Tue 30 11 2021
Home / Breaking News / जब जिम्मेदारों नही सुनी फरियाद तो रहवासियों ने ही आवागमन के लिए किया कच्चे मार्ग को आसान
जब जिम्मेदारों नही सुनी फरियाद तो रहवासियों ने ही आवागमन के लिए किया कच्चे मार्ग को आसान

जब जिम्मेदारों नही सुनी फरियाद तो रहवासियों ने ही आवागमन के लिए किया कच्चे मार्ग को आसान

शाजापुर। जिम्मेदारों की उदासीनता के चलते वर्षों से सडक़, पानी और बिजली के लिए परेशान रहवासियों ने अब समस्या से निपटने के लिए स्वयं ही कदम आगे बढ़ाए हैं। हालांकि रहवासी पूरी तरह से समस्या को खत्म करने में तो कामयाब नही हो सके हैं, लेकिन उनकी मेहनत की वजह से कुछ हद तक कालोनी की डगर आसान जरूर हो गई है। शाजापुर शहर के वार्ड क्रमांक 25 रामदयाल नगर के रहवासी बीते तीन वर्षों से सडक़, पानी और बिजली के लिए संघर्ष कर रहे हैं। वार्ड में कच्ची सडक़ होने की वजह से बारिश के दिनों में रहवासियों का घर से बाहर निकलना भी दुभर हो रहा है। रहवासियों का कहना है कि उन्होने जिम्मेदारों से सडक़ निर्माण के लिए कई बार गुहार लगाई, परंतु उनकी कोई सुनवाई नही की गई। आखिरकार शुक्रवार को रहवासियों ने कीचड़ से पटे मार्ग की दशा बदलने का फैसला किया और स्थानीय स्तर पर राशि एकत्रित कर गिट्टी चूरी डलवाकर मार्ग को आवागमन हेतु तैयार किया।
महंगी बिजली और मुश्किल भरी डगर
रामदयाल नगर के रहवासी बीते तीन वर्षों से असुविधाओं की बांट जौह रहे हैं। कालोनी में अव्यवस्था का आलम यह है कि यहां के रहने वाले परिवारों को अब तक महंगी बिजली से ही अपना घर रोशन करना पड़ रहा है। रहवासियों का कहना है कि उन्हे दस हजार रुपए जमा कराकर अस्थाई बिजली कनेक्शन दिया गया है, जिसके एवज में बिजली कंपनी प्रतिमाह 4 हजार से 5 हजार रुपए तक वसूल करती है। इसीके साथ कच्ची सडक़ होने से बेहद परेशानी उठानी पड़ रही है। जिम्मेदारों के पास शिकायत लेकर जाते हैं तो वे जल्द ही समस्या को हल करने का आश्वासन देते हैं, लेकिन अब तक समस्या का कोई समाधान नही किया गया है। रहवासियों ने शीघ्र ही वार्ड में सीसी रोड, पक्की नाली बनवाने की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*