Wed 18 05 2022
Home / Breaking News / जिला सडक़ सुरक्षा समिति की बैठक में कलेक्टर ने कहा, सडक़ों पर से हटवाएं आवारा मवेशी
जिला सडक़ सुरक्षा समिति की बैठक में कलेक्टर ने कहा, सडक़ों पर से हटवाएं आवारा मवेशी

जिला सडक़ सुरक्षा समिति की बैठक में कलेक्टर ने कहा, सडक़ों पर से हटवाएं आवारा मवेशी

शाजापुर। सडक़ों से आवारा मवेशी को हटवाएं। उक्त निर्देश कलेक्टर दिनेश जैन ने गत दिवस जिला सडक़ सुरक्षा समिति की बैठक में संबंधित अधिकारियों को दिए। कलेक्टर ने बैठक में निर्देश दिए कि एनएचएआई सडक़ों से आवारा मवेशी को हटाने के लिए प्रबंध करें। साथ ही नेशनल हाईवे पर लोगों ने अपनी सुविधानुसार सडक़ बीच से तोडक़र रास्ता बना लिया है, इस कारण दुर्घटनाएं बढ़ रही हैं। इन रास्तों को तत्काल बंद कराएं। सडक़ों के किनारे वाली ग्राम पंचायतों के सरपंचों की बैठक लेकर उन्हें मनरेगा से 4-5 व्यक्तियों को रखकर के टीम बनवाएं। टीम नियमित रूप से सडक़ों से जानवरों को हटाएं। एनएचएआई दुर्घटना संभावित स्थानों पर धीमी गति से चलने एवं हेलमेट का उपयोग करने संबंधी साईनबोर्ड लगाएं।
कलेक्टर ने नगरपालिका सीएमओ को निर्देश दिए कि शहरी क्षेत्रों में भी सडक़ों पर आवारा मवेशियों के कारण दुर्घटनाएं हो रही हंै। आवारा मवेशियों को सडक़ों पर बैठने नहीं दें। इन्हें हटाने के लिए टीम गठित कर उनकी ड्यूटी लगाएं। सडक़ों के फुटपाथ से अतिक्रमण हटाएं। जिला परिवहन अधिकारी नगरपालिका के सीएमओ, पुलिस, राजस्व विभाग के अधिकारियों का दल बनाकर प्रतिमाह 4 से 5 सडक़ का रोड सेफ्टी ऑडिट कराएं। सडक़ सुरक्षा जागरूकता के लिए विद्यालयों एवं महाविद्यालयों में कैम्प आयोजित कर सुरक्षा उपाय की जानकारी दें। परिवहन अधिकारी अनफिट वाहनों पर कार्रवाई करें। यातायात पुलिस ब्रिथ एनॉलाईजर से शराब पीकर ड्राईविंग करने वालों की जांच करें तथा शराब पीकर वाहन चलाने, बिना हेलमेट, सीटबेल्ट लगाए बिना वाहन चलाने वालों पर कार्रवाई करें।
अन्य विषयों पर भी हुई चर्चा
इस मौके पर जिले में सडक़ सुरक्षा क्रिया-कलापों की निगरानी, सडक़ दुर्घटनाओं के आंकड़ों की निगरानी, सडक़ दुर्घटनाओं के कारणों को पहचानना और उसका अध्ययन करना, राष्ट्रीय राज्य की सडक़ सुरक्षा परिषद को सुझाव प्रदान करने, प्रोटोकाल के अनुसार ब्लेक स्पोट की पहचान, सुधार से संबंधित कार्य की समीक्षा और निगरानी, सभी सडक़ इंजीनियरिंग उपाय, सडक़ सुरक्षा मानकों का क्रियान्वयन सुनिश्चित करने, दुर्घटना/घातकता में कमी लाने के लिए विशिष्ट लक्ष्यों के साथ जिले के लिए सडक़ सुरक्षा कार्य योजना तैयार करने, उसकेे क्रियान्वयन, शिक्षा, प्रवर्तन, आपातकालीन देखभाल और इंजीनियरिंग के क्रियान्वयन पर चर्चा सहित अन्य मुद्दों पर भी चर्चा की गई। इस मौके पर पुलिस अधीक्षक पंकज श्रीवास्तव, अपर कलेक्टर मंजूषा राय, अनुविभागीय अधिकारी शैली कनाश, एसडीओपी दीपा डोडवे, जिला परिवहन अधिकारी एपी श्रीवास्तव, एनएचएआई उपप्रबंधक सुश्री नेहा कुशवाह, यातायात पुलिस निरीक्षक सत्येन्द्रसिंह भी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*