Fri 20 05 2022
Home / Breaking News / पत्थरबाजी के मुख्य आरोपी का प्रशासन ने तोड़ा घर, आप पार्टी ने कहा मंत्री के इशारे पर हुई कार्रवाई
पत्थरबाजी के मुख्य आरोपी का प्रशासन ने तोड़ा घर, आप पार्टी ने कहा मंत्री के इशारे पर हुई कार्रवाई

पत्थरबाजी के मुख्य आरोपी का प्रशासन ने तोड़ा घर, आप पार्टी ने कहा मंत्री के इशारे पर हुई कार्रवाई

शाजापुर। अयोध्या बस्ती में शादी समारोह के दौरान पथराव करने वाले मुख्य आरोपी के घर को प्रशासन द्वारा जेसीबी की मदद से तोड़ दिया गया। जिले में पत्थरबाजी के मामले में प्रशासन की यह पहली कार्रवाई है, जिसमें आरोपी के घर को तोड़ा गया है। इधर घर तोड़ेने की कार्रवाई पर आम आदमी पार्टी ने प्रशासन पर सवाल खड़े किए हैं। गौरतलब है कि रविवार रात अयोध्या बस्ती क्षेत्र में संतोष कुशवाह की पुत्री का विवाह चल रहा था और उसने पंडाल सडक़ पर लगा रखा था। इस दौरान समुदाय विशेष के बच्चे तेजगति से बाइक लेकर निकल रहे थे, जिस पर उन्हे रोक कर शादी परिवार के कुछ लोगों ने थप्पड़ जड़ दिए थे। इस घटना के बाद समुदाय विशेष के लोगों ने संतोष के घर पर पथराव कर दिया था। घटना में जितेंद्र कुशवाह घायल हो गया था। वहीं पुलिस ने जितेंद्र की शिकायत पर पंद्रह लोगों के खिलाफ नामजद प्रकरण दर्ज किया था। साथ ही प्रशासन द्वारा सोमवार को अयोध्या बस्ती के रास्ते पर किए गए अतिक्रमण को हटाने की कार्रवाई की गई थी। इसके बाद मंगलवार को प्रशासनिक अमला दोबारा अयोध्या बस्ती पहुंचा और यहां पत्थरबाजी की घटना के मुख्य आरोपी के पक्के मकान को जेसीबी की मदद से तोडक़र चंद मिनटों में ही खंडहर के रूप में तब्दील कर दिया।
आम आदमी पार्टी ने उठाया सवाल
अयोध्या बस्ती में पत्थरबाजी के मुख्य आरोपी के मकान को प्रशासन द्वारा जमींदोज किए जाने की कार्रवाई पर आम आदमी पार्टी के जिया लाला ने सवाल खड़े किए हैं। मंगलवार को प्रशासन ने पत्थरबाजी के आरोपी के घर को जेसीबी की मदद से तोड़ दिया। इस कार्रवाई के बाद आम आदमी पार्टी के लाला अयोध्या बस्ती पहुंचे और यहां हुई कार्रवाई पर कहा कि प्रशासन ने छोटे से विवाद के बाद बिट्टू के मकान को जेसीबी से तोड़ दिया। आप पार्टी का आरोप है कि स्कूल शिक्षा मंत्री इंदरसिंह परमार के आदेश पर प्रशासन द्वारा मकान तोडऩे की कार्रवाई की गई है। प्रशासन की इस पक्षपातपूर्ण कार्रवाई के खिलाफ न्याय के लिए न्यायालय की शरण ली जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*