Fri 03 12 2021
Home / Breaking News / मेगा शिविर का उद्देश्य लोगों में कानूनी जागरूकता उत्पन्न करना है-देवड़ा

मेगा शिविर का उद्देश्य लोगों में कानूनी जागरूकता उत्पन्न करना है-देवड़ा

सतगांव मंडी प्रांगण में विशाल विधिक साक्षरता मेला आयोजित, मौके पर हुआ लोगों की समस्या का निदान

शाजापुर। आजादी का अमृत महोत्सव के तहत समीपस्थ ग्राम नारायणगांव सतगांव मंडी प्रांगण में जिला प्रशासन के सहयोग से जिला एवं सत्र न्यायाधीश सुरेन्द्रकुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में मंगलवार को मेगा शिविर का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की शुरूआत जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्रीवास्तव, सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण राजेन्द्र देवड़ा,  कलेक्टर दिनेश जैन, पुलिस अधीक्षक पंकज श्रीवास्तव, बार अध्यक्ष अनिल आचार्य द्वारा मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्वलित एवं माल्यार्पण कर की गई। मेगा शिविर में बताया गया कि आजादी का अमृत महोत्सव के तहत सम्पूर्ण जिले के करीब 200 गांवों में 02 अक्टूंबर 2021 से 30 अक्टूंबर 2021 तक विधिक शिविर लगाए गए , जिसमें आम लोगों को कानूनी सलाह दी गई और कानून की सहायता प्राप्त करने के तरीके बताए गए।
सतगांव मंडी में आयोजित शिविर में करीब 35 गांवों के ग्रामीण सम्मिलित हुए। इस मौके पर न्यायाधीश राजेंद्र देवड़ा ने विधिक सहायता, लोक अदालत, विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा संचालित योजना तथा राज्य सरकार, केन्द्र सरकार द्वारा संचालित योजनाओं के बारे में विस्तार से बताया। इसके साथ ही उन्होने वर्तमान दौर में महिलाओं को समाज में समान अधिकार, समान वेतन पाने का अधिकार, नारी सशक्तिकरण के लिए विभिन्न विधिक प्रावधानों पर चर्चा करते हुए महिलाओं का उत्पीडऩ न करने, संपत्ति का अधिकार, गरिमामय जीवन जीने का अधिकार, अपराध से पीडि़त महिलाओं का नाम उजागर न करने का अधिकार, घरेलू हिंसा के खिलाफ अधिकार एवं मातृत्व संबंधी अधिकार आदि के बारे में विस्तृत रूप से बताया गया। साथ ही महिलाओं एवं बालिकाओं से सम्बन्धित कानूनों, घरेलू हिंसा, भरण पोषण आदि की विधिवत जानकारी दी गई। इसी तरह वरिष्ठ नागरिकों से सम्बन्धित कानूनों के बारे में जानकारी देते हुए वृद्धावस्था पेंशन, विधवा पेंशन योजना, राष्ट्रीय स्वास्थ्य योजना, मुकदमों में त्वरित कार्रवाई, टैक्स में छूट एवं नि:शुल्क कानूनी सहायता के बारे में बताया गया। शिविर में जिला एवं तहसील स्तर पर मामलों के त्वरित निस्तारण, दुघर्टना बीमा योजना, फसल बीमा योजना,  बाढ़ पीडि़तों को मिलने वाली सहायता राशि के बारे में जानकारी दी। शिविर में मौजूद लोगों को बताया गया कि जनपद के समस्त ग्राम पंचायतों में आयोजित आजादी का अमृत महोत्सव अभियान के संबंध में विधिक सेवा, सहायता गतिविधियों के आयोजन, व्यापक प्रचार-प्रसार के लिए टीमों का गठन किया गया है।
शिविर में विभागों ने लगाए स्टॉल
नालसा के निर्देश पर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की ओर से आयोजित मेगा कैंप में जिले के सभी विभागों की सेवाओं, योजनाओं के लिए विभागों द्वारा स्टॉल लगाए गए। सहायक संचालक मत्स्य उद्योग शाजापुर, जनपद पंचायत शाजापुर, जिला आपूर्ति अधिकारी, कार्यालय उपायुक्त सहकारिता, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, जल संसाधन विभाग, आत्मा परियोजना कृषि विभाग, उद्यानिकी विभाग, आयुष्मान विभाग, चाइल्ड लाइन सहित 35 विभागों के स्टॉल लगाए गए जिसमें आमजन के 98 आवेदन प्राप्त हुए जिनके निराकरण किए हेतु संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया  गया।
शिविर में बनाए ड्रायविंग लाइसेंस और आधार कार्ड
सतगांव में आयोजित विधिक जागरूकता शिविर में आम नागरिकों के मौके पर ही ड्रायविंग लाइसेंस, आधार कार्ड, प्रमाण पत्र, असंगठित क्षेत्र के मजदूरों का पंजीकरण, सरकार के विभिन्न विभागों की पेंशन योजना सहित विभिन्न योजना का लाभ दिया गया। इस दौरान न्यायाधीश देवड़ा ने कहा कि नालसा का प्रयास है कि सरकार की सभी योजनाएं, सेवाओं की पहुंच आम नागरिकों तक हो। शिविर में पुलिस विभाग की ओर से मोटर व्हीकल के पुराने चालान के केस भी निपटाए गए।
योजना का लाभ दिया, लोगों का वैक्सीनेशन किया
जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्रीवास्तव ने बताया कि शिविर में स्वास्थ्य विभाग की ओर से नि: शुल्क हेल्थ चेकअप तथा कोविड 19 से बचाव हेतु वैक्सीनेशन भी किया गया जिसके तहत 22 लोगों को वैक्सीन का दूसरा डोज लगाया गया। इस मौके पर आयोजित जनसुनवाई में 35 ग्राम पंचायतों को वीडियों कांफ्रेंसिंग के माध्यम से ऑनलाईन जोडक़र सुनवाई की गई। साथ ही शिविर में लाड़ली लक्ष्मी योजना, सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत 8 हितग्राहियों को प्रमाण पत्र भी मुख्य अतिथियों द्वारा प्रदान किए गए। इसके साथ ही सामाजिक न्याय विभाग की ओर से सतगांव निवासी संतोष पिता भोलाजी को बेसाखी, गणपत पिता लक्ष्मण, कलाबाई पति दयाराम को छड़ी वितरित की गई। कार्यक्रम के अंत में छात्राओं द्वारा लोक अदालत विषय पर नुक्कड़ नाटक की प्रस्तुति दी गई। इस अवसर पर एसडीएम शैली कनास, एएसपी टीएस बघेल, जिला होमगार्ड कमान्डेड विक्रमसिंह मालवीय, तहसीलदार राजाराम करजरे सहित हजारों ग्रामीण मौजूद थे। संचालन पैनल अधिवक्ता इन्दरसिंह गामी ने किया तथा आभार जनपद पंचायत सीईओ बाबूलाल पंवार ने माना।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*