Thu 06 08 2020
Home / Breaking News / बारिश की खेंच से सोयाबीन पर मंडराने लगा इल्लियों का प्रकोप
बारिश की खेंच से सोयाबीन पर मंडराने लगा इल्लियों का प्रकोप

बारिश की खेंच से सोयाबीन पर मंडराने लगा इल्लियों का प्रकोप

शाजापुर। खरीफ की फसल को अब तेज बारिश की दरकार है, क्योंकि बारिश की खेंच के कारण फसलों में इल्लियों का प्रकोप भी बढ़ गया है और किसान चिंतित हो उठे हैं। पर्याप्त बारिश नही होने से खेतों में सोयाबीन के पौधों में इल्ली सहित अन्य कीटों की शिकायत शुरू हो गई है। वहीं किसानों का कहना है कि वे फिलहाल इल्लियों की रोकथाम के लिए दवाई का छिडक़ाव भी नही कर सकते, क्योंकि यदि ऐसा करते हैं तो दवाई की गर्मी से फसल को नुकसान का ज्यादा अंदेशा है। उल्लेखनीय है कि बीते कई दिनों से आसमान पर काले बादलों की आवाजाही बनी हुई है और यह बादल गतदिनों करीब आधा घंटा बरसे भी, लेकिन कई गांवों में बादल बिना बरसे ही चले गए जिससे सोयाबीन की फसल पर इल्ली का प्रकोप बढ़ गया है और किसान उत्पादन को लेकर चिंता में नजर आने लगे हैं। मंगलाज के किसानों ने बताया कि खेतों में इस समय सोयाबीन की फसल पर इल्ली तेजी से लगना शुरू हो गई हैै और ये इल्ली सोयाबीन को नुकसान पहुंचा रही है। किसानों की मानें तो लंबे समय से तेज और मूसलाधार बारिश नहीं होने तथा बादल छाए रहने के कारण सोयाबीन फसल पर इल्ली का प्रकोप बढ़ा है। किसानों ने बताया कि यदि जल्द ही तेज बारिश नही हुई तो फसल के उत्पादन पर इसका सीधा असर पड़ेगा।
फसलों पर इल्ली नाशक दवाई का नही कर पा रहे छिडक़ाव
पर्याप्त बारिश नही होने की वजह से इस वर्ष सोयाबीन पर इल्ली के रूप में संकट के बादल मंडराने लगे हैं। ग्राम मंगलाज के किसान इमरान कुरैशी ने बताया कि सोयाबीन फसल को बारिश के पानी की जरूरत है। पूर्व में फसल में चारा मारने की दवाई का छिडक़ाव किया गया था, लेकिन अब फसल पर इल्ली का संकट मंडा रहा है। कुरैशी ने बताया कि तेज बारिश नही होने की वजह से इल्ली नाशक दवाई का छिडक़ाव भी नही किया जा सकता, क्योंकि यदि दवाई छिडक़ाव के बाद बारिश नही हुई तो फसल के पीले पडऩे की संभावना है। फिलहाल किसान तेज बारिश के लिए कामना कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*