Sat 27 11 2021
Home / Breaking News / मानसून और सर्प दंश से बचाव पर राज्य स्तरीय ऑनलाइन प्रश्नमंच आयोजित
मानसून और सर्प दंश से बचाव पर राज्य स्तरीय ऑनलाइन प्रश्नमंच आयोजित

मानसून और सर्प दंश से बचाव पर राज्य स्तरीय ऑनलाइन प्रश्नमंच आयोजित

शाजापुर टीम को मिला प्रथम स्थान।।
होशंगाबाद, शहडोल तथा राजगढ़ टीम बनी उप विजेता।
शाजापुर। विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग भारत सरकार द्वारा साइंस सेंटर भोपाल  के द्वारा संचालित विज्ञान और स्वास्थ्य जागरूकता कार्यक्रम (YASH-2021) अंतर्गत सर्प सहित अन्य जीवों के संरक्षण व जागरूकता के उद्देश्य से  “मानसून और सर्प दंश से बचाव” विषय पर राज्य स्तरीय ऑनलाइन क्विज का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के क्षेत्रीय संयोजक ओम प्रकाश पाटीदार ने बताया कि हमारे क्षेत्र में अक्सर लोगो के द्वारा अज्ञानतावश किसानों के मित्र जीवो जैसे सांप, गोह (मॉनिटर लिजार्ड) आदि को शत्रु मान कर देखते ही मार दिया जाता है। इसके साथ ही साँपो की काल्पनिक कथाओं पर आधारित फिल्मों एवं टीवी सीरियलो के कारण लोगो एवं बच्चों में साँपो से जुड़े अंधविश्वासों को लेकर भ्रमित  हो जाते है। इन्ही अंधविश्वासों , भ्रान्तियों और मिथकों को दूर करने और साँपो के संरक्षण के प्रति जागरूक करने के लिए ऑनलाइन सर्प संरक्षण जागरूकता अभियान के अंतर्गत समाज मे व्याप्त  अंधविश्वास उन्मूलन और संरक्षण के लिए जागरूकता कार्यक्रम मानसून और सर्पदंश से सुरक्षा का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम के प्रथम चरण में 8 अगस्त को रात्रि 8 बजे ऑनलाइन प्रश्रोत्तरी प्रतियोगिता को प्रारंभ किया गया जो 30 अगस्त तक सभी उम्र के प्रतिभागियों के लिए जारी रहेगी।
इस ऑनलाइन क्विज में अबतक दो हजार से अधिक छात्र-छात्राओं ने सहभागिता की है।
ऑनलाइन क्विज के तीसरे चरण में साँपो पर आधारित कई प्रकार के प्रश्नों का समावेश किया गया जो कि साँपो का हमारी संस्कृति एव साहित्य में स्थान, साँपो की वैज्ञानिक जानकारी, विषैले साँपो  की पहचान और गोयरा, बिच्छू आदि इनसे जुड़ी भ्रामक जानकारी एवं अंधविश्वासो निवारण पर आधारित था। साँपो और विषैले जीवो के संरक्षण और जागरूकता पर आधारित इस ऑनलाइन प्रश्रोत्तरी प्रतियोगिता में मध्यप्रदेश के अलावा अन्य राज्यो के विद्यार्थियों, शिक्षको एवं नागरिकों ने इसका लुफ्त उठाया। कार्यक्रम के द्वितीय चरण में सर्प विशेषज्ञ दीप श्रीवास्तव के साथ ऑनलाइन यूट्यूब प्रोग्राम के द्वारा द्वारा क्षेत्र में साँपो को दूध पिलाने, इच्छाधारी नाग होने, साँप के बीन की धुन पर नाचने, दो मुँह वाले सांप के होने आदि अंधविश्वास के निराकरण का प्रयास किया गया। इसके पश्चात तीसरे चरण में ऑनलाइन प्रश्रोत्तरी प्रतियोगिता में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले जिलों राजगढ़ , होशंगाबाद , शहडोल एव शाजापुर के विद्यार्थियों के लिए राज्यस्तरीय ऑनलाइन प्रश्नमंच प्रतियोगिता का आयोजन नागपंचमी के दिन किया गया। इस प्रतियोगिता में मानसून के मौसम में विषैले जीवो जैसे सांप, गोह ( मॉनिटर लिजार्ड ) आदि के संबंध में समाज में व्याप्त अंधविश्वास उन्मूलन और संरक्षण से जुड़े प्रश्नों का समावेश किया गया। इस प्रतियोगिता में उत्कृष्ट विद्यालय शाजापुर रोहित सिंह पँवार एवं पीयूष बोयल तथा सरस्वती विद्या मंदिर शाजापुर के हार्दिक पाटीदार की टीम  ने प्रथम स्थान प्राप्त किया।  जबकि शहडोल, राजगढ़ तथा होशंगाबाद के टीम समान अंक प्राप्त कर दूसरे स्थान पर रही।ऑनलाइन क्विज के दौरान साइंस सेंटर भोपाल की राज्य समन्वयक संध्या वर्मा में संबोधित करते हुवे। यश कार्यक्रम के माध्यम से चलाए जा रहे जन जागरूकता अभियान की जानकारी दी।कार्यक्रम का संचालन डॉ निधि शुक्ला, अद्विता श्रीवास्तव ने किया तकनीकी संचालन शैलेंद्र कसेरा द्वारा किया गया। महेंद्र सिंह चंद्रावत द्वारा क्विज के स्कोरर के रूप में परिणाम को संकलित किया।
कार्यक्रम के शहडोल जिला समन्वयक संतोष कुमार मिश्रा, होशंगाबाद समन्वयक बनवारी लाल मलैया, राजगढ़ प्रतिनिध रमाकांत पांडेय तथा रजनी शर्मा सहित प्रतिभागिता करने वाले बच्चो के शिक्षक तथा अभिभावक उपस्थित थे।
—प्राचार्य—
शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय शाजापुर (म.प्र.)-465001
फ़ोन-07364227947
8120030149

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*