Sat 14 05 2022
Home / Articles

Articles

समग्र चितन- मुद्दे में उलझता विकास

– पंंडित मुस्तफा आरिफ भारत का संविधान विश्व का एक मात्र ऐसा संविधान हैं जो हमें सर्वाधिक आज़ादी देता हैं, सोचना हमें हैं कि इस आजादी का कैसा उपयोग करें। हमारी बेहतरी सदुपयोग करने में हैं। जैसे यूनिफॉर्म का मुद्दा, ये मज़हबी आस्था से ऊपर अनुशासन का मुद्दा हैं। हम उदाहरण के तौर पर नमाज़ को ले, जिसको अदा करने मैं सर्वाधिक अनुशासन की ज़रूरत होती हैं, आपने अधिकांश मुस्लिम महिलाओं का नमाज़ अदा करते हुए Read More »

गीता आत्मसात करने का ग्रंथ हैं जो हमें जागृत करता हैः पंडित मुस्तफा

भूत के भाव के स्वभाव को त्यागना गीता हैः श्री केसरी गीता आत्मसात करने का ग्रंथ हैं जो हमें जागृत करता हैः पंडित मुस्तफा डॉ० शिवमंगल सिंह सुमन स्मृति शोध संस्थान में गीता जयंती समारोह का आयोजन रतलाम। डॉ शिवमंगलसिंह सुमन स्मृति शोध संस्थान में गीता जयंती पर ‘वर्तमान समय मे गीता की प्रासंगिकता’ विषय पर आयोजित संगोष्ठी में मुख्य अतिथि गीता के मर्मज्ञ श्री आर.एस केसरी सेवानिवृत्त डीएसपी ने अपने उद्बोधन में कहा कि भूत के भाव के स्वभाव को त्यागना गीता है । उन्होंने गीता के अठारह अध्यायों के प्रमुख श्लोको के माध्यम से कर्म योग,ज्ञान योग,सांख्य योग अक्षर ब्रह्म योग ,आदि अठारह योगों की सारगर्भित व्याख्या करते हुए कहा कि गीता को तत्व से जानिए , गीता कर्तव्यों का सार है । गीता में ह्रदयम पार्थ ! गीता में ज्ञायम वयं ! गीता में परम् पदम् ! आदि आदि को उल्लेखित करते हुए आर.एस केसरी ने अपने विस्तृत व्याख्यान में गीता की सांगोपांग व्याख्या की । विशेष आतिथ्य प्रदान कर रहे पंडित संजय शिवशंकर दवे ने कहा कि गीता केंद्र है । गीता बहाय परिप्रेक्ष्य का आयाम नही है । गीता एक ऐसा दर्पण है जो अपने अस्तित्व का परिचय कराती है । कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे पंडित मुस्तफा आरिफ ने महादेवी वर्मा की पंक्ति ‘जाग तुझको दूर जाना’ के माध्यम से कहा कि गीता हमे जागृति का संदेश देती है । गीता आत्मसात करने का ग्रन्थ है । गीता के माध्यम से हमारे कर्मो की प्रासंगिकता है । गीता में विभिन्न योगों की प्रतिष्ठा है ... Read More »

पृथ्वी का सुरक्षा कवच है ओजोन परत, जिंदगी के लिए बहुत जरूरी है इसे बचाएं:डॉ सुनील दुबे

शाजापुर। भारत सरकार के विज्ञान एवं स्वास्थ्य जागरूकता वर्ष 2021 अंतर्गत शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय शाजापुर द्वारा ओजोन संरक्षण दिवस के अवसर पर ऑनलाइन वेबिनार आयोजित किया गया।बवेबिनार में अंतर्राष्ट्रीय प्रकृति संरक्षण संघ (आई.यू.सी.एन.) के सदस्य डॉ सुनील दुबे, राज्य समन्वयक साइंस सेंटर मध्यप्रदेश भोपाल राज्य समन्वयक संध्या वर्मा, क्षेत्रीय समन्वयक ओम प्रकाश पाटीदार तथा संतोष कुमार मिश्रा ने प्रतिभागियों को संबोधित Read More »

अन्तर्राष्ट्रीय और राष्ट्रीय प्रतियोगिता में सम्मानित हुए कवि ज्वलंत

शाजापुर। जिले के लेखक, कवि, साहित्यकार एवं संस्कृति को समर्पित साहित्य घराना आरा बिहार के संरक्षक जितेन्द्र देवतवाल ज्वलंत को राष्ट्रीय श्रेया क्लब द्वारा स्वतंत्रता दिवस के हीरक जयंती वर्ष के उपलक्ष्य में आयोजित कविता लेखन प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त करने पर सम्मानित किया गया। Read More »

