Mon 17 02 2020
Home / Breaking News / आकाशीय बिजली गिरने से एक की मौत, आसमान से बरसी बूंदों ने किया मंडी में अनाज गीला
आकाशीय बिजली गिरने से एक की मौत, आसमान से बरसी बूंदों ने किया मंडी में अनाज गीला

आकाशीय बिजली गिरने से एक की मौत, आसमान से बरसी बूंदों ने किया मंडी में अनाज गीला

शाजापुर। विगत कई दिनों से भीषण गर्मी की तपीश झेलकर हलाकान हो रहे लोगों को आखिरकार मंगलवार दोपहर को सुकून मिल गया और आसमान पर छाई काली घटाओं ने करीब पंद्रह मिनट तक तेज बूंदों के साथ बरस कर पूरे मौसम को खुशनुमा बना दिया। आसमान से राहत के रूप में बरसी बंूदों ने किसानों और मंडी समिति के लिए परेशानी भी खड़ी कर दी और प्री मानसून की इस बारिश से मंडी परिसर में रखा हजारों क्विंटल गेहूं गीला हो गया। उल्लेखनीय है कि मार्च माह से ही गर्मी पूरी प्रचंडता के साथ लोगों को बेहाल करने का काम कर रही है

और दिनभर चल रही गर्म हवाएं बदन को झुलास रहीं हैं, लेकिन मंगलवार दोपहर करीब 2.30 आसमान पर काले बादलों ने पहरा जमा लिया और यह घटाएं करीब 3 बजे तेज बूंदों के साथ झमाझम बरस पड़ीं। करीब पंद्रह मिनट तक हुई तेज बारिश के चलते ठंडी हवाएं सरसराने लगीं और गर्मी पूरी तरह से काफूर हो गई। वहीं कृषि उपज मंडी में रखा हजारों क्विंटल गेहूं, सोयाबीन, रायड़ा आदि की उपज भीग गई। व्यापारियों ने बताया कि मंडी में तुलाई के लिए पर्याप्त शेड नही होने की वजह से खुले में खरीदी करनी पड़ रही है। ऐसे में दोपहर को हुई बारिश के कारण किसानों और व्यापारियों का अनाज गीला हो गया।
किसान के साथ व्यापारी भी परेशान
मंगलवार दोपहर हुई बारिश की वजह से मंडी में रखे गेेहंू के साथ ही सोयाबीन और चने की फसल भी गीली हो गई और किसानों के साथ व्यापारी भी परेशान दिखाई दिए। तेज बारिश के कारण कई स्थानों पर पानी जमा हो गया, जिससे राहगीरों को निकलने में भी असुविधा का सामना करना पड़ा। मंडी में फसल को पानी से बचाने के लिए किसान और व्यापारियों ने जतन भी किए, लेकिन इसके बाद भी वे अपनी उपज को गीला होने से नही बचा पाए। व्यापारियों ने मंडी में व्याप्त अव्यवस्थाओं पर नाराजगी जाहिर की है। व्यापारियों का कहना है कि प्रशासन से लंबे समय से अनाज तुलाई के लिए सुरक्षित स्थान निर्धारित किए जाने की मांग की जा रही है, परंतु इस बाबत अभी तक कोई सुनवाई नही की गई है जिसके चलते अचानक होने वाली वर्षा से हर साल नुकसान उठाना पड़ता है।
आकाशीय बिजली गिरने से मौत
मंगलवार दोपहर को हुई तेज बारिश ने जहां लोगों को गर्मी से निजात दिलाने का काम किया तो वहीं कई स्थानों पर परेशानी भी खड़ी कर दी। प्री-मानसून की पहली बारिश में ही आसमान से गिरी बिजली एक व्यक्ति की जिंदगी लील गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार पीरखेड़ी निवासी रणजीतसिंह पिता अमरसिंह 45 वर्ष अपने खेत पर काम कर रहा था तभी आकाशीय बिजली गिर गई। घायल अवस्था में परिजन उसे उपचार के लिए शाजापुर जिला अस्पताल लेकर पहुंचे जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
मौसम में घुली ठंडक
भीषण गर्मी के बाद आसमान से बरसी प्री-मानसून की बारिश ने पूरे मौसम में ठंडक घोल दी और लोगों को गर्मी से राहत मिल गई। आसमान पर छाए काले बादल और उससे बरसी पानी की बूंदों ने तापमान में तेजी से गिरावट की। मौसम विशेषज्ञ सत्येंद्र धनोतिया ने बताया कि मंगलवार को हुई बारिश के कारण अधिकतम तापमान लुढक़ कर 36.4 डिग्री पर जा पहुंचा, जबकि न्यूनतम तापमान 21.8 डिग्री रहा। वहीं 8 मिमी बारिश दर्ज की गई। फिलहाल तापमान स्थित रहने की संभावना है।