Fri 03 12 2021
Home / Breaking News / खरीफ फसल बीमा की राशि नही मिलने पर किसानों ने बैंक परिसर में दिया धरना
खरीफ फसल बीमा की राशि नही मिलने पर किसानों ने बैंक परिसर में दिया धरना

खरीफ फसल बीमा की राशि नही मिलने पर किसानों ने बैंक परिसर में दिया धरना

एक सप्ताह में राशि नही मिलने पर दी चक्का जाम की चेतावनी
शाजापुर। बीमा कंपनी और बैंक के अधिकारियों द्वारा फसल बीमा राशि देने में बरती जा रही लापरवाही से नाराज होकर किसानों ने सीसीबी बैंक परिसर में नारेबाजी करते हुए धरना प्रदर्र्शन शुरू कर दिया। किसानों का आरोप है कि अधिकारी फसल बीमा राशि देने की बजाय एक-दूसरे के सिर ठिकड़ा फोड़ किसानों को चक्कर लगवा रहे हैं। गुरुवार को ग्राम खामखेड़ा और बुड़लाय के दर्जनों किसान शाजापुर टंकी चौराहा स्थित सीसीबी बैंक पहुंचे और खरीफ फसल बीमा 2019 की राशि दिए जाने की मांग की, लेकिन बैंक अधिकारियों ने हर बार की तरह किसानों को यह कहकर चलता कर दिया कि बीमा कंपनी ने राशि नही दी है, जिससे नाराज होकर किसान नारेबाजी करते हुए बैंक परिसर में धरने पर जा बैठे। प्रदर्शन कर रहे किसानों ने बताया कि उन्हे 2019 खरीफ फसल बीमा की राशि का अब तक भुगतान नही किया गया है। बैंक अधिकारियों के पास जाते हैं तो वे कहते हैं बीमा कंपनी ने राशि नही दी है, और बीमा कंपनी के पास जाते हैं तो वहां के जिम्मेदार बैंक खाते में राशि जमा किए जाने का दावा करते हैं। बैंक अधिकारी और बीमा कंपनी की मिलीभगत से सैकड़ों किसान चार माह से बैंक के चक्कर लगा रहे हैं, किंतु उनकी कोई सुनवाई नही की जा रही है। किसानों को आक्रोशित देख बैंक अधिकारियों ने एक सप्ताह में भुगतान किए जाने का आश्वासन देकर मामला शांत कराया।
राशि नही मिलने पर करेंगे चक्का जाम
खरीफ फसल बीमा राशि के लिए विगत चार माह से बैंक के चक्कर लगा रहे किसानों ने धरना आंदोलन करते हुए जिम्मेदारों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। किसानों का आक्रोश देखकर बैंक के अधिकारियों ने एक सप्ताह में समस्या के समाधान का आश्वासन दिया। किसानों का कहना है कि इस बार बैंक अधिकारियों को एक सप्ताह का समय दिया गया है, इसके बाद वे बीमा राशि देने में आनाकानी करते हैं तो चक्का जाम किया जाएगा जिसकी जिम्मेदारी प्रशासन की रहेगी। इस दौरान लखनसिंह राजपूत, मुकेश पाटीदार, खामसिंह परमार, सवाईसिंह सिसोदिया, जुझारसिंह परमार, भागीरथसिंह तोमर सहित किसान मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*