Tue 17 05 2022
Home / Breaking News / निर्देशों का पालन नहीं करने पर पटवारी एवं ग्राम पंचायत सचिव को निलंबित करने के निर्देश
निर्देशों का पालन नहीं करने पर पटवारी एवं ग्राम पंचायत सचिव को निलंबित करने के निर्देश

निर्देशों का पालन नहीं करने पर पटवारी एवं ग्राम पंचायत सचिव को निलंबित करने के निर्देश

कलेक्टर जैन ने किया राजस्व सेवा अभियान के शिविरों का आकस्मिक निरीक्षण
शाजापुर। ग्राम पंचायत लसुल्डिय़ा जगमाल के पटवारी तारीक खान एवं ग्राम पंचायत सचिव जफर बेग को ग्राम सभा के संबंध में दिए गए निर्देशों का पालन नहीं करने पर कलेक्टर दिनेश जैन ने निलंबित करने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर जैन ने गुरुवार को राजस्व सेवा अभियान के तहत ग्राम लसुल्डिय़ा जगमाल, जावदी एवं सारसी में लगे शिविरों का आकस्मिक निरीक्षण किया। इस दौरान नायब तहसीलदार अजय अहिरवार, प्रभारी एसएलआर अकलेश मालवीय तथा जावदी एवं सारसी में तहसीलदार नरेन्द्रसिंह ठाकुर भी मौजूद थे। ग्राम पंचायत लसुल्डिय़ा जगमाल के निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने यहां निर्मित हो रहे हाईस्कूल भवन पर दानदाता का कब्जा होने पर उसे अन्य स्थान पर विनिमय कर भूमि देने के संबंध में प्रस्ताव तैयार नहीं करने, मंदिर की भूमि किसकी है यह भी मौके पर नहीं बताने, राजस्व पखवाड़े में किए गए कार्य की जानकारी ठीक से नहीं देने तथा प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के हितग्राहियों का सत्यापन करने के संबंध में किसी तरह की कार्रवाई नहीं करने पर पटवारी तारीक खान को निलंबित करने के निर्देश दिए। इसी तरह प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के हितग्राहियों के सत्यापन के लिए ग्रामसभा का आयोजन नहीं करने पर तथा ग्राम पंचायत की जानकारी नहीं रखने पर कलेक्टर ने ग्राम पंचायत सचिव जफर बेग को भी निलंबित करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने पटवारी एवं ग्राम पंचायत सचिव की कार्यप्रणाली पर अत्यधिक नाराजगी व्यक्त की। उन्होने नायब तहसीलदार अहिरवार को निर्देश दिए कि वे राजस्व अभियान की सतत् मॉनिटरिंग करें। वहीं ग्राम जावदी में राजस्व अभियान के शिविर का निरीक्षण करते हुए कलेक्टर ने मौजूद ग्रामीणों से उनकी राजस्व संबंधी शिकायतों एवं समस्याओं की जानकारी ली। ग्रामीणों ने बताया कि उनका ग्राम शासकीय उचित मूल्य की दुकान बुरलाय से संबंद्ध है जो कि ग्राम से लगभग 6 किलोमीटर दूर है। ग्रामीणों ने ग्राम सागडिय़ा जो कि एक किलोमीटर दूर है, से उनके ग्राम को संबद्ध करने का अनुरोध किया। ग्राम का विद्यालय भवन जो कि जीर्ण-शीर्ण अवस्था में है को कलेक्टर ने डिस्मेंटल करने के लिए ग्राम सभा से प्रस्ताव भेजने के लिए कहा। ग्राम के भंवरलाल ने बताया कि उनके नामांतरण का प्रकरण तीन साल से लंबित है। कलेक्टर ने 15 दिन में प्रकरण निराकृत करने के निर्देश दिए। ग्राम के ही लोगों ने बताया कि शासकीय मंदिर को दान में दी गई भूमि पर अन्य व्यक्ति का कब्जा है। ग्राम में नलजल योजना नही है। ग्रामीणों ने बताया कि ग्राम पंचायत द्वारा विकास कार्य नहीं कराए जा रहे हैं। ग्रामीणों ने सार्वजनिक रास्ते की समस्या से अवगत कराया। इस मौके पर कलेक्टर ने ग्राम पंचायत सचिव एवं पटवारी से प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के हितग्राहियों के सत्यापन की जानकारी ली। कलेक्टर ने सचिव एवं पटवारी से कहा कि योजना की अपात्रता की जानकारी ग्रामीणों को देकर अपात्र हितग्राही के नाम प्राप्त करें। कलेक्टर ने बताया कि राजस्व विभाग द्वारा अनेक सेवाओं को ऑनलाइन कर दिया गया है। कोई भी व्यक्ति अपने राजस्व रिकार्ड की जानकारी निर्धारित फीस भरकर प्राप्त कर सकता है। कलेक्टर ने पटवारी को ग्रामीणों को प्रशिक्षण देने के निर्देश दिए। साथ ही एसएलआर को भी निर्देश दिए कि वे ऑनलाइन वेबसाईट का ग्रामीण क्षेत्रों में व्यापक प्रचार-प्रसार करने के लिए फ्लैक्स-बैनर लगवाएं। कलेक्टर ने कहा कि विकास का मतलब केवल भवन और सडक़ बनाना नहीं होता है, बल्कि बनाई गई संरचनाओं के प्रति ग्रामीणों में अपनत्व का भाव होना चाहिए तब ही सही मायने में विकास माना जाता है। ग्रामीण शासकीय संपत्ति की सुरक्षा करें,  उसे नष्ट नहीं होने दें। ग्राम पंचायतें नियमित ग्राम में साफ-सफाई करवाएं। ग्राम से निकलने वाले नाले पर स्टॉप डेम बनाने के लिए प्रस्ताव तैयार करें और ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग को भेजकर प्राक्कलन बनवाएं। ग्राम सारसी में निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने विद्यालय की पेयजल यूनिट को टंकी एवं पानी की मोटर से जोडऩे के निर्देश दिए। यहां जगदीश पिता नारायण मालवीय ने निजी भूमि में से खेत पर जाने के लिए अन्य खेत वालों द्वारा रास्ता नहीं देने की शिकायत की। कलेक्टर ने राजस्व अधिकारी एवं पटवारी को कार्रवाई करने के निर्देश दिए। वृद्धा दुर्गाबाई ने संयुक्त खाते की भूमि का बटवारा करने का अनुरोध किया। यहां ग्राम के कुछ लोगों ने बताया कि उन्हे वर्ष 2001 में शासकीय पट्टे मिले थे जिस पर उनका कब्जा विद्यमान है, किन्तु वह रिकार्ड में दर्ज नही है। कलेक्टर ने मूल रिकार्ड से मिलान कर रिकार्ड में दर्ज करने की कार्रवाई करने के निर्देश दिए। ग्राम के विक्रमसिंह ने ग्राम के ही एक व्यक्ति से जमीन का विनिमय करने की अनुमति मांगी। कलेक्टर ने प्रधानमंत्री किसान कल्याण निधि योजना के हितग्राहियों के सत्यापन की कार्रवाई की जानकारी लेते हुए कहा कि अपात्रों को किए जा रहे भुगतान की कार्रवाई तत्काल बंद कराएं। इसके पूर्व ग्राम सारसी के ग्रामीणों ने कलेक्टर जैन का साफा पहनाकर स्वागत किया। इस मौके पर पूर्व सरपंच खुमेरसिंह राजपूत तथा वर्तमान ग्राम प्रधान से प्रेमनारायण मालवीय भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*