Sun 01 11 2020
Home / Breaking News / बैंक खुले आम उपभोक्ताओं को लूट रही है -शर्मा
बैंक खुले आम उपभोक्ताओं को लूट रही है -शर्मा

बैंक खुले आम उपभोक्ताओं को लूट रही है -शर्मा

कालापीपल-तहसील के ग्राम टीलियाखेड़ी निवासी रमेशचंद्र शर्मा द्वारा जिला उपभोक्ता फोरम में एसबीआई बैंक शुजालपुर के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई गई थी। उनके द्वारा ए टी एम से निकाले पैसे का पासबुक में गलत इंद्राज किया गया है साथ ही खाते से 10 हजार रुपए काट लिए गए है जो लौटाए नही जा रहे है। उपभोक्ता फोरम द्वारा शिकायतकर्ता के पक्ष में फैसला दिया गया। जिसके बावजूद 5 माह बीत जाने पर भी उपभोक्ता को राशि नहीं दी गई।

ग्राम टीलियाखेड़ी के रमेशचंद्र शर्मा ने बताया भारतीय स्टेट बैंक शाखा शुजालपुर मंडी में सेविंग बैंक अकाउंट खुला हुआ है जिसके द्वारा जारी एटीएम कार्ड से कालापीपल बस स्टैंड पर स्थित एटीएम मशीन से 15 जून 2016 को तीन बार दस दस हजार रूपर निकालें थे वहीं चौथी बार प्रयास करने पर पैसे नहीं निकले, लेकिन मशीन में बैलेंस चेक करने पर उनके अकाउंट से कुल 40 हजार रुपए कटना बताया गया। इसकी जानकारी उन्होंने एटीएम कर्मचारी बेरागी को मौके पर दी गई, कर्मचारी ने 48 घंटे के अंदर 10 हजार वापस आने की बात कही गई। लेकिन जब राशि उनके खाते में नहीं आई इसकी शिकायत उन्होंने बैंक के कार्यालय पर जाकर की। जहां पर बैंक मैनेजर द्वारा एटीएम प्रभारी गुप्ता के पास उन्हें भेजा गया। शर्मा ने बताया लगभग 9 महीने तक एटीएम प्रभारी गुप्ता उन्हें चक्कर लगवाते रहे और राशि आ जाएगी का कहते रहे। लेकिन बाद में उन्होंने पूरी तरह मना कर दिया कि राशि उनके खाते में अब नहीं आएगी। जिसके बाद शर्मा द्वारा पांच बार बैंकिंग लोकपाल रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया भोपाल, तीन बार रीजनल ऑफिसर, मानव अधिकार आयोग में कई बार आवेदन दिए गए, लेकिन उनकी सुनवाई नहीं हुई। जिसके बाद शर्मा द्वारा 29 नवंबर 2018 को उपभोक्ता फोरम में केस दर्ज कराया। जिस पर उपभोक्ता फोरम ने 26 जून 2019 को 1 माह की अवधि में आवेदक को 10 हजार की राशि 6% ब्याज की दर से अदा करने को कहा गया इसके साथ ही इस अवधि में बैंक राशि नहीं लौटाती है तो 9% वार्षिक की दर से ब्याज का भुगतान करना होगा, इसके साथ ही आवेदक को परिवाद व्यय 2 हजार भी अदा करने को कहा गया। लेकिन 5 माह बीत जाने के बावजूद बैंक द्वारा रमेशचंद्र शर्मा को राशि नहीं लौटाई गई। अब भी वह 181 पर इसकी शिकायत कर चुके हैं जिसका 23 बार अपडेट होने के बावजूद वहां से भी उनकी सुनवाई नहीं हो पा रही है। शर्मा ने कहा बैंक खुलेआम उपभोक्ताओं को लूट रही है। अभी वह बैंक गए थे उस समय बैंक मैनेजर ने उनसे कहा हम फंस चुके हैं हमारे द्वारा सीसीटीवी फुटेज चेक नहीं कराए गए। लेकिन ट्रांजैक्शन सक्सेसफुल दिखाने के कारण हम आपको पेमेंट नहीं दे सकते, चाहे उपभोक्ता फोरम का आदेश हो हम इस तरह के किसी भी आदेश को नहीं मानते है। अब दोबारा राशि रिकवरी के लिए उपभोक्ता फोरम में आवेदन दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*