Mon 21 09 2020
Home / Breaking News / मांगों को लेकर 76 शाखाओं के 800 बैंक कर्मी रहे हड़ताल पर
मांगों को लेकर 76 शाखाओं के 800 बैंक कर्मी रहे हड़ताल पर

मांगों को लेकर 76 शाखाओं के 800 बैंक कर्मी रहे हड़ताल पर

शाजापुर। बुधवार को बैंकिंग संस्थाओं में कामकाज ठप्प रहा और लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। कारण अपनी मांगों को लेकर बैंक कर्मचारियों ने हड़ताल शुरू कर दी। अपनी मांगों को लेकर इन कर्मचारियों ने बैंक के सामने खड़े होकर नारेबाजी भी की।

यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन के बैनर तले जिलेभर के सभी बैंक कमर्चारियों ने अपनी वेतन सहित विभिन्न मांगों को लेकर दो दिवसीय हड़ताल शुरू कर दी। जिसके चलते बैंकों में ताले डले रहे और अपने काम से यहां आए लोगों को खाली हाथ लौटना पड़ा। बैंक कमर्चारियों का कहना है कि उन्होने वेतन बढ़ाने और शीघ्र वेतन समझौता लागू करने की मांग को लेकर कई बार अपनी मांग रखी, लेकिन नतीजा सिफर रहा। अग्रणी बैंक प्रबंधक अरूणकुमार गुप्ता ने बताया कि यदि सरकार ने दो दिनों की हड़ताल के बाद भी बैंक कमर्चारियों की मांगे नहींं मानी तो आने वाले दिनों में संगठन के आह्वान पर लंबे समय तक हड़ताल जारी रह सकती है। बुधवार को हड़ताल की शुरूआत में स्थानीय चौक बाजार स्थित एसबीआई शाखा के सामने सभी बैंक कमर्चारियों ने आईबीए के खिलाफ नारेबाजी कर विरोध प्रदर्शन से की। इस मौके पर एलडीएम श्री गुप्ता ने कहा कि आईबीए ने महज दो प्रतिशत वेतन वृद्धि की शुरुआती पेशकश की है जिसे यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस ने खारिज कर दिया है। बैंक कमर्चारियों को सम्मानजनक राशि मिलनी चाहिए।

एटीएम मशीनों ने भी छोड़ा साथ

बुधवार को बैंक कर्मचारियों की हड़ताल से वेतन   वृद्धि की मांग को लेकर चौक बाजार स्थित बैंक शाखा पर एकत्र होकर सभी बैंककमिर्यों ने रोष व्यक्त करते हुए नारेबाजी की। वक्ताओं ने सरकार से बैंक कमर्चारियों अधिकारियों के वेतन पुननिर्धारण को शीघ्रता से लागू करने की मांग की। इधर हड़ताल के कारण लेनदेन प्रभावित हुआ और एटीएम मशीनों पर भी भीड़ रही और शाम तक उनमें भी केश के लाले पडऩे लगे। जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक अरुणकुमार गुप्ता के मुताबिक हड़ताल के चलते जिलेभर की 76 शाखाओं में ताले डले रहे और बैंकों में दो दिनों तक पूरी तरह से काम बंद रहेगा जिसके चलते दो दिनों में लगभग 400 करोड़ रुपए का लेनदेन प्रभावित होने की संभावना है।