Sat 27 11 2021
Home / Breaking News / नगरपालिका की लापरवाही से नही मिल सका जरूरतमंद परिवारों को नि:शुल्क योजना का लाभ
नगरपालिका की लापरवाही से नही मिल सका जरूरतमंद परिवारों को नि:शुल्क योजना का लाभ

नगरपालिका की लापरवाही से नही मिल सका जरूरतमंद परिवारों को नि:शुल्क योजना का लाभ

शाजापुर। नपा की उदासीनता के कारण शहर के कई जरूरतमंद परिवारों को सरकार की नि:शुल्क राशन वितरण योजना का लाभ नही मिल सका है। कोरोना काल के दौरान जरूरतमंद परिवारों को नि:शुल्क रूप से शासकीय उचित मूल्य दुकानों से राशन दिए जाने के आदेश मध्यप्रदेश शासन द्वारा जारी किए गए थे, लेकिन शाजापुर नगरपालिका के जिम्मेदारों की लापरवाही के कारण कई जरूरतमंद लोगों को राशन नही मिल सका। वहीं अब नपा के जिम्मेदार अपनी गलती को मानने की बजाय खाद्य आपूर्ति विभाग के सिर ठिकरा फोडऩे का प्रयास कर रहे हैं। उल्लेखनीय है कि कोरोना काल में प्रत्येक परिवार के सदस्यों को 25 किलो गेहूं प्रदेश के मुखिया शिवराजसिंह चौहान ने नि:शुल्क रूप से शासकीय उचित मूल्य दुकानों से वितरित करने के आदेश दिए थे और इसके लिए परिवार के प्रत्येक सदस्य को अस्थायी पात्रता पर्ची जारी करने की जिम्मेदारी नगरपालिका को सौंपी थी, लेकिन शाजापुर नगरपालिका के जिम्मेदारों ने प्रत्येक परिवार के सदस्य से पात्रता पर्ची जारी करने के लिए दस्तावेज तो सभी जमा करा लिए, किंतु पर्ची महज एक ही सदस्य के नाम पर जारी की गई, जिसके कारण परिवार के बाकि सदस्यों तक सरकार की योजना का लाभ नही पहुंच सका।
संदेहास्पद नपा की कार्यशैली
गौरतलब है कि नगरपालिका ने अस्थायी पात्रता पर्ची जारी करने के लिए शहर के जरूरतमंद परिवारों के प्रत्येक सदस्यों से समस्त दस्तावेज जमा करा लिए लेकिन पात्रता पर्ची महज मुखिया के नाम से ही जारी की गई, जिसके कारण परिवार के बाकि सदस्य सरकार की नि:शुल्क राशन वितरण योजना से वंचित रह गए। वहीं समस्त दस्तावेजों के जमा होने के बाद भी महज एक ही सदस्य को पात्रता पर्ची जारी करने के मामले में नगरपालिका के जिम्मेदारों की कार्यशैली भी संदेहास्पद नजर आ रही है। सूत्रों की मानें तो सदस्यों के दस्तावेज के आधार पर नपा के जिम्मेदार उचित मूल्य की दुकान संचालकों के साथ सांठगांठ कर गरीबों के राशन में सेंधमारी करने की फिराक में हैं, यही कारण है कि परिवार के समस्त सदस्यों से पात्रता पर्ची जारी करने के लिए समस्त दस्तावेज तो जमा कराए गए, परंतु पर्ची सिर्फ मुखिया को ही दी गई, और अब नपा के जिम्मेदार इस मामले में खाद्य आपूर्ति विभाग को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं।
हमारी जिम्मेदारी नही है
पात्रता पर्ची जारी करने के मामले में हमारी कोई जिम्मेदारी नही है। परिवार के सदस्यों को पात्रता पर्ची खाद्य आपूर्ति विभाग की ओर से जारी नही की गई है।
-भूपेंद्र दीक्षित, मुख्य नगरपालिका अधिकारी शाजापुर।
शाजापुर नगरपालिका ने गड़बड़ी की है
पात्रता पर्ची की इंट्री की जिम्मेदारी शाजापुर नगरपालिका की थी, लेकिन उन्होने गड़बड़ी कर दी और परिवार के चार सदस्यों के नाम लिखने की बजाय महज एक सदस्य का नाम लिख दिया। नपा की गलती के कारण ही शाजापुर में कई लोगों को पात्रता पर्ची जारी नही हो सकी है। पूरे जिले में सिर्फ शाजापुर नपा ने ही गलती की है।
-एचआर सुमन, जिला खाद्य आपूर्ति अधिकारी शाजापुर।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*