Thu 19 05 2022
Home / Breaking News / गोचर भूमि पर अवैध कब्जे की ग्रामीणों ने की कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर शिकायत
गोचर भूमि पर अवैध कब्जे की ग्रामीणों ने की कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर शिकायत

गोचर भूमि पर अवैध कब्जे की ग्रामीणों ने की कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर शिकायत

शाजापुर। गोशाला का रास्ता बंद करने और गोचर भूमि पर अवैध रूप से कब्जा कर खेती किए जाने की ग्रामीणों द्वारा लगातार जिम्मेदारों से शिकायत की जा रही है, लेकिन उनकी कोई सुनवाई नही की जा रही है। यही कारण है कि अब परेशान ग्रामीणों ने कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर दोबारा शिकायत कर समस्या का निराकरण किए जाने की मांग की है। ग्राम जाईहेड़ा में रहने वाले कृष्णपालसिंह और अन्य ग्रामीणों ने मंगलवार को कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर दिए गए शिकायती आवेदन में बताया कि उन्होने तहसील और कलेक्टर कार्यालय को लिखित में कई बार शिकायत की है कि गांव में शासकीय भूमि सर्वेे नंबर 330/1 और 330/2 रकबा 1.050 गोचर के नाम पर दर्ज है। उक्त भूमि पर भगवतसिंह पिता दुलेसिंह और लक्ष्मीनारायण पिता लालजीराम द्वारा अवैध ढंग से अतिक्रमण कर खेती किसानी की जा रही है। गोचर भूमि पर अवैध कब्जा होने से गांव की श्रीदेवनारायण गोपाल गोशाला की 130 गायों के लिए चारा-पानी के लिए प्रतिवर्ष लाखों रुपए खर्चा करना पड़ रहा है। शिकायत के बाद भी समस्या की हल नही किया जा रहा है। इसीके साथ आवेदन में बताया कि बीते कुछ दिनों से गांव के कुछ लोगों ने गोशाला का रास्ता ही बंद कर दिया है जिसके कारण गोवंश की सेवा नही कर पा रहे हैं। यदि समस्य रहते रास्ता नही खुलवाया गया तो गोवंशों की मृत्यु होने की संभावना है।
पांच वर्ष से गोचर भूमि पर अतिक्रमण
उल्लेखनीय है कि ग्राम जाईहेड़ा स्थित शासकीय गोचर भूमि पर अवैध अतिक्रमण की शिकायत बीते पांच वर्षों से ग्रामीणों के द्वारा प्रशासन से की जा रही है। ग्रामीणों ने बताया कि लगातार शिकायत के बाद गांव के पटवारी ने जनवरी 22 में अवैध अतिक्रमण का पंचनामा बनाया था, लेकिन इसके बाद मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया गया और यही कारण है कि उक्त गोचर भूमि पर अतिक्रमण अब भी बरकरार है। ग्रामीणों ने बताया कि उन्होने सीएम हेल्पलाइन पर भी शिकायत की है, परंतु वहां से भी कोई सुनवाई नही हुई है। ग्रामीणों ने प्रशासन से गोचर भूमि को अतिक्रमण मुक्त करने की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*