Fri 03 12 2021
Home / Breaking News / शाजापुर मेट्रो हॉस्पिटल पर कलेक्टर किया 50 हजार रुपए का अर्थदंड
शाजापुर मेट्रो हॉस्पिटल पर कलेक्टर किया 50 हजार रुपए का अर्थदंड

शाजापुर मेट्रो हॉस्पिटल पर कलेक्टर किया 50 हजार रुपए का अर्थदंड

शाजापुर। निजी चिकित्सालय मेट्रो हॉस्पिटल के संचालक द्वारा कोविड गाईड लाईन का पालन नही करने, आमजनता से अत्यधिक राशि वसूल कर उनका शोषण करने, उपचार कराने वालों एवं डिस्चार्ज किए गए मरीजों को बिल नहीं दिए जाने की मनमानी पर कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी दिनेश जैन ने मेट्रो हॉस्पिटल के संचालक पर 50 हजार रुपए का अर्थदण्ड अधिरोपित कर राशि तहसीलदार के माध्यम से तीन दिवस के भीतर रेडक्रास सोसायटी शाजापुर को जमा कराने के आदेश दिए हैं। साथ ही अस्पताल प्रबंधन द्वारा जिन मरीजों को उपचार पश्चात डिस्चार्ज के पश्चात अंतिम बिल प्रदाय नही किया गया है, उन्हे नियमानुसार ली जाने वाली राशि अनुसार बिल प्रदाय करने, यदि मरीज से निर्धारित राशि से अधिक राशि ली गई है तो अंतर की राशि तत्काल रूप से संबंधित मरीज को वापस करना सुनिश्चित करने के भी आदेश दिए गए हैं।
उल्लेखनीय है कि मेट्रो हास्पिटल के संचालक द्वारा मरीजों से मनमाने ढंग से राशि वसूल की जा रही थी, जिसकी शिकायत मिलने पर कलेक्टर ने तहसीलदार को जांच करने के निर्देश दिए थे। जांच में सामने आया कि मेट्रो हॉस्पिटल में मरीजों से अग्रिम राशि भर्ती के दौरान ली गई और उपचार पश्चात मरीज की छुट्टी करने के बाद संपूर्ण राशि जमा कराई गई लेकिन अंतिम बिल नहीं दिया गया। इसी प्रकार तहसीलदार शाजापुर राजाराम करजरे ने प्रस्तुत जांच प्रतिवेदन में बताया कि अशोक पाटीदार निवासी किलोदा तहसील गुलाना को स्वास्थ्य खराब होने पर 27 अप्रैल 2021 को मेट्रो हॉस्पिटल में उपचार के लिए लाया गया था। मरीज का स्वास्थ्य अत्याधिक खराब होने के कारण उसे कोरोना सस्पेक्टेड मानते हुए मेट्रो अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन उपचार के दौरान उसकी 29 अप्रैल 2021 को मृत्यु हो गई। उक्त मरीज की मृत्यु सस्पेक्टेड होने के कारण मृतक के शव को उनके परिजन की सुपुर्दगी में दे दिया गया। मृतक अशोक के अंतिम संस्कार ग्राम किलोदा में 30 अप्रैल 2021 को उनके पुत्रों, भाई एवं पिता व अन्य परिजनों द्वारा किया गया। इस प्रकार संबंधित अस्पताल प्रबंधन द्वारा अनुचित तरीके से मृतक अशोक पाटीदार का शव उनके परिजनों को सौंपा गया एवं इस संबंध में प्रशासन को सूचना देना भी उचित नहीं समझा। इस प्रकार संचालक मेट्रो अस्पताल शाजापुर के द्वारा मृतक अशोक पाटीदार के सस्पेक्टेड कैस के संबंध में निर्धारित कोविड गाईडलाईन का पालन न करते हुए मृतक अशोक के शव को परिवार को सौंपकर उसकी सूचना प्रशासन को न देना एक गंभीर लापरवाही है। ग्राम में मृतक का अंतिम संस्कार भी एक दिन पश्चात किया गया, जिससे कोरोना संक्रमण बढऩा संभावित था। इसे देखते हुए कलेक्टर ने 50 हजार रुपए का अर्थदण्ड अधिरोपित किया है। अस्पताल संचालक ने जुर्माने की राशि जमा करा दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*