Tue 30 11 2021
Home / Breaking News / निरंतर हो रही बारिश से चीलर बांध का जल स्तर बढक़र साढ़े सात फीट पर पहुंचा
निरंतर हो रही बारिश से चीलर बांध का जल स्तर बढक़र साढ़े सात फीट पर पहुंचा

निरंतर हो रही बारिश से चीलर बांध का जल स्तर बढक़र साढ़े सात फीट पर पहुंचा

शाजापुर। आसमान से रूक-रूककर बूंदों के बरसने का सिलसिला जारी है और इसीके चलते हर दिन बारिश की बोछारें शहर की सडक़ों को तरबतर करने का काम कर रही हैं। वहीं सूखे पड़े जल स्त्रोतों में भी लगातार बारिश के चलते पानी की बढ़ोत्तरी हो रही है जिसके चलते ग्रामीण अंचलों में जल संकट भी खत्म हो गया है। देरी से ही सही लेकिन कुदरत की मेहरबानी के चलते बादल प्रतिदिन तेज बूंदों के साथ बरसकर जिलेभर को जल संकट से उबारने में लगे हुए हैं। आसमान से बादलों के बरसने की इसी कड़ी में सोमवार को भी काली घटाएं बरसकर शहर को भिगोती रहीं। उल्लेखनीय है कि रविवार रात से बादलों ने एक बार फिर बरसना शुरू कर दिया और बारिश के बरसने का यह दौर दूसरे दिन भी जारी रहा। आसमान से बरसती बारिश की वजह से शहर के लोगों का वर्षभर कंठ तर करने वाले एकमात्र पेयजल स्त्रोत चीलर बांध का जल स्तर भी तेजी से बढ़ गया। जल संसाधन विभाग के एसडीओ हिमांशु भाभौर ने बताया कि लगातार रूक-रूककर हो रही बारिश के चलते बांध में साढ़़े सात फीट पानी जमा हो गया है।
पिछले साल का रिकार्ड टूटा
मानसून की सक्रियता के चलते लगातार बरस रहीं बारिश की तेज बूंदों ने पिछले साल का रिकार्ड तोड़ दिया है और इस वर्ष अधिक वर्षा दर्ज की गई है। भू-अभिलेख अधिकारी अखलेश मालवीय ने बताया कि चालू वर्षाकाल में जिले में 1 जून से 2 अगस्त तक 557.0 मिली औसत वर्षा दर्ज की गई है। जबकि वर्ष 2020 में 1 जून से 2 अगस्त तक 346.1 मिमी बारिश ही दर्ज की जा सकी थी। वहीं इस वर्ष रविवार सुबह से सोमवार सुबह 8 बजे तक शाजापुर तहसील में 48.0 मिमी, मोमन बड़ोदिया में 17.0, शुजालपुर में 51.0 मिमी, कालापीपल में 56.0 मिमी और गुलाना में 32.0 मिमी बारिश दर्ज की गई है। इस साल सर्वाधिक वर्षा मोमन बड़ोदिया में दर्ज की गई है और बारिश का आंकड़ा 681.0 मिमी रहा है। बारिश का दौर जारी है और इस वर्ष पिछले वर्ष के सारे रिकार्ड टूटने की संभावना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*