Fri 03 12 2021
Home / Breaking News / लोक निर्माण विभाग में अधिकारी-कर्मचारियों की मनमानी
लोक निर्माण विभाग में अधिकारी-कर्मचारियों की मनमानी

लोक निर्माण विभाग में अधिकारी-कर्मचारियों की मनमानी

पूरे माह का वेतन लेने के बाद उज्जैन से एक बार सेवा देने शाजापुर पहुंच रहा सहायक ग्रेड 2
शाजापुर। लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री की उदासीनता के चलते अधीनस्थ कर्मचारी जिला प्रशासन के आदेशों को धता बताते हुए विभाग में सेवा देने के नाम पर मनमानी कर रहे हैं। यही कारण है कि सहायक ग्रेड 2 के कर्मचारी विभाग में पूरे माह में एकाध बार ही आकर अपने कर्तव्यों की इतीश्री करते नजर आ रहे हैं और अधिकारी इस बात को जानते हुए भी अधीनस्थ पर नकेल कसने की बजाय उसका समर्थन कर रहे हैं। इतना ही नही विभाग के कार्यपालन यंत्री भी आवास आवंटन के नाम पर नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं।
गौरतलब है कि पंचदश मध्यप्रदेश विधानसभा के नवम सत्र को लेकर कलेक्टर दिनेश जैन ने आदेश जारी किया था कि जिले के सभी शासकीय एवं अशासकीय कार्यालयों में कार्यरत अधिकारी तथा कर्मचारी अपरिहार्य कारणों को छोडक़र अवकाश पर नही जा सकेंगे और ना ही जिला मुख्यालय छोड़ेंगे, लेकिन कलेक्टर के इस आदेश का लोक निर्माण विभाग के कार्र्यपालन यंत्री रविंद्रकुमार वर्मा की मिली भगत से अधीनस्थ कर्मचारी सहायक ग्रेड 2 ओमप्रकाश सुनेरी द्वारा बेखौफ होकर मखौल उड़ाया जा रहा है। सुनेरी की मनमानी का आलम यह है कि वह विभाग में सेवा देने सिर्फ माह में एक ही बार आता है। जबकि शासन से वेतन पूरे माह का ले रहा है। विभागीय सूत्रों के अनुसार सुनेरी उज्जैन में रहता है और माह में एक बार आकर रजिस्टर पर पूरे माह की उपस्थिति दर्ज कर चला जाता है।
आवास स्वीकृत होने के बाद भी उज्जैन में रहता है सुनेरी
लोक निर्माण विभाग में सहायक ग्रेड 2 के पद पर पदस्थ ओमप्रकाश सुनेरी वरिष्ठ अधिकारियों के समर्थन से शाजापुर में शासकीय आवास स्वीकृत होने के बाद भी उज्जैन में ही निवास कर रहा है। सुनेरी को पीडब्ल्यूडी कालोनी में शासकीय आवास स्वीकृत हुए वर्षों हो चुके हैं और इसका किराया भी सुनेरी के वेतन से काटा जा रहा है, लेकिन उक्त आवास में आज दिनांक तक सुनेरी रहने के लिए नही आया है और विभाग में भी माह में एकाध बार ही आकर अपने कर्तव्यों को पूरा कर रहा है। वर्तमान में सुनेरी को आवंटित किया गया आवास जीर्णशीर्ण होने लगा है। वहीं सुनेरी पर विभाग के वरिष्ठों की कृपा दृष्टि का इसी बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि जब एसडीओ से इस पूरे मामले में चर्चा की गई तो वह सुनेरी की पैरवी करते नजर आए।
अपात्र को आवंटित कर दिया आवास
लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री वर्मा भी नियमों की जमकर धज्जियां उड़ा रहे हैं। यही वजह है कि विभाग के शासकीय आवासों को अपात्र कर्मचारियों को आवंटित कर दिया गया है। 14 जुलाई 2021 को उपयंत्री को आवंटित किए गए आवास गृह क्रमांक जी 19 को कार्र्यपालन यंत्री ने निरस्त करते हुए सहायक ग्रेड 3 को आवंटित कर दिया है।  जबकि उक्त आवास ए क्लास के अधिकारियों को ही आवंटित किए जाने का प्रावधान है। आखिरकार क्या कारण रहा कि नियमों की अनदेखी कर उक्त आवास को आवंटित किया गया।
इनका कहना है
सहायक ग्रेड 2 सुनेरी को जो आवास स्वीकृत हुआ है वह जीर्णशीर्ण है। इसलिए सुनेरी उज्जैन से डेली अपडाउन करते हैं। माह में एक बार आने की बात गलत है। वहीं अपात्र कर्मचारियों को आवास आवंटित होने की जानकारी मुझे नही है।
-हर्षवर्धन, एसडीओ लोनिवि शाजापुर।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*