Fri 03 12 2021
Home / Breaking News / महिला को विधिक साक्षर करना महिला सषक्तिकरण का आधार – श्री गुर्जर अपर जिला जज
महिला को विधिक साक्षर करना महिला सषक्तिकरण का आधार – श्री गुर्जर अपर जिला जज

महिला को विधिक साक्षर करना महिला सषक्तिकरण का आधार – श्री गुर्जर अपर जिला जज

राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, नई दिल्ली एवं राष्ट्रीय महिला आयोग के समन्वय से दिनांक 28 नवम्बर 2020 को उत्कृष्ठ विद्यालय प्रांगण ग्राम पंचायत पनवाड़ी में कानूनी जागरूकता से महिला सषक्तिकरण विषय पर विधिक साक्षरता षिविर का आयोजन किया गया।

श्री सुरेन्द्र सिंह गुर्जर अपर जिला जज एवं सचिवत जिला विधिक सेवा प्रािधकरण, शाजापुर ने मुख्य अतिथि की
आसंदी से विचार व्यक्त करते हुए कहा की ‘‘कानूनी जागरूकता महिला सषक्तिकरण का अधार एवं उनकी सामाजिक उन्नति में सहायक है। श्री गुर्जर ने कहा की महिला या कोई भी व्यक्ति जब तक पूरे मन से शोषण व अन्याय का प्रतिकार नहीं करता तब तक बुराई का अंत नहीं हो सकता है, चाहे कितने ही कानून बन जाए। कानून तबी पीड़ित की मदद् कर सकता है जब वह  द्ढ निष्चय कर अपने दमन व शोषण के विरूद्ध आवाज उठाते है। उन्होने महिलाओं के संवैधानिक अधिकार के साथ ही विवाह एवं तलाक, भरण-पोषण,उत्तराधिकार कानून, दहेज प्रतिषेध, ऐसिड अटेक, घरूेलू-हिंसा, लैंगिक अपराधों के साथ ही मध्यप्रदेष अपराध पीड़ित प्रतिकर योजना के प्रावधानों को विस्तार से समझाया। तथा महिलाओं एवं बच्चों हेतु नियमित अंतराल पर ऐसे जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किये जाने पर बल दिया।
कार्यक्रम में राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, नई दिल्ली द्वारा महिला विधियों पर प्रषिक्षित रिर्सोस पर्सन अधिवक्ता सुश्री तन्जीम सिद्धिकी एवं श्रीमती तन्जीम लोधी द्वारा उपस्थित महिलाओं को घरूेलू-हिंसा से महिलाओं का सरक्षण अधिनियम, गिरफ्तारी के समय महिलाओं के अधिकार,आदि के बार में सरल भाषा में जानकारी दी। जनपद पंचायत के सीईओं श्री बाबूलाल पंवार ने जनपद पंचायत के अंतर्गत महिलाओं के कल्याणार्थ संचालित शासकीय योजनाओं व उनका लाभ प्राप्त करने की प्रक्रिया से अवगत कराया।पैनल अधिवक्ता एवं प्रषिक्षित मध्यस्थत श्री यूनस खान पठान द्वारा समाज में महिलाओं एवं बच्चों के साथ रोज घटित हो रहे अपराधों पर रोष व्यक्त करते हुए कहा कि यह समाज की कुण्ठीत मानसिकता, ओछी सोच व लैंगिग भेदभाव का परिणाम है आपने कहा की हमें महिला एवं बच्चियों के प्रति सोच बदलने का कार्य स्वंय के घर से शुरू करना होगा तभी हम आने वाली पीढ़ी को भयमुक्त समाज दे सकते है जो महिलाओं एवं बालिकाओं की प्रगति एवं सामजिक उन्नति में सहायक होगा।
परियोजना अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग सुश्री नेहा चैहान एवं प्रषासक वन स्टाप सेंटर सुश्री नेहा
जायसवाल द्वारा उपस्थित महिलाओं को शासन द्वारा संचालित वन स्टाप (सखी केन्द्र), पुलिस परिवार परामर्ष केन्द्र, महिला पुलिस की भूमिका एवं कार्यप्रणाली के बार में जानकारी देते हुए महिला हेल्पलाईन एवं चाईल्ड लाईन आदि की जानकारी से अवगत कराया गया।

कार्यक्रम स्थल उत्कृष्ठ विद्यालय पनवाडी में महिलाओं को प्रवेष देने से पूर्व कोविड-19 के दिषा-निर्देषों का कडाई से पालने करते हुए प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पनवाड़ी/ पंचायत विभाग से सहयोग से महिलाओं की थर्मल स्कैनिंग की गयी तथा सैननेटाईजिंग स्कैनिंग की गयी तथा सैनेटाईजेषन उपरांत मास्क के साथ उनकों संभागार में प्रवेष दिया गया।

उक्त कार्यक्रम में जिला पंचायत विभाग शाजापुर का सक्रिय सहयोग रहा। कार्यक्रम में जिला विधिक सहायता अधिकारी श्री दिग्विय सिंह, जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री बाबूलाल पंवार, वन स्टाप सेन्टर के प्रषासक सुश्री नेहा जायसवाल, परियोजना अधिकारी नेहा चैहान, ग्राम पनवाड़ी, पंचायत साॅपखेड़ा के सरपंच श्री ओमप्रकाष पाटीदार, पंचायत इन्सपेक्टर श्री विक्रम सिंह परिहार, सचिव श्री निलेष मारू, रोजगार सहायक श्री राकेष सूयवंषी, आगनवाडी कार्यकर्ता श्रीमती हेलमलता मेवाड़ा, एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण से श्री मनोहर सिंह मालवीय, श्री योगेन्द्र सिंह ठाकुर, श्री शुभम सिंह राजावत, एवं पीएलव्ही श्रीमती सीमा शर्मा, श्री आषुतोष शर्मा, कु. निकिता टेलर,, चाईल्ड लाईन से उनके कर्मचारीगण, पैनल अधिवक्ता श्री युनुस खान आदि उक्त कार्यक्रम के अवसर पर उपस्थित रहे। उक्त कार्यक्रम का संचालन पैनल अधिवक्ता मो.
यूनूस खान, शाजापुर द्वारा किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*