Sat 11 07 2020
Home / Breaking News / न्यायालय ने किया दण्डित- छेड़छाड़ करने वाले व मारपीट के आरोपी को

न्यायालय ने किया दण्डित- छेड़छाड़ करने वाले व मारपीट के आरोपी को

मारपीट के आरोपी को न्यायालय ने किया दण्डित
शाजापुर। न्यायालय अनुष्का शर्मा जेएमएफसी शुजालपुर ने आरोपी मुकेश परमार पिता बाबूलाल, सुरेश परमार पिता बाबूलाल नि. ग्राम हड़लाय कला अकोदिया को अंतर्गत धारा 323/34 भादवि में दोषी पाते हुए प्रत्येक को 800-800 रुपए से दण्डित किया। मीडिया प्रभारी एवं एडीपीओ अजयशंकर ने बताया कि 14/12/2016 को फरियादी राजेन्द्र कुमार ने थाना अकोदिया पर आकर रिपॉर्ट की कि उसकी मां सुगनबाइ्र एवं उसकी भाभी सीमाबाई की आपस में ग्राम हड़ायकला में कहा सुनी हो गई थी। इसी बात को लेकर आरोपी ने फरियादी के साथ लकड़ी से मारपीट की मां-बहन की अशलील गालियां दी और जान से मारने की धमकी दी। फरियादी की सूचना पर आरोपियों के विरूद्ध अपराध क्र. 192/16 अंतर्गत धारा 323 294 506/34 भादवि का अपराध पंजीबद्ध किया गया बाद में विवेचना पूर्ण अभियोग पत्र न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया गया। न्यायालय द्वारा अभियोजन के साक्ष्यों एवं तर्कों से सहमत होते हुये आरोपी को दण्डित किया गया। अभियोजन की ओर से पैरवी कमलसिंह गोयल द्वारा की गई।
००००००००००००००००००००००००००
छेड़छाड़ करने वाले आरोपियों को न्यायालय ने दी सजा
शाजापुर। न्यायालय अमितरंजन समाधिया द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश शुजालपुर द्वारा आरोपी महेश पिता नारायणसिंह सूर्यवंशी नि0 पासीसर कालापीपल एवं अनिल पिता भगवतसिंह सूर्यवंशी निवासी भरदी कालापीपल को अंतर्गत धारा 354 भादवि में दोषी पाते हुए 3-3 वर्ष सश्रम कारावास एवं 1000-1000 रू अर्थदण्ड एवं धारा 7/8 लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 में दोषी पाते हुए प्रत्येक को 3-3 वर्ष सश्रम कारावास एवं 1000-1000 रू अर्थदण्ड से दण्डित किया। मीडिया प्रभारी एवं एडीपीओ अजयशंकर ने बताया कि दिनांक 20/12/2018 को पीडि़ता अकेली पगडण्डी कच्चे रास्ते से पैदल स्कूल जा रही थी करीब 11 बजे भरदी रास्ते पर एक नया मकान पक्का बन रहा था वहां आरोपी अनिल और महेश मोटर साईकिल से आए और उसका रास्ता रोक लिया। अनिल ने मोटर साईकिल से उतर कर बुरी नियत से हाथ पकडक़र उसे गड्डे तरफ ले जाने लगा जिस पर बालिका छूटकर भागी तो आरोपी महेश ने उसे पकड़ा और झुमाझटकी की। पीडि़ता ने घटना की रिपोर्ट कालापीपल थाने पर की। पीडि़ता की रिपॉर्ट पर से थाना कालापीपल पर अपराध क्रमांक 429/18 धारा 341, 354, 354घ, 506/34 भादवि तथा 7/8 लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 का अपराध पंजीबद्ध किया गया बाद विवेचना अभियोग पत्र न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया गया। न्यायालय द्वारा अभियोजन के साक्ष्य एवं तर्कों से सहमत होते हुए आरोपियों को दण्डित किया गया। अपील अवधि पश्चात प्रतिकर स्वरूप जुर्माने की राशि 4 हजार रुपए पीडि़ता को दिलाए जाने के आदेश भी न्यायालय द्वारा दिए गए। अभियोजन की ओर से पैरवी अतिरिक्त जिला लोक अभियोजन अधिकारी संजय मोरे शुजालपुर द्वारा की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*