Wed 18 05 2022
Home / Breaking News / भ्रूण हत्या रोकने के लिए समाज का जागरूक होना बेहद जरूरी-न्यायाधीश
भ्रूण हत्या रोकने के लिए समाज का जागरूक होना बेहद जरूरी-न्यायाधीश

भ्रूण हत्या रोकने के लिए समाज का जागरूक होना बेहद जरूरी-न्यायाधीश

शाजापुर। आजादी का अमृत महोत्सव के तहत विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा जिले में चलाए जा रहे जागरूकता अभियान के तहत बुधवार को प्रधान जिला न्यायाधीश सुरेंद्रकुमार श्रीवास्तव के मार्गदर्शन में ग्राम पचोला बनहल में विधिक साक्षरता जगरूकता शिविर का आयोजन किया गया। इस मौके पर प्राधिकरण के सचिव एवं अपर जिला जज राजेन्द्र देवड़ा ने कन्या भ्रूण हत्या एवं बाल विवाह बंद करने पर बल दिया। उन्होने कहा कि कन्या भ्रूण हत्या की मुख्य वजह बालिका शिशु पर बालक शिशु की प्राथमिकता है, क्योंकि पुत्र आय का मुख्य स्त्रोत होता है, जबकि लड़कियां केवल उपभोक्ता के रुप में होती हैं। समाज में ये गलतफहमी है कि लडक़े अपने अभिवावक की सेवा करते हैं, जबकि लड़कियां पराया धन होती हैं।  उन्होने कहा कि इस गलत सोच को बदलना होगा और बेटियों की भू्रण में ही हत्या करने को रोकने के लिए जागरूक होना होगा। उन्होने कहा कि आज बेटियां विभिन्न पदों पर बेटों के साथ कांधे से कांधा मिलाकर कार्य कर रही हैं, लेकिन आज भी देश में कई जगह बेटियों को बेटों से कम माना जाता है। न्यायाधीश देवड़ा ने कहा कि बेटियों को बेटों की तरह ही शिक्षित किया जाए। बेटियां शिक्षित होंगी तो समाज शिक्षित होगा। न्यायाधीश ने समाज में व्याप्त कुरीतियों पर ध्यान आकर्षित करते हुए इनके दुष्परिणामों के प्रति जागरूक रहकर इनके खात्मे के लिए सामूहिक प्रयास करने पर जोर दिया। वहीं न्यायाधीश सुश्री हर्षिता सिंगार ने कहा कि शिक्षा हमारा अधिकार है और हमें इसे प्राप्त करना चाहिए। शासन की ओर से नि:शुल्क शिक्षा व्यवस्था कर हमें पढ़ाया जा रहा है। हम सबको शिक्षा अध्ययन करना चाहिए। उन्होने कहा कि शिक्षा को महत्व न देने के कारण बहुत से लोग पढ़ नहीं पाए। उन्होने कहा कि जिन बच्चों का स्कूल में नाम नहीं लिखा है वह स्कूल में नाम लिखवाएं। उन्होने महिलाओं एवं बच्चों को नि:शुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009,  मूल अधिकार, महिला अधिकार, बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान, बाल विवाह से होने वाले दुष्परिणाम आदि के बारे में बताया। इस अवसर पर महिलाएं और बालिकाएं मौजूद थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*