Tue 30 11 2021
Home / Breaking News / मलजल योजना के नाम पर रहवासियों के लिए बढ़ाई जा रही मुसीबत
मलजल योजना के नाम पर रहवासियों के लिए बढ़ाई जा रही मुसीबत

मलजल योजना के नाम पर रहवासियों के लिए बढ़ाई जा रही मुसीबत

ब्लॉक कांग्रेस ने दी आंदोलन की चेतावनी
शाजापुर। नगरपालिका के जिम्मेदार अधिकारियों की उदासीन कार्यशैली के चलते ठेकेदार द्वारा मलजल योजना के नाम पर नव निर्मित सडक़ों की खुदाई कर रहवासियों की आसान डगर को मुसीबतभरा बनाने का काम किया जा रहा है। ठेकेदार की मनमानी और नपा अधिकारी के बीच सांठगांठ का आलम यह है कि कई मोहल्लों में खुदाई के बाद खंतियों को मिट्टी के ढेर से ढंका जा रहा है, जबकि नियमानुसार उक्त खोदी गई खंतियों को दोबारा से

मेंट से रिपेयर किया जाना है। उल्लेखनीय है कि शहर में मलजल योजना के तहत 70 करोड़ से अधिक की लागत से सीवरेज लाइन डाले जाने का काम किया जा रहा है, लेकिन जिम्मेदारों के उदसीन रवैये की वजह से निर्माण कंपनी के ठेकेदार द्वारा शहर के कई वार्डों में लाइन डालने के लिए खोदी गई खंतियों को मिट्टी से भरकर अपने काम की इतीश्री की जा रही है। सूत्रों के अनुसार यदि टेंडर शर्तों की बात करें तो खोदी गई सडक़ का ठेकेदार को पेंचवर्क करना है, परंतु वार्ड क्रमांक 5 महूपुरा मस्जिद रोड, पटेलवाड़ी रोड पर ठेकेदार द्वारा लाइन खोदने के बाद उस पर पेंचवर्क नही किया गया है, जिसकी वजह से रहवासियों को भारी असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि मामले में नगरपालिका के अधिकारी ठेकेदार को जिम्मेदार बताते हुए खंतियों को भराए जाने की बात कह रहे हैं।
ब्लॉक अध्यक्ष ने दी आंदोलन की चेतावनी
गौरतलब है कि शहर में चहुंओर सीवरेज लाइन डाले जाने को लेकर खुदाई का काम किया जा रहा है। खुदाई के लिए ठेकेदार द्वारा नवीन सडक़ों को भी खोदा जा रहा है। कुछ दिनों पहले वार्ड क्रमांक 29 में बनाई गई कांक्रीट रोड को मलजल योजना के ठेकेदार द्वारा खोदा जाने लगा, जिस पर ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष इरशाद खान और स्थानीय रहवासियों ने आपत्ति दर्ज कराई। खान ने बताया कि एक सप्ताह पूर्व वार्ड में सडक़ निर्माण कार्य हुआ था, जिसे ठेकेदार द्वारा मंगलवार को खोदा जाने लगा। खान की आपत्ति के बाद सडक़ खुदाई का काम रोका गया। खान ने चेतावनी दी है कि यदि ठेकेदार की मनमानी नही रूकी तो नगरपालिका के सामने धरना आंदोलन किया जाएगा।
इनका कहना है
सडक़ की खुदाई के बाद उसे रिपेयर करने की जिम्मेदारी ठेकेदार की है। यदि वह खंतियों को मिट्टी से ढंक रहा है तो उसे सीमेंट से दुरूस्त कराया जाएगा। ठेकेदार को निर्देशित करेंगे कि वह खोदे गए गड्ढों को नियमानुसार भरे।
-भूपेंद्र दीक्षित, मुख्यनगरपालिका अधिकारी शाजापुर।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*