Fri 03 12 2021
Home / Shajapur News / निजीकरण के विरोध में 7 अगस्त को बिजली कर्मचारी करेंगे बहिष्कार, संयुक्त मोर्चा की बैठक में लिया निर्णय
निजीकरण के विरोध में 7 अगस्त को बिजली कर्मचारी करेंगे बहिष्कार, संयुक्त मोर्चा की बैठक में लिया निर्णय

निजीकरण के विरोध में 7 अगस्त को बिजली कर्मचारी करेंगे बहिष्कार, संयुक्त मोर्चा की बैठक में लिया निर्णय

शाजापुर। बिजली कंपनियों के निजीकरण के विरोध में संयुक्त मोर्चा की बैठक शाजापुर में सम्पन्न हुई। बैठक में संयुक्त मोर्चा के आह्वान पर 7 अगस्त को एक दिवसीय कार्य बहिष्कार का निर्णय लिया गया। इस मौके पर प्रदेश महामंत्री सुशील पांडे ने कहा कि निजीकरण से कर्मचारियों-अधिकारियों एवं बिजली के उपभोक्ताओं को परेशानियां उठाना पड़ेगी और आर्थिक गंभीर दुष्परिणाम भी आएंगे। उन्होने कहा कि जो बिजली आज कंपनी के माध्यम से मिल रही है, वह निजीकरण होने पर उसके रेट बहुत अधिक बढ़ जाएंगे और मिलने वाली सुविधाएं भी प्रभावित होगी। पीयूके प्रदेश उपाध्यक्ष अरविंद जादौन ने कहा कि यदि सरकार के द्वारा निजीकरण का प्रस्ताव संसद में पास किया जाता है तो कर्मचारी और पेंशनरों का भविष्य अंधकार में हो जाएगा और आज जो हमें सुविधाएं मिल रही हैं वह उद्योगपतियों के हाथ में चली जाएगी जो अपनी मनमानी करेंगे। इसलिए हम सबको मिलकर निजीकरण का विरोध करना है और संयुक्त मोर्चा के द्वारा होने वाले चरणबद्ध आंदोलन में अधिक से अधिक भाग लेकर सरकार तक अपनी बात पहुंचाना है। इस अवसर पर पावर इंजीनियर एसोसिएशन के उपाध्यक्ष अरविंद जादौन, संयोजक शिवराम मरकाम, बिजली कर्मचारी संघ फेडरेशन के क्षेत्रीय सचिव अफसर अहमद, पश्चिम क्षेत्र बिजली कर्मचारी महासंघ के महामंत्री अशोक राठौर, भारतीय मजदूर संघ के जिला मंत्री एवं संगठन मंत्री हरीश ठोमरे, ट्रांसमिशन के प्रदेश संगठन मंत्री गिरीश जोशी, इमरान अहिरवार, राहुल पाटीदार, महेंद्रसिंह सिसोदिया, दत्तात्रेय जेजुरी, चंद्रशेखर दावरे, जगदीश मीणा, भगवान श्रीवास्तव, पवन प्रजापति आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*