Fri 03 12 2021
Home / Breaking News / लोकल फॉर वोकल के लिए स्वदेशी अपनाएं, स्वयं का कारोबार खड़ा कर रोजगार बढ़ाएं-सोनी
लोकल फॉर वोकल के लिए स्वदेशी अपनाएं, स्वयं का कारोबार खड़ा कर रोजगार बढ़ाएं-सोनी

लोकल फॉर वोकल के लिए स्वदेशी अपनाएं, स्वयं का कारोबार खड़ा कर रोजगार बढ़ाएं-सोनी

शाजापुर। मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद एवं कंचन वेलफेयर एंड एजुकेशन सोसायटी के द्वारा सोमवार मध्यप्रदेश स्थापना दिवस पर आदर्श नगर में कार्र्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम के अतिथि के रूप में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विभाग कार्यवाह शैलेंद्र सोनी, भाजपा नगर मंडल अध्यक्ष नवीन राठौर, संभाग समन्वयक जन अभियान परिषद शिवप्रसाद मालवीय,  भाजपा जिला मीडिया प्रभारी विजय जोशी, विष्णु नागर, बसंत रावत, नवीन वर्मा मौजूद थे। मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत की गई। इसके बाद ब्लॉक समन्वयक रावत द्वारा अतिथियों का परिचय कराते हुए जन अभियान परिषद की अवधारणा एवं परिषद के द्वारा किए गए कार्यों के बारे में बताया। साथ ही उन्होने कहा कि मध्य भारत, विंध्य भारत और भोपाल को समाहित कर मध्यप्रदेश का निर्माण 1 नवंबर 1956 को किया गया, जिसमें तत्कालीन समय में 43 जिले थे और आज हमारा मध्य प्रदेश 52 जिलों को मिलाकर बना हुआ है। निश्चित रूप से हम स्वर्णिम मध्यप्रदेश की ओर बढ़ रहे हैं, लेकिन कहीं ना कहीं हमारी सहभागिता बहुत आवश्यक है इसलिए हम सबको आत्मनिर्भर भारत की ओर जाना होगा और हमें हर हाथ को काम देना होगा जिससे हम वोकल फॉर लोकल की ओर कदम बढ़ाते हुए मध्य प्रदेश को आत्मनिर्भर प्रदेश बना सकें। इसीके साथ नगर मंडल अध्यक्ष राठौर ने कहा कि मध्यप्रदेश के स्थापना दिवस पर कोरोना वाले मित्रों को सम्मानित किया जा रहा है, यह एक महत्वपूर्ण और शुभ अवसर है। ऐसे कार्यकर्ता जिन्होने स्वयं को बचाते हुए लोगों की रक्षा और सुरक्षा की है, ऐसे कोरोना वालेंटियर्स प्रशंसा के पात्र हैं। वहीं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विभाग कार्यवाह सोनी ने बताया कि समरसता ही हमारा अपना मध्यप्रदेश है। हमारा देश जाति, धर्म और आदि में ना बटे ऐसा हम प्रयास करेंगे तो निश्चित रूप से हमारा मध्यप्रदेश स्वर्णिम मध्यप्रदेश होगा। सोनी ने कहा कि जब तक हम प्रदेश में अपने काम खड़े नहीं करेंगे तब तक हमारा प्रदेश रोजगार की और बढ़ेगा। उन्होने कहा कि रोजगार स्वयं को पैदा करने होंगे और हम नौकर ना बनते हुए मालिक बने ऐसा काम करना होगा। उन्होने कहा कि नौकर काम करता है, लेकिन मालिक अनेक लोगों को रोजगार देता है, इस पद्धति पर यदि हम आगे बढ़ेंगे तो हमारे नगरों में और भी काम बढ़ेंगे और हम लोकल फॉर वोकल को सार्थक कर सकेंगे। उन्होने स्वदेशी अपनाने की अपील की। मालवीय ने कहा कि हम आज इस बात का संकल्प लें कि दीपावली के उपलक्ष्य में हर 3 परिवार में जाकर उन परिवारों के साथ बैठकर समरसता के भाव पैदा करेंगे। इस अवसर पर आमजन उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*