Mon 17 02 2020
Home / Breaking News / मां लक्ष्मी के आगमन को लेकर घरों की दहलीज पर सजाई रंगोली-Photo Gallery
मां लक्ष्मी के आगमन को लेकर घरों की दहलीज पर सजाई रंगोली-Photo Gallery

मां लक्ष्मी के आगमन को लेकर घरों की दहलीज पर सजाई रंगोली-Photo Gallery

शाजापुर। दीपोत्सव का पर्व जिलेभर में धूमधाम से मनाया गया और इस दिन अलसुबह से ही बाजार पूरी तरह से सजधज कर तैयार हो गया। मिठाई, हारफूल, सजावटी सामान से लेकर इस साल धानी की दुकानें तक जल्दी ही खुल गईं। वहीं सुबह जल्दी उठकर महिला और युवतियों ने रंगों से घर की दहलीज को सजाकर मां लक्ष्मी के आगमन की तैयारी की। इसीके साथ युवा और बच्चों ने जमकर आतिशबाजी का लुत्फ उठाया। व्यापारियों ने शुभ मुहूर्त में अपने व्यापारिक प्रतिष्ठानों पर महालक्ष्मी की महा पूजा कर सुख.वैभव एवं धन समृद्धि की कामना की। इसके बाद शुरू हुआ आतिशबाजी का दौर देररात तक चलता रहा। रविवार को सुबह से शुरू हुआ उल्लास का पर्व दीपावली शाम होते-होते अपनी पूरी रौनक पर था। शुभ मुहूर्त में जहां व्यापारिक प्रतिष्ठानों पर महालक्ष्मी की महा पूजा कर सुख-वैभव एवं धन समृद्धि की कामना की गई तो वहीं परम्परानुसार बड़ों के पांव छू कर आशीर्वाद लिया गया। उल्लेखनीय है कि दीपावली पर मां लक्ष्मी की पूजा का विधान है और इसी मान्यता के चलते एक ओर जहां बाजार जल्दी ही खुल गए थे तो दूसरी ओर महिलाएं भी अलसुबह से ही घरों की साफ-सफाई में जुटी हुई थीं। बाद में सजधज कर महिलाओं और युवतियों ने अपने हुनर को रंगोली के माध्यम से जमींन पर उकेरा। घरों के साथ-साथ व्यापारिक प्रतिष्ठानों पर भी सजावट कर रंगोली बनाई गई। दीपावली के दिन भी बाजार में सभी तरह के सामानों की खरीददारी की गई। हालांकि इस दिन विशेषकर मिठाई, रंगोली और साज-सज्जा के सामानों की बिक्री के साथ पूजन सामग्रियों और गन्ने की बिक्री अधिक हुई। दीपावली के पर्व पर दुकानों और प्रतिष्ठानों पर लक्ष्मीजी के साथ-साथ प्रथम पूज्य गणेश और धन के देवता कुबेर की भी पूजा की गई।
आतिशबाजी से जगमगाया आकाश
उत्साह और उमंग के बीच शाम को दीपावली का पर्व अपने पूरे शबाब पर पहुंचा और लोगों ने शुभ मुहूर्त में स्वस्तिक और श्रीयंत्र के साथ महालक्ष्मी की पूजा की। अधिकांश लोगों ने परम्परानुसार गोधुली बेला में पूजन कर जमकर आतिशबाजी की। वहीं नगर के एक मात्र गजलक्ष्मी मंदिर में भी विशेष पूजा पाठ का दौर चलता रहा। महालक्ष्मी की महापूजा के बाद अमावस्या में भी आसमान रंग-बिरंगी रोशनी से सराबोर नजर आया और महंगाई के बावजूद दीपावली की रोनक कहीं से सभी कम नजर नहीं आई। महापर्व का इंतजार कर रहे बच्चों के साथ.साथ उम्र दराज लोगों ने भी उत्साह के साथ दीपावली का पर्व मनाया और इसीके चलते आकाश जहां पटाखों की रोशनी से नहाया हुआ था तो धरा पर घर आंगन में सजे दीपमाला की रोशनी की कुछ अलग ही छटा बिखरी थी।

०००००००००००००००००००००
कलेक्टर ने ग्रामीण बच्चों के साथ मनाई दीपावली
फोटो-27एसजेआर17- बच्चों को मिठाई और पेन वितरित करते कलेक्टर।
शाजापुर। कलेक्टर डॉ वीरेन्द्रसिंह रावत ने ग्रामीण क्षेत्रों का भ्रमण कर बच्चों के साथ दीपावली मनाई। इस दौरान उन्होने बच्चों को पेन, कॉपी, मिठाई एवं पटाखे वितरित किए। इस दौरान पर वधायक प्रतिनिधि आशुतोष शर्मा भी मौजूद थे। उनके द्वारा भी ग्रामीण बच्चों को पेन, कॉपीए मिठाई एवं पटाखे आदि वितरित किए गए। सर्वप्रथम कलेक्टर ने ग्राम सतगांव में कुपोषण से प्रभावित बच्चा यश माता ममता पिता शंकर के यहां जाकर उसे मिठाई और पटाखे वितरित किए। साथ ही बच्चे की माता से बच्चे को दिए जाने वाले पोषण आहार की जानकारी ली। इसके बाद उन्होने ग्रामीण बच्चों के साथ दीपावली मनाई और अनार छोड़ यहां बच्चों से उन्होने शिक्षा के बारे में पूछा। इसी तरह ग्राम कांजा पहाड़ी, गांधीग्राम, खेड़ा पहाड़ एवं इमलीखेड़ा में भी बच्चों के साथ दीपावली मनाई और पटाखे, मिष्ठान आदि वितरित किए। इस दौरान बच्चों को स्वेटर्स भी प्रदान की गई। ग्रामीण क्षेत्रों के भ्रमण में अनुविभागीय अधिकारी यूएस मरावी, आबकारी अधिकारी सुश्री मंदाकिनी दीक्षित, महिला एवं बाल विकास कार्यक्रम अधिकारी सुभाष जैन, तहसीलदार सत्येन्द्र बैरवा भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*