Thu 06 08 2020
Home / Shajapur News / 30 जुलाई 2020 के न्यायिक फैसले

30 जुलाई 2020 के न्यायिक फैसले

अवैध रूप से शराब बेचने वाले आरोपी का जमानत आवेदन निरस्त

शाजापुर। बिना लायसेंस के शराब बेचने वाले आरोपी का न्यायालय ने जमानत आवेदन निरस्त कर दिया है। जिला मीडिया प्रभारी सचिन रायकवार एडीपीओ शाजापुर ने बताया कि न्यायालय मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट शाजापुर द्वारा आरोपी भीमा पिता बद्रीलाल निवासी ग्राम गिरवर थाना कोतवाली शाजापुर जिला शाजापुर का जमानत आवेदन पत्र निरस्त किया गया है। 26 जुलाई 2020 को कोतवाली पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर कार्रवाई करते हुए ग्राम गिरवर में आरोपी भीमा को बिना लाईसेंस के अवैध रूप से शराब बेचने पर 23 क्वाटर देशी प्लेन शराब तथा दो कच्ची शराब की 30-30 लीटर की भरी हुई कैन के साथ गिरफ्तार किया था। जमानत आवेदन का तुलसी मानकर एडीपीओ शाजापुर द्वारा वीसी के माध्यम से तर्क देते हुए विरोध किया गया।
००००००००००००००
नाबालिक का बुरी नियत से हाथ पकडऩे वाले आरोपी को 5 साल की सजा, 12 हजार का जुर्माना
शाजापुर। नाबालिक का बुरी नीयत से हाथ पकडऩे वाले आरोपी को न्यायालय ने 5 साल की सजा और जुर्माने से दंडित किया है। न्यायालय विशेष न्यायाधीश लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 एवं द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश शाजापुर द्वारा आरोपी संदीप पिता विष्णु चौखुटिया उम्र 19 वर्ष निवासी ग्राम सुनेरा जिला शाजापुर को धारा 452 भादसं में 3 वर्ष के सश्रम कारावास और 2000 रुपए के अर्थदण्ड से दण्डित किया गया है। जुर्माना अदा नही करने पर 6 माह के अतिरिक्त सश्रम कारावास की भी सजा सुनाई है। वहीं धारा 354 भादसं में 3 वर्ष के सश्रम कारावास और 5000 रुपए के अर्थदण्ड से दण्डित किया गया। जुर्माना अदा नही करने पर 1 वर्ष के अतिरिक्त सश्रम कारावास की भी सजा सुनाई। धारा 8 लैंगिक आपराधों से बालकों का सरंक्षण अधिनियम 2012 में 5 वर्ष के सश्रम कारावास और 5000 रुपए के अर्थदण्ड से दण्डित किया गया। जुर्माना अदा नही करने पर 1 वर्ष के अतिरिक्त सश्रम कारावास के आदेश दिए हैं। जिला लोक अभियोजन अधिकारी एवं विशेष लोक अभियोजक देवेन्द्र मीणा ने बताया कि उक्त अर्थदण्ड की राशि जमा होने पर उसमें से 10, 000 रुपए प्रतिकर स्वरूप पीडि़ता को उसके वैध सरंक्षक के माध्यम से अपील अवधि पश्चात अपील नही होने पर प्रदान किए जाने के भी आदेश दिए गए हंै। पीडि़ता को उचित प्रतिकारात्मक राशि दिलाए जाने बाबत जिला विधिक सेवा प्राधिकरण शाजापुर को अनुशंसा भी न्यायालय द्वारा की गई है। देवेन्द्रा मीणा ने बताया कि 8 मार्च 2019 को दिन के करीब 1 बजे आरोपी ने पीडि़ता के घर के अंदर घुस कर बुरी नीयत से पीडि़ता का हाथ पकड़ लिया था। पीडि़ता ने उक्त घटना की रिपोर्ट थाना सुनेरा पर लिखाई थी। मामले में आरोपी को दोषी पाते हुए न्यायालय ने दंडित किया है। उल्लेखनीय है कि संचालक लोक अभियोजन महानिदेशक पुरूषोत्तम शर्मा का बालकों के विरूद्ध होने वाले लैंगिक शोषण के अपराधों के प्रति सख्त रवैया है और उनके द्वारा पॉक्सो एक्ट के प्रकरणों की लगातार समीक्षा की जा रही है। इस प्रकरण की भी उनके द्वारा मॉनिटरिंग की जा रही थी और इस हेतु राज्य समन्वयक के पद पर सुश्री सीमा शर्मा एडीपीओ रतलाम की नियुक्ति भी की गई है।
०००००००००००००००००
स्थाई वारंटी को जेल भेजा
