे की भूमि पर किया बलपूर्वक कब्जा, पीडि़त परिवार ने की कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर शिकायत

शाजापुर। पट्टे की भूमि पर बनाई गई झोपड़ी पर अवैध ढंग से कब्जा करने के मामले में पीडि़त परिवार ने न्याय के लिए शाजापुर जिला प्रशासन के समक्ष गुहार लगाई है। सोमवार को ग्राम तिंगजपुर में रहने वाला गंगाराम पिता भागीरथ माली अपने परिवार के साथ कलेक्टर कार्यालय पहुंचा और यहां समाजसेवी राधेश्याम मालवीय के साथ कलेक्टर दिनेश जैन के नाम शिकायती आवेदन देकर कार्रवाई किए जाने की मांग की। दिए गए आवेदन में गंगाराम ने बताया कि ग्राम तिंगजपुर में उसे भूमि क्रमांक 1029 पर 30 बाय 60 का पट्टा पंचायत और तहसीलदार द्वारा दिया गया था, लेकिन अब गांव के सरपंच और सचिव के साथ मिलीभगत कर गांव के ही रामसिंह पिता लालजीराम बागरी और भादर पिता लालजीराम बागरी ने उक्त पट्टे की भूमि पर बनी झोपड़ी पर बलपूर्वक ढंग से कब्जा कर लिया है। गंगाराम ने बताया कि पट्टे की भूमि उसे तहसीलदार गुलाना द्वारा दी गई थी जिसका आदेश भी उसके पास है, लेकिन इसके बाद भी सरपंच और सचिव अन्य व्यक्ति को उक्त पट्टे की भूमि देना चाहते हैं। आवेदन में पट्टे की भूमि पर पुन: कब्जा दिलाए जाने और सरपंच-सचिव के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की मांग की गई है। साथ ही चेतावनी दी गई कि यदि न्याय नही किया गया तो परिवार सहित अनशन किया जाएगा।
समाजसेवी की समझाईश पर टली अनहोनी
ग्राम पंचायत के सरपंच और सचिव की मनमानी के चलते घर से बेघर हुए दंपत्ति मानसिक रूप से बेहद प्रताडि़त हो गए और उन्होने गलत कदम उठाने का फैसला कर लिया। हालांकि समाजसेवी राधेश्याम मालवीय के हस्तक्षेप केे बाद अनहोनी टल गई और पीडि़त दंपत्ति ने कलेक्टर कार्यालय में आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई। दरअसल ग्राम तिंगजपुर में रहने वाले गंगाराम को पट्टे की भूमि दी गई थी जिस पर वर्षों से गंगाराम और उसका परिवार झोपड़ी बनाकर निवास कर रहा था, लेकिन पंचायत के सरपंच और सचिव ने गंगाराम की झोपड़ी पर लालजीराम का कब्जा करा दिया। इस बात से आहत पति-पत्नी शाजापुर पहुंचे और किसी अनहोनी को करने के लिए रेलवे ट्रेक की ओर बढऩे लगे। इस बात की जानकारी समाजसेवी मालवीय को लगी तो उन्होने दंपत्ति को समझाया और आवेदन तैयार कराकर कलेक्टर कार्यालय में दिया। मालवीय ने बताया कि यदि दंपत्ति को न्याय नही मिला तो परिवार के साथ आंदोलन किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*