Thu 19 05 2022
Home / Breaking News / आँखों के मरीज़ परेशान, आप्टिमिस्ट कह रहे परमीशन नहीं
आँखों के मरीज़ परेशान, आप्टिमिस्ट कह रहे परमीशन नहीं

आँखों के मरीज़ परेशान, आप्टिमिस्ट कह रहे परमीशन नहीं

शाजापुर। कोरोना महामारी में लाॅकडाउन के समय के धीरे-धीरे बढ़ने के कारण अब आँखों के मरीज़ों की परेशानी बढ़ने लगी है। शहर में गिने चुने लगभग 3 ही आॅप्टिमिस्ट है एवं नम्बर के चश्मों की सेवा देने वाली न्यूनतम दुकाने हैं जिससे लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। शहर में कई ऐसे मरीज़ हैं जिन्हें आँखें में इन्फेक्श्न, दर्द, मोतिया जैसी आँखों की बिमारियां है लेकिन लोकडाॅउन के चलते आॅप्टिमिस्ट से फोन पर चर्चा कर जैसे तैसे इलाज करवा रहे हैं। शासन प्रशासन का इस ओर ध्यान देने अब आवश्यकता है।
शहर के एक आॅप्टिमिस्ट द्वारा प्राप्त जानकारी के अनुसार अभी वर्तमान परिस्थिति में आॅप्टिमिस्टों को अपना क्लीनिक चलाने की परमीशन नहीं है। इसी के चलते फोन पर ही सलाह दी जा रही हैं। जहां शासन-प्रशासन कोरेाना से लड़ाई कर हर संभव प्रयास कर रहा हैं वहीं शासन प्रशासन को आँखों के मरीज़ों के लिए भी अब विचार करना अनिवार्य है।
उज्जैन में आॅप्टिमिस्टों को परमीशन मिलि-
उज्जैन जिले में 17 मई तक का जनता कर्फ्यू कलेक्टर द्वारा घोषित किया गया था। यह जनता कर्फ्यू 31 मई तक बढ़ा दिया गया है। इसका मुख्य कारण उज्जैन जिले में संक्रमण का प्रतिशत 15 से 17 होना है।
आज दोपहर जिले की क्राइसिस मेनेजमेंट समिति की बैठक में यह निर्णय लिया गया है कि जिले में जनता कर्फ्यू 31 मई 2021 सुबह 6 बजे तक रहेगा। किसी भी प्रकार की छूट नही दी जायेगी। सख्ती से इसका पालन कराया जाएगा। जिले की ऑप्टिकलध्चश्मे की दुकान सुबह 8 से दोपहर 12 बजे तक खोलने की अनुमति भी दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*