Fri 10 07 2020
Home / Breaking News / धर्म गुरूओं की कलेक्टर ने ली बैठक,
धर्म गुरूओं की कलेक्टर ने ली बैठक,

धर्म गुरूओं की कलेक्टर ने ली बैठक,

शाजापुर। लॉक डाउन के दौरान पुलिस द्वारा बरती जा रही सख्ती के बाद सडक़ें अब पूरी तरह से वीरान रहने लगी हैं। कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए देश को 21 दिनों के लिए लॉक

डाउन किया गया है। लॉक डाउन के दौरान दूध, सब्जी और किराना सामान खरीदने के लिए लोगों को निर्धारित समय के लिए घरों से बाहर निकलने की अनुमति दी गई है। इसीके साथ पुलिस प्रशासन अनावश्यक रूप से सडक़ों पर घूमने वाले लोगों के खिलाफ भी सख्ती दिखाने लगा है जिसकी वजह से सडक़ों पर अनावश्यक लोगों का निकलना बंद हो गया है। साथ ही जिला प्रशासन ने सभी धर्म गुरूओं की गुरुवार को रेस्ट हाउस पर बैठक ली।
कलेक्टर डॉ वीरेंद्रसिंह रावत, पुलिस अधीक्षक पंकज श्रीवास्तव ने कोरोना के खात्मे के लिए जारी जंग में धर्म गुरूओं से सहयोग करने की अपील की। कलेक्टर डॉ रावत ने धर्म गुरूओं से कहा कि विश्वभर में कोरोना का कहर जारी है, और इस लाइलाज बीमारी से बचने के लिए सतर्कता बेहद जरूरी है। कोरोना की रोकथाम के लिए लोगों की भीड़ जमा नही होने देना पहली प्राथमिकता है। कलेक्टर डॉ रावत ने कहा कि मंदिर, मस्जिद, गुरूद्वारे और चर्चों में भीड़ जमा न हो इसको लेकर धर्म गुरू समाज के लोगों को समझाएं। कलेक्टर ने बताया कि सभी धर्म संप्रदाय के लोग प्रशासन का सहयोग कर रहे हैं और यह सहयोगात्मक रवैया आगे भी जारी रखें। मंदिरों में पूजन के लिए और मस्जिदों में नमाज के लिए लोगों की भीड़ एकत्रित नही होने देने की जिम्मेदार भी धर्म गुरूओं को सौंपी गई।
ग्राहकों में दूरी रखने के लिए बनाए सर्कल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*