शाजापुर। स्थाई वारंटी को न्यायालय ने जेल भेजा है। जिला मीडिया प्रभारी सचिन रायकवार एडीपीओ शाजापुर ने बताया कि न्यायालय मुख्य न्यायिक दण्डाधिकारी शाजापुर द्वारा आरोपी लाखन पिता अंबाराम निवासी खरेली थाना मक्सी को जेल वारंट बनाकर जेल भेजा गया है। थाना बेरछा के आरक्षक निलेश पटेल के द्वारा आरोपी लाखन को न्यायालय में पेश किया गया था। आरोपी के विरूद्ध चोरी के अपराध का मामला न्यायालय में लंबित है जिस पर 06 नवंबर 2019 को आरोपी के विरूद्ध स्थाई वारंट जारी किया गया था। जिसके पालन में थाना बेरछा द्वारा आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया था।
०००००००००००००००००
मारपीट के अपराध के 3 स्थाई वारंटियों को जेल भेजा
शाजापुर। जिला मीडिया प्रभारी सचिन रायकवार एडीपीओ शाजापुर ने बताया कि न्यायालय जेएमएफसी शाजापुर संजीवकुमार पालीवाल द्वारा आरोपी दिनेश पिता निर्भयसिंह गुर्जर निवासी टांडा बंजारी, 2ण् ांगीलाल पिता बापूलाल भील निवासी मकोड़ी और जीवन पिता रूग्गा उर्फ रूघनाथसिंह निवासी टांडा बंजारी को जेल वारंट बनाकर जेल भेजा गया है। थाना बेरछा पुलिस के द्वारा आरोपियों को न्यायालय में पेश किया गया था। आरोपियों के विरूद्ध मारपीट के अपराध का मामला न्यायालय में लंबित है। 15 नवंबर 2019 को आरोपियों के विरूद्ध स्थाई वारंट जारी किया गया था जिसके पालन में थाना बेरछा द्वारा आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया था।
०००००००००००००००००
दुष्कर्मी का जमानत आवेदन निरस्त
शाजापुर। जिला मीडिया प्रभारी सचिन रायकवार एडीपीओ शाजापुर ने बताया कि न्यायालय चतुर्थ अपर सत्र न्यायाधीश शुजालपुर द्वारा आरोपी राजेश पिता भगवानसिंह मालवीय उम्र 25 वर्ष निवासी मोहम्मदपुर मछनाई थाना कालापीपल का जमानत आवेदन पत्र अभियोजन की ओर से वीसी के माध्यम से संजय मोरे द्वारा दिए गए तर्कों से सहमत होते हुए निरस्त किया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार 29 जून 2020 को रात्रि करीब 8 बजे पीडि़ता अपने घर के आंगन में बैठी थी उसके माता पिता घर के पीछे वाले कमरे में थे। उस समय आरोपी राजेश एकदम से आया और पीडि़ता को खीचकर पीछे जंगल के नाले में ले गया और उसके साथ जबरन दुष्कर्म किया। पीडिता जोर से चिल्लाई तो आरोपी ने उसका मुंंह दबा दिया ओर बोला की घटना किसी को बताई तो जान से खत्म कर देगा। पीडि़ता ने घटना की रिपोर्ट थाना कालापीपल पर की। अनुसंधान के दौरान 01 जुलाई 20 को आरोपी को गिरफ्तार कर सक्षम न्यायालय में पेश किया गया। जब से आरोपी उप जेल शुजालपुर में बंद है। शुक्रवार को को आरोपी का जमानत आवेदन पत्र न्यायालय  द्वारा निरस्त किया गया।
०००००००००००००००००
ट्रैक्टर चोरी के आरोपी का जमानत आवेदन निरस्त
शाजापुर। ट्रैक्टर चोरी के आरोपी का न्यायालय ने जमानत आवेदन निरस्त कर दिया है। जिला मीडिया प्रभारी सचिन रायकवार एडीपीओ शाजापुर ने बताया कि न्यायालय जेएमएफसी शुजालपुर धीरजकुमार द्वारा आरोपी अरसद खां पिता आजाद खां निवासी निपानिया थाना अकोदिया का जमानत आवेदन पत्र अभियेाजन की ओर से वीसी के माध्यम से कमल गोयल एडीपीओ के तर्कों से सहमत होते हुए निरस्त किया गया है। सहायक जिला मीडिया प्रभारी संजय मोरे ने बताया कि 17 जुलाई 2020 की रात्रि 10 बजे फरियादी बसंतीलाल ने सोनालीका ट्रैक्टर अपने बाड़े में खड़ा किया था, जिसे अज्ञात बदमाश चुराकर ले गए थे। मामले की रिपोर्ट फरियादी ने थाना शुजालपुर सिटी पर की थी। अनुसंधान के दौरान आरोपी को गिरफ्तार किया गया था। शुक्रवार 31 जुलाई 2020 को आरोपी का जमानत आवेदन पत्र न्यायालय द्वारा निरस्त किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*