| कोरोना आजकल ||

| कोरोना आजकल || ——————————————————— साथ साथ चले कोरोना आजकल। भाई ! मुह पर मास्क लगाकर चल।। चारो तरफ कोरोना लहर अविचल। पुर्वांचल से लेकर तक पश्चिमांचल।। दक्षिण से लहर हो सकती हिमाचल। हे वैक्सीन मास्क दूरी ही प्रबल हल।। हे सांसों में जहरीली हवा रही मचल। ये बदन में न समा जाए रहो चंचल।। जीव आवास बनाया कंक्रीट जंगल। बगिया में खोली है होटल रत्नाचल।। अब कैसे उमड़ेंगे सौरभ के बादल। बजाओ पर्यावरण संरक्षा का बिगुल। मरे चूहे पे मानवी कौए की हलचल। आज न संभले तो क्या होगा कल। हर मोसम कोरोना संक्रमण सचल। हाथों में क्रांति का ध्वज लेके चल।। कुदरत के साथ किया मानव ने छल। भाई !  मुह पर मास्क लगाकर चल।।                        °°° ——————————————————— रचानाकार के पत्र व्यवहार का पता – – जितेन्द्र देवतवाल ‘ज्वलंत’ निवास : 174/2, वन्देमातरम, आदर्श कालोनी हनुमान मंदिर के पास, शाजापुर- 465 001 [मध्य प्रदेश] ———————————————————  सम्पर्क मोबाइल : 91794 82452 ——————————————————— Read More »

चिकित्सकीय कोर्स को लेकर बैठक आयोजित

शाजापुर। अटल बिहारी वाजपेयी हिंदी विश्वविद्यालय आयुष्मान संजीवनी बहुउद्देशीय जन कल्याण समिति की बैठक अध्ययन केन्द्र 315 पर आयोजित की गई। प्रदेश अध्यक्ष डॉ अभिमन्युसिंह की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में अटल बिहारी बाजपेयी हिंदी विश्वविद्यालय द्वारा चलाए गए चिकित्सकीय कोर्स के संबंध में सम्पूर्ण जानकारी दी गई। इस दौरान मौजूद विद्यार्थियों को वैकल्पिक चिकित्सा, आधारभूत चिकित्सा सहित अन्य स्वास्थ्य सेवाओं के बारे में Read More »

प्रथम शहीद कोरोना योद्धा : कबरसिंग

कुछ वर्ष पुर्व की बात हैं मुझे बाग जाना था। सोचा बाग कोई उद्यान होगा पर पहुचा तो पता चला ये एक कसबा है। जहाँ आदिवासी संस्कृति अपने प्राकृतिक रूप से फल फूल रही है। बात उन दिनों की है जब बरसात का मौसम था। हम जिस क्वाटर में बसे थे वह अंग्रेजो के काल में बना पुलिसिया थाने का एक भाग था। उसमें पानी भी जगह जगह से टपकता था और प्लस्तर भी। Read More »

क्या पेंशन में कटोतरा होना चाहिए विधायक सांसदों के

हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार ने जो बात आज कही है वह बात आम जनता में काफी समय से चलीआ रही है। हिमाचल प्रदेश के भाजपा नेता शांता कुमार का कहना है कि सांसदों एवं विधायकों को वर्तमान में जो वेतन और पेंशन सुविधाएं दी जा रही है वह नहीं दी जाना चाहिए एवं उसमें कटोतरा होना चाहिए।आज देश के हर दिन करोड़ों लोग भूखे पेट सोते हैं उन्हें अगले दिन का यह पता नहीं होता है कि उन्हें काम मिलेगा या नहीं मिलेगा Read More »

मानसून सत्र  शुरू -लोकसभा में भाजपा भारी बहुमत में है

महंगाई आज सातवें आसमान पर है मुद्रा स्फीति का आंकड़ा आज बढता  ही जा रहा है एवं यह बड़ा चिंता का विषय है संसद का मानसून सत्र  शुरू हो गया है लेकिन इस बार जब सत्र प्रारंभ हो रहा है तब सरकार कुछ करके दिखाना चाहती है परंतु विपक्ष आज भी बहिष्कार के मूड में है आज जब लोकसभा में मंत्रिमंडल से जुड़े नए सदस्यों का परिचय कराया जा रहा था तब विपक्ष ने संसद में बहिष्कार किया एवं हंगामा जारी रखा तथा मंत्रियों का परिचय नहीं होने दिया। लोकसभा में भाजपा भारी बहुमत में है एवं अब राज्यसभा में भी उसकी स्थिति काफी मजबूत हो गई है। Read More »

पैगंबर हजरत इब्राहिम अलैहिस्सलाम का अल्लाह के प्रति समर्पण —ईद उल अजहा   

ईद उल अजहा के पीछे पैगंबर हजरत इब्राहिम अलैहिस्सलाम का वह जज्बा है जो अल्लाह की मर्जी से अपने बेटे की कुर्बानी देने तक से नहीं  हिचकता ईद उल अजहा के जरिए अल्लाह इस्लाम के मानने वालों को न्याय कुर्बानी त्याग व हमदर्दी के साथ सच्चाई के सहारे तरक्की के रास्ते पर चलने का हुकुम देते हैं            Read More »