Sun 15 05 2022
Home / Breaking News / न्यायालय ने दिए 27 लाख क्षतिपूर्ति राशि देने के आदेश
न्यायालय ने दिए 27 लाख क्षतिपूर्ति राशि देने के आदेश

न्यायालय ने दिए 27 लाख क्षतिपूर्ति राशि देने के आदेश

शाजापुर। तृतीय एमएसीटी ब्रजेश गोयल द्वारा पंचायत सहायक सचिव की मृत्यु एवं पुत्र के घायल तथा उनके भाई के पुत्र की मृत्यु होने पर कार चालक को दोषी माना और बीमा कंपनी को 27 लाख से अधिक क्षतिपूर्ति राशि देने के निर्देश दिए हैं।
एडवोकेट अनंदीलाल पाटीदार ने बताया कि 22 दिसंबर 2018 को अमृतलाल मेवाड़ा अपनी पत्नी सोदराबाई, पुत्र सचिन और अपने भाई के पुत्र रीतेश उर्फ अंशु को मोटर साइकिल पर बैठाकर अपने गांव कमरदीपुर आ रहे थे। शाम करीब 4 बजे जब ये लोग कमरदीपुर जोड़ पहुंचे तो पीछे से सारंगपुर की ओर से आ रही कार क्रमांक एमपी 42 सी-6169 के चालक ने वाहन तेज गति व लापरवाहीपूर्वक चलाते हुए मोटर साइकिल को पीछे से टक्कर मार दी। इस हादसे में अमृतलाल और पीछे बैठी उनकी पत्नी सोदराबाई और दोनों बच्चे गंभीर रूप सेे घायल हो गए। इलाज के दौरान अमृतलाल और उनके भाई के बेटे रीतेश उर्फ अंशु की मृत्यु हो गई। हादसे के बाद अमृतलाल मेवाड़ा और रीतेश के वैधानिक उत्तराधिकारी और पुत्र सचिन मेवाड़ा ने वाहन कार की बीमा कंपनी के विरूद्ध क्षतिपूर्ति हेतु याचिका प्रस्तुत की जिसमें प्रार्थी की ओर से प्रस्तुत दस्तावेज, साक्ष्य और प्रार्थी के अभिभाषक द्वारा प्रस्तुत तर्क से सहमत होकर न्यायालय द्वारा विपक्षी बीमा कंपनी को संयुक्त जिम्मेदारी मानते हुए क्षतिपूर्ति राशि 27 लाख 84 हजार 500 रू. मय ब्याज स्वीकार किए गए। प्रार्थी की ओर से एडवोकेट आनंदीलाल पाटीदार, विक्रम गिरी, सतीश राठौर, अश्विन पाटीदार ने पैरवी की।
फिर भी कार की लापरवाही मानी गई
जिस मोटर साइकिल को कार चालक ने टक्कर मारी उस मोटर साइकिल पर चार सवारी बैठी थी। लेकिन फिर भी अभिभाषक श्री पाटीदार द्वारा प्रस्तुत तर्कों, साक्ष्य व दस्तावेज से सहमत होकर न्यायालय द्वारा कार की लापरवाही मानते हुए क्षतिपूर्ति की राशि 27 लाख 84 हजार 500 रू. स्वीकृत की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*