Tue 07 12 2021
Home / Breaking News / गरीबों की थाली से गायब हुआ मुफ्त मिलने वाला राशन, पीडीएस दुकान बनी प्याज-लहसुन का गोदाम
गरीबों की थाली से गायब हुआ मुफ्त मिलने वाला राशन, पीडीएस दुकान बनी प्याज-लहसुन का गोदाम

गरीबों की थाली से गायब हुआ मुफ्त मिलने वाला राशन, पीडीएस दुकान बनी प्याज-लहसुन का गोदाम

शाजापुर। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत गरीबों की थाली तक मुफ्त पहुंचने वाला राशन जिम्मेदारों के द्वारा भ्रष्टाचार का डकार लिए जाने का मामला सामने आया है। वहीं जिम्मेदारों की मनमानी का आलम यह है कि उन्होने गरीबों को मुफ्त राशन देने की बजाय उसे अवैध ढंग से ठिकाने लगाते हुए पीडीएस दुकान में प्याज, लहसुन और ट्रैक्टर खड़ा कर दिया है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत गरीबों को पांच किलो अनाज मुफ्त देने की योजना है। योजना के तहत शाजापुर जिले के डोकरगांव में जय मां दुर्गा स्व सहायता समूह द्वारा पीडीएस की दुकान संचालित की जा रही है और यहां सेल्समैन ने राशन वितरण में भारी गड़बड़ी करते हुए नवंबर माह में योजना का लाभ अधिकांश उपभोक्ताओं को नही दिया है। वहीं गांव के कई उपभोक्ताओं का आरोप है कि उन्हे एक वर्ष से राशन नही दिया गया है।
दुकान को बनाया लहसुन-प्याज का गोदाम
ग्राम डोकरगांव में पीडीएस दुकान को प्याज-लहसुन का गोदाम बना दिया गया है। नियमानुसार दुकान में केवल पीडीएस राशन ही रखा जा सकता है, लेकिन दुकान में प्याज, लहसुन और ट्रैक्टर खड़ा किया जा रहा है। इसीके साथ पीडीएस का माल भी रखा हुआ है। ग्रामीणों ने बताया कि दुकान की महिला सेल्समैन है और वह कभी दुकान पर बैठती ही नहीं हैं जिसके कारण अधिकांश समय दुकान बंद रहती है और दुकान में हर समय खेती का माल भरा रहता है। उल्लेखनीय है कि बीपीएल श्रेणी के उपभोक्ताओं के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत प्रति व्यक्ति पांच किलो अनाज नि:शुल्क दिया जाता है और पांच किलो अनाज सशुल्क एक रुपए किलो में दिए जाने का प्रावधान है, परंतु पूरा नवंबर माह बीतने को है और गांव के उपभोक्ताओं को अभी तक नि:शुल्क राशन का वितरण नहीं किया गया है जिसके कारण उन्हे दुकान के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं। उपभोक्ताओं ने बताया कि उन्हे केवल एक रुपए किलो मिलने वाला सशुल्क राशन दिया गया है, जबकि नि:शुल्क राशन नही दिया गया है।
एक साल से नही मिला पीडीएस राशन
प्रधानमंत्री गरीब कल्याण याजना के तहत डोकरगांव ग्राम पंचायत के 80 वर्षीय बुजुर्ग खुबाजी को एक साल से पीडीएस के तहत मिलने वाले राशन का लाभ नहीं मिला है। बुजुर्ग राशन के लिए जाता है, लेकिन थंब मशीन पर अंगूठा नही आने से उसे राशन नहीं दिया जाता। खुबाजी पिता देवाजी 80 वर्ष कच्चे मकान में रहते हैं और इनके अलावा परिवार में दो बेटे हैं वे भी मजदूरी का काम करते हैं। गरीबी रेखा में आने पर इन्हे अन्त्योदय राशन कार्ड मिला है, परंतु पीडीएस में राशन लेने के लिए मशीन से थंब लगाना पड़ता है और थंब के बाद राशन मिलता है। विगत एक वर्ष से खुबाजी को थंब मशीन पर निशान नही आने से एक वर्ष से राशन नहीं दिया गया है। कोरोनाकाल में ऑफलाइन राशन का वितरण हुआ, लेकिन इस दौरान भी इस बुजुर्ग को राशन से वंचित रखा गया। नियमों की बात करें तो पीडीएस में नियमानुसार परिवार के अन्य सदस्य के थंब से भी राशन मिल सकता है, किंतु सेल्समैन बहाना बनाकर राशन नहीं दे रहा है। इसी तरह गांव अन्य लोग भी हैं जिन्हे राशन नहीं दिया जा रहा है।
इनका कहना है
पीडीएस के तहत आने वाली राशन दुकानों को रोजाना खोलना आवश्यक है। इसमें अवकाश का कोई प्रावधान नहीं है, क्योंकि इसे आवश्यक सेवाओं में शामिल किया गया है। पीडीएस दुकान में केवल पीडीएस का माल ही रखा जा सकता है। अन्य सामान क्यों रखा गया है इसकी जांच करवाता हूं।
-अजय खरारिया फूड इंस्पेक्टर शाजापुर।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*