Sun 20 09 2020
Home / Breaking News / अरनिया कलां में चौपाल लगाकर कलेक्टर एवं एसपी ने सुनी आमजन की समस्याएं 
अरनिया कलां में चौपाल लगाकर कलेक्टर एवं एसपी ने सुनी आमजन की समस्याएं 

अरनिया कलां में चौपाल लगाकर कलेक्टर एवं एसपी ने सुनी आमजन की समस्याएं 

शाजापुर, ग्राम अरनिया कलां में गत दिवस कलेक्टर श्री श्रीकांत बनोठ एवं पुलिस अधीक्षक श्री शैलेन्द्र सिंह चौहान ने चौपाल लगाकर आमजनों की समस्याएं सुनी और तत्काल निराकरण करने की बात कही। ग्राम अरनिया कलां हड़लई, पंचदेहरिया आदि ग्रामों के भी ग्रामीण आएं थे। 
कलेक्टर श्री बनोठ ने संबोधित करते हुए कहा कि जिन व्यक्तियों का असंगठित श्रमिक के रूप में पंजीयन नहीं हुआ है, और वे पात्रता रखते हो तो ग्राम पंचायत में जाकर अपना पंजीयन करांए। इस अवसर पर कलेक्टर ने आमजनों से शासकीय उचित मूल्य की दुकान के खुलने, दुकान से सभी पात्रों को राशन मिलने, पेयजल आदि के बारे में जानकारी प्राप्त की। कलेक्टर ने कहा कि ग्रामीणों की समस्याओं का तत्काल समाधान किया जाएगा। 

इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक श्री चौहान ने संबोधित करते हुए कहा कि ग्रामीणजन जागरूक एवं सजग रहें। किसी भी व्यक्ति को परिवार, एटीएम, बैंक खाते आदि की जानकारी न दे। मोबाईल से यदि कोई व्यक्ति बैंक खाते या पासवर्ड के बारे में जानकारी प्राप्त करने की कोशिश कर रहा हो तो उसे किसी भी प्रकार की जानकारी न दें। कोई भी बैंक खाते या एटीएम के संबंध में दूरभाष या मोबाईल पर जानकारी प्राप्त नहीं करती है। किसी अजनबी व्यक्ति के ग्राम में दिखने पर ग्रामरक्षा समिति या निकटतम् पुलिस स्टेशन को सूचित करें। गांव में कोई व्यक्ति अवैध कृत्य कर रहा हो तो इसकी सूचना भी चौकिदार एवं बीट प्रभारी को दें। किसी के झांसे में न आएं। उन्होने कहा कि ग्रामीणजन सड़क सुरक्षा नियमों का पालन करें। नियमों के पालन से सुरक्षित यात्रा होगी। उन्होने कहा कि कई ऐसे प्रकरण हुए है, जिनमे नियमों के पालन नहीं करने के कारण काफी नुकसान और जनधन की हानि हुई है। युवाओं को समझांये कि वे हेलमेट लगाकर ही दोपहियां वाहन चलायें। उन्होने कहा कि किसान अन्नदाता है इसलिये किसानों की समस्याओं का निराकरण प्राथमिकता के आधार पर किया जाएगा। उन्होने सभी से कहा सोशल मीडिया पर कुछ लोगो द्वारा भड़काने के लिये उलूल-जुलूल पोस्ट डाली जाती है। किसान वास्तविकता को समझे, तथ्यों को जाने, किसी पोस्ट से उद्वेलित न हो।  
इस अवसर पर कलेक्टर श्री बनोठ से किसानों ने अनुरोध किया कि उपज बेचने के उपरांत उन्हे राशि का भुगतान नगद रूप से किया जाये। कुछ किसानों ने बताया कि उन्हे सूखा राहत का मुआवजा नहीं मिला है। कलेक्टर ने बताया कि शासन से मांगी गई राशि की तुलना में कम राशि प्राप्त हुई है, इसलिये कुछ किसान छूट गयें है उन्हे भी शीघ्र ही मुआवजा प्रदान किया जायेगा। किसानों ने बताया कि केसीसी पर विलम्ब होने पर बैंक पेनल्टी लगाती है, इसी तरह बैंक यदि भुगतान में विलम्ब करता है तो उसपर भी पेनल्टी लगना चाहिये। किसानों ने कहा कि बीमा कंपनियों की शर्ते अंग्रेजी में होती है उसे हिन्दी में होना चाहिये, साथ ही कंपनियों की शर्ते प्रत्येक बैंक में लगाई जाना चाहिये। इस मौके पर गांव के दिव्यांग सुरेश नेहरू ने ट्राईसिकल प्राप्त नहीं होने की शिकायत की, कलेक्टर ने तत्काल सुरेश के लिये ट्राईसिकल स्वीकृत करने हेतु सामाजिक न्याय विभाग के अधिकारी को दुरभाष पर निर्देश दिये। ग्राम के सरपंच ने अवगत कराया कि सड़क खराब होने की वजह से किसानों को फसलों के लाने में दिक्कत हो रही है, सड़क के चौड़ीकरण एवं पुल निर्माण की आवश्यकता है। वर्षाकाल में गांव में नदी का पानी भर जाता है इसके लिये स्थायी उपाय की जरूरत है। गांव के जितेन्द्र मालवीय ने बताया कि उसकी दादी को वृद्धावस्था पेंशन नहीं मिल रही है। गांव के ही देवकरण, राजूनाथ, राजेश बैरागी, गीताबाई ने बीपीएल सूची में नाम जोड़ने, रमेश जुगल किशोर खत्री ने भावांतर योजना की राशि नहीं मिलने, ग्राम के निवासियों ने नाला गहरीकरण, नदी पर पुल बनाने, अतिक्रमरण हटाने, साबीर खां ने सीमांकन कराने, मोहनलाल ने मुआवजा नही मिलने, देवकरण ने निजी तौर पर लिये गये ट्रांसफार्मर में विद्युत विभाग द्वारा पुराने एवं टूटे पोल लगाने सहित अन्य व्यक्तियों ने विभिन्न प्रकार की समस्याओं के आवेदन भी दिये।