Sat 27 11 2021
Home / Breaking News / मलजल योजना से बदहाल हुई सडक़ों को लेकर बिफरे भाजपाई
मलजल योजना से बदहाल हुई सडक़ों को लेकर बिफरे भाजपाई

मलजल योजना से बदहाल हुई सडक़ों को लेकर बिफरे भाजपाई

शाजापुर। नगरपालिका के जिम्मेदारों के साथ ठेकेदार द्वारा सांठगांठ कर मलजल योजना के तहत खोदी गई सडक़ें शहरवासियों के लिए मुसीबत का सबब बनी हुई हैं, जिसके चलते मलजल योजना को लेकर आयोजित किए जा रहे जागरूकता कार्यक्रम में भाजपा के जनप्रतिनिधियों ने जमकर हंगामा कर दिया और प्रशासन को कार्यक्रम स्थगित करना पड़ा। गौरतलब है कि शहर में करीब 73 करोड़ रुपए की लागत से मलजल योजना के अंतर्गत सीवरेज लाइन डाले जाने का कार्य किया जा रहा है। नियमानुसार ठेकेदार द्वारा सडक़ के बीचो-बीच खोदी गई खंतियों को लाइन डालने के बाद सीमेंट से पक्का करना है, लेकिन नगरपालिका अधिकारी भूपेंद्र दीक्षित के दोस्ताने की वजह से ठेकेदार द्वारा मनमानीपूर्वक सडक़ को खोदकर उसमें सीमेंट की जगह मिट्टी डाल दी गई है जो शहर के बाशिंदों के लिए सिरदर्द बनी हुई है। मामले में सीएम हेल्प लाइन पर भी कई बार शिकायत की गई, परंतु अधिकारियों से ठेकेदार की मिलीभगत होने से कोई कार्रवाई नही हुई, नतीजतन भाजपा के जनप्रतिनिधियों को जनता के हक के लिए विरोध प्रदर्शन करना पड़ा।
हंगामें के बाद स्थगित हुआ कार्यक्रम
उल्लेखनीय है कि शहर में 73 करोड़ की लागत से मलजल योजना के तहत सीवरेज लाइन डाले जाने का काम लंबे समय से किया जा रहा है, लेकिन लाइन डालने के दौरान ठेकेदार द्वारा नियमों की अनदेखी कर लोगों को मुसीबत परोसी जा रही है। इसी बीच परियोजना के प्रति लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से शनिवार दोपहर को 12 बजे ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ लोकल सेल्फ गवर्मेन्ट द्वारा नगरपालिका परिसर स्थित मांगलिक भवन में सेमिनार का आयोजन शुरू किया जाने लगा। इस दौरान पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष प्रदीप चंद्रवंशी, आशीष नागर सहित अन्य जनप्रतिनिधियों ने यह कहकर कार्यक्रम का विरोध किया कि कार्यक्रम में पहले सीवरेज लाइन डालने वाले ठेकेदार को बुलाया जाए, ताकि उसे समस्या बताई जा सके, किंतु नगरपालिका अधिकारी भूपेंद्र दीक्षित ने ठेकेदार को कार्यक्रम में बुलाने से इनकार कर दिया। इस बात पर भाजपा नेता और सीएमओ दीक्षित के बीच जमकर तीखी बहस भी हुई और हंगामा खड़ा हो गया। मौके पर मौजूद अपर कलेक्टर मंजूषा राय, एसडीएम शैली कनास ने हंगामा शांत कराने का प्रयास भी किया, परंतु आमजन को हो रही परेशानी के मद्देनजर भाजपाई अपनी बात पर अडिंग रहते हुए ठेकेदार को बुलाने की मांग करते रहे। अंतत: ठेकेदार को कार्यक्रम में नही बुलाया गया और कार्यक्रम को स्थगित करना पड़ा।
बदहाल सडक़ें बन रहीं मुसीबत, भाजपा बनी जनता की आवाज
शहर में लंबे समय से मलजल योजना के तहत सडक़ों की खुदाई कर लोगों को परेशानी में डाला जा रहा है, परंतु इसको लेकर कांग्रेस अब तक मैदान में नजर नही आई है। ऐसे में शनिवार को भाजपा जनता की आवाज बनी और अधिकारियों के समक्ष उबड़-खाबड़ सडक़ों के निराकरण की मांग को लेकर हंगामा कर दिया। करीब आधा घंटे चले हंगामें के बाद जागरूकता कार्यक्रम स्थगित करना पड़ा। इधर पूर्व नपाध्यक्ष चंद्रवंशी ने चेतावनी दी है कि यदि सीएमओ ने शहर की व्यवस्था नही सुधारी तो प्रदर्शन किